सेहत

हेमपुष्पा पीने के चमत्कारी फायदे | Hempushpa Ke Fayde

हेमपुष्पा का नाम हम बचपन से सुनते आ रहे हैं। मासिक धर्म में हाेने वाले दर्द से निजात पाने में यह बहुत ही उपयोगी सिरप है।

Hempushpa Ke Fayde: स्त्रियों और महिलाओं को होने वाले मासिक धर्म के दर्द से निजात दिलाने में सर्वाधिक लोकप्रिय दवा हेमपुष्पा है। भारत में इसे  सच्ची सहेली के नाम से पहचाना जाता है। यह एक रामबाण दवा है। पोस्ट के जरिए हम जानेंगे कि, महिलाओं को हाेने वाले परियड के असहाय दर्द में हेमपुष्पा किस प्रकार मददगार है।

आर्टिकल में हम जानेंगे कि हेमपुष्पा क्या हैं? हेमपुष्पा के फायदे क्या हैं और नुकसान क्या हैं? हेमपुष्पा में मौजूदा सामग्री क्या हैं? इससे जुड़े महिलाओं के मन में आ रहे सवाल और उनके जवाब देंगे। कुछ लड़कियों के मन में यह भी सवाल हैं के हेमपुष्पा की कितनी बोतल पीनी चाहिए इसकी जानकारी भी आपको इस पोस्ट में विस्तार पूर्वक मिलेगी। चलिए सर्वप्रथम हम जानते हैं कि, हेमपुष्पा क्या हैं।

हेमपुष्पा एक हर्बल टॉनिक और आयुर्वेदिक औषधि हैं जिसमें विभिन्न प्रकार के हर्ब का इस्तेमाल कर बनाया गया है, यह महिलाओं को विभिन्न प्रकार के रोगों से लड़ने में मदद करती है। हेमपुष्पा स्त्रियों के गर्भाशय के लिए एक रामबाण औषधी हैं। इसमें अश्वगंधा और शतावरी जैसी जड़ी बूटियों का मिश्रण हैं।

hempushpa-ke-fayde
Hempushpa Ke Fayde

हेमपुष्पा क्या हैं? (Hempushpa in Hindi)

Table of Contents

हेमपुष्पा के कागज पैक में एक सिरप के साथ टैबलेट भी आती हैं, दोनों दवाएं सेवन के लिए हैं। यह औषधी एक आयुर्वेदिक टॉनिक हैं जो स्त्रियों के मानसिक और शारीरिक परेशानियों को दूर करने के लिए फायदेमंद हैं। इतना ही नहीं यह मानव शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने में भी लाभदायक सिरप हैं।

हेमपुष्पा का नियमित सेवन से वजन भी बढ़ता हैं इसलिए ध्यान रहें यदि आप अपना वजन अनावश्यक नहीं बढ़ाना चाहती है तो इसके सेवन करने के साथ साथ नियमित रूप से व्यायाम या योग भी करें, ताकि आपका वैट मैन्टैन रहे।

Hempushpa लड़कियों के लिए मुख्य रूप मासिक क्रिया को स्वस्थ रखने में फायदेमंद हैं जिसके बारे में आर्टिकल में हमारे द्वारा नीचे की ओर विस्तार पूर्वक समझाया जा रहा हैं।

हेमपुष्पा के फायदे क्या है? (Hempushpa Ke Fayde in Hindi)

मासिक धर्म रेगुलर करें

महिलाओं के मासिक धर्म अनियमित होने के कारण उन्हें मानसिक चिंता से गुजरना पड़ता हैं। चिंता के साथ उन्हें दर्द से भी जूझना पड़ता है। देखने में आता हैं कि, कई बार अनियमित मासिक आने के कारण लड़कियों के शरीर में खून की भी कमी होने लगती हैं।

इसके पीछे का कारण है कि, हमारा शुद्ध खून अनियमित होने के कारण शरीर में बनता ही नहीं है। लेकिन इस परेशानी से बचने के लिए ही खास तौर से hempushpa tonic को बनाया गया हैं।

मासिक धर्म में होने वाले पेट दर्द में भी हेमपुष्पा हैं फायदेमंद

यह सिरप कांटे के समान होने वाले पेट दर्द की समस्या में आराम देने वाली रामबाण औषधी हैं, यह शरीर से निकलने वाले ब्लड को नियमित करती है।

हेमपुष्पा टॉनिक पीने से क्या लाभ होते हैं? (Hempushpa Benefits in Hindi

हेमपुष्पा सिरप का सेवन से मासिक धर्म अपने साइकल यानी समयानुसार चलने लगता हैं। पीरियड के दौरान होने वाले दर्द में आराम मिलता है। खून की कमी से हो रहे दुबलापन को दूर करता है। यह महिलाओं के वजन बढ़ाने में सहायता करता है।

यह एक टॉनिक के रूप में काम करने वाली औषधि हैं जो इम्यूनिटी भी बूस्ट करती हैं। इसे एक प्रकार का सप्लीमेंट कहा जा सकता है। हेमपुष्पा सिरप और टैबलेट थकावट दूर करने में और गुर्दे को साफ रखने भी फायदेमंद हैं। पेट में एंठन और हिमोग्लोबिन की कमी दूर करने में भी यह सिरप लाभदायक हैं।

हेमपुष्पा के अन्य फायदे (Hempushpa tonic uses in hindi)

  • मानसिक और शारीरिक समस्या में फायदेमंद
  • मूड खुशनुमा रखने में मददगार
  • अन्य रोगों के प्रति सुरक्षा प्रदान करें
  • पेशाब की समस्या में फायदेमंद
  • कमर दर्द में फायदेमंद
  • पीरियड में होने वाले पेट दर्द में फायदेमंद
  • नालों के दर्द में फायदेमंद
  • हथेली और तलवों के दर्द में फायदेमंद
  • खून साफ करने और सौन्दर्य निखारने मे फायदेमंद

हेमपुष्पा के दुष्प्रभाव क्या हैं? Hempsuhpa Side effects in Hindi

हेमपुष्पा 100 प्रतिशत एक आयुर्वेदिक ऑर्गैनिक औषधी हैं। इस सिरप में आमतौर पर कोई साइड एफफएक्टस देखने को नहीं मिलते हैं। इसलिए आप निसंकोच रुप से इसका सेवन कर सकती है। इसका मुख्य कार्य लड़कियों के पीरियड को नॉर्मल बनाना है। इसका सेवन करते समय इस बात का ध्यान रखा जाए कि, इससे वजन एकाएक बढ़ता है। इसके सेवन से वजन बढ़ना एक आम दुष्प्रभाव हैं जो ठीक हो जाता हैं। इसलिए दवा के सेवन के साथ बरती जाने वाली सावधानी को भी हमारे द्वारा आपके साथ साझा किया जा रहा है।

इसे भी पढ़े :

हेमपुष्पा में क्या परहेज रखे?

  • हेमपुष्पा का सेवन अन्य किसी औषधी या दवा के साथ ना करें
  • यदि आपको पूर्व से कोई गंभीर बीमारी हैं तो इसका सेवन चिकित्सक की सलाह के बाद ही करें
  • गर्भवती महिलाओं को इसके सेवन से बचना चाहिए
  • शिशुओं को स्तनपान करवाने वाली महिलाएं इसका सेवन डॉक्टर की सलाह अनुसार कर सकते हैं।
  • यदि पीरियड रेगुलर हैं तो इसका सेवन करने से बचे
  • यह सिरप मुख्य रूप से मासिक धर्म से जुड़ी समस्या को ठीक करने के लिए ही करे
  • इक्स्पाइर दवा का उपयोग ना करे
  • बताई गई मात्र में ही इसका सेवन करना चाहिए
  • 16 साल से ऊपर की उम्र वाली लड़किया इसका सेवन करे

हेमपुष्पा कैसे पीना चाहिए? (Hempsuhpa Dosage in Hindi)

हेमपुष्पा के पॅकिंग में हेम टैबलेट और सिरप दोनों मिलते हैं जिनका सेवन नीचे बताई गई dose के अनुसार करना चाहिए।

~7 मि.लि (ML) हेमपुष्पा सिरप को ढक्कन से नाप कर और 1 गोली हेम टैबलेट को सुबह और शाम दो बार लेना चाहिए पानी के साथ सेवन में लेना चाहिए।

~ इसके सिवा चिकित्सक की सलाह अनुसार भी इसका सेवन करना उचित माना जाता हैं।

हेमूष्पा की सामग्री क्या हैं? Hempushpa Ingredients in Hindi

Hempushpa Tonic में लोढरा , अश्वगंधा , शतावरी के साथ नीचे दी गई सामग्री का उपयोग हुआ हैं जो इसके फायदे बढ़ाने में मददरूप हैं।

लोढरा
अनंतमूल
मंजीत
बाला
शंख पुष्पि
ब्राह्मी
मूसली
अशोक
शिवलिंगी
अश्वगंधा
बच
पुनमवा
मुलेठी
ढाई
गंभारी
कटेरी
शतवार
नीलोफर
पलाश

मुलेठी के बारे में विस्तार से जाने

क्या लड़कियों के लिए हेमपुष्पा अच्छा हैं?

Hempushpa Tonic खास तौर से लड़कियों के लिए ही बनाया गया हैं। ये आयुर्वेदिक औषधी हैं जो लड़कियों के मासिक चक्र को नियमित रखता हैं। जिन लड़कियों को समय से पहेले मासिक आ जाता हैं या कभी कभी बहूत देर हो जाती हैं मासिक आने में तो वे इसका सेवन कर सकती हैं। साथ ही ये पीरीअड के दरमियान होने वाले अधिक पेट दर्द या कमर दर्द में राहत देने वाली औषधी हैं।

हेमपुष्पा की कीमत क्या है?

हेमपुष्पा की प्राइस इसकी साइज़ पर निर्भर करती हैं। हेमपुष्पा के साथ हेंम टैबलेट भी आती हैं। Hempushpa Tonic 170 ml टॉनिक 545 रुपए और 24 टैबलेट की कीमत 258 रुपए तक हैं जो amazon से खरीदी जा सकती हैं।

यदि आपको हेमपुष्पा खरीदना हैं तो हमारे द्वारा दिए गए BUY IT NOW बटन पर क्लिक कर खरीद सकती हैं। यदि आपके मन में किसी प्रकार का कोई सवाल हैं तो आप हमें 7000019078 पर अपना सवाल लिख सकती हैं।

हेमपुष्पा कितनी बोतल पीनी चाहिए?

हेमपुष्पा को तभी सेवन में लेना चाहिए जब मासिक चक्र से जुड़ी कोई समस्या हो या मासिक को सामान्य (रेगुलेट) करना हो। इसके सिवा अगर मासिक धर्म अनुसार अधिक पेट दर्द या कमर दर्द हो। शुरुआत में इसकी dose को समझ कर एक बोतल पी सकते हैं। या डॉक्टर की सलाह अनुसार इसे सेवन में ले सकते हैं।

महिलाओं के मन में आने वाले सवाल:

Hempushpa कौन सी अच्छी आती हैं?

हेमपुष्पा टॉनिक सिरप और टैबलेट अच्छी आती हैं जो लड़कियों के मासिक धर्म को नियमित करने में मददगार हैं।

क्या शिशुओं को स्तनपान करवाने वाली महिलाये hempushpa Tonic का सेवन कर सकती हैं?

स्तनपान करवाने वाली महिलाओ को हेमपुष्पा का सेवन डॉक्टर से पूछ कर ही करना चाहिए।

क्या गर्भवती महिलाये हेमपुष्पा टॉनिक का सेवन कर सकती हैं?

जी नहीं गर्भवती महिलाओ को हेमपुष्पा के सेवन से बचना चाहिए।

कितनी आयु वाली लड़की को हेमपुष्पा का सेवन करना चाहिए?

16 साल से ऊपर की उम्र वाली लड़कियों को हेमपुष्पा का सेवन करना चाहिए।

हेमपुष्पा कहाँ से खरीदे?

online amazon से खरीद सकते हैं।

KAMLESH VERMA

दैनिक भास्कर और पत्रिका जैसे राष्ट्रीय अखबार में बतौर रिपोर्टर सात वर्ष का अनुभव रखने वाले कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है. कमलेश वर्तमान में साऊदी अरब से लौटे हैं। खाड़ी देश से संबंधित मदद के लिए इनसे संपर्क किया जा सकता हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status
पान का इतिहास | History of Paan महा शिवरात्रि शायरी स्टेटस | Maha Shivratri Shayari सवाल जवाब शायरी- पढ़िए सीकर की पायल ने जीता बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड सफल लोगों की अच्छी आदतें, जानें आलस क्यों आता हैं, जानिएं इसका कारण आम खाने के जबरदस्त फायदे Best Aansoo Shayari – पढ़िए शायरी