मासिक धर्म का देर से आने का कारण व समय पर लाने के 10 असरदार उपाय

0
59
periods-ka-der-main-aana-ka-karan-upay-in-hindi
मासिक धर्म का देर से आने का कारण व सही समय पर लाने के 10 असरदार उपाय

मासिक धर्म यानी पीरियड महिलाओं के लिए कोई नया नाम नहीं है1 यह एक प्राकृतिक प्रक्रिया है जिसका हर महीने आना महिला के स्वास्थ्य के लिए बेहद ही जरूरी है. नियमित रूप से मासिक धर्म आना महिलाओं के स्वस्थ होने का संकेत है लेकिन अधिकांश महिलाएं कई बार अनियमित पीरियड (Irregular Periods) की परेशानी से जूझती है.

अनियमित पीरियड कई बहुत से गंभीर रोगों का कारण बनता है. मासिक चक्र यदि समय पर ना आए तो दैनिक जरूरतों के कार्य करने भी मुश्किलें खड़ी हो जाती है. अनियमित पीरियड का अर्थ है पीरियड का निश्चित समय से जल्दी या देर से आना (periods der se aane ke karan) और यह समस्या लाखों भारतीय महिलाओं को झेलना पड़ती है. सबसे पहले समझते है कि मासिक धर्म के देरी से आना (period sahi time par nahi aana) क्या होता है ?

periods-ka-der-main-aana-ka-karan-upay-in-hindi
मासिक धर्म का देर से आने का कारण व सही समय पर लाने के 10 असरदार उपाय

क्या है मासिक धर्म का देरी से आना (Delayed Menstruation or Late Periods)

आमतौर पर मासिक धर्म का चक्कर 28 से 30 दिनों का होता है लेकिन यदि आपके पीरियड इस समय अवधि के बाद देरी से आते हैं तो उन्हें अनियमित या पीरियड्स समय पर ना आना (masik dharma time par na aana) के रुप में पहचाना जाता है. पीरियड का अनियमित होना महिलाओं के लिए शारीरिक और मानसिक दोनों रूप से परेशानी का सबब होता है.

इसके पीछे भी कई कारण होते हैं लेकिन ऐसा नहीं है कि इस समस्या से निजात नहीं पायी जा सकता. मासिक धर्म के देर से आने के कारण व उपाय हम लेख के जरिए आज आपके लिए लेकर आएं हैं.

इसे भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में मिट्टी खाने के कारण, प्रभाव और इलाज

मासिक धर्म के देर से आने के कारण (Causes of Irregular Periods in Hindi)

1. अधिक वजन (Weight)

जिन महिलाओं का अधिक वजन होता है उन्हें अनियमित मासिक धर्म की समस्या होती है. ऐसे में आपकों आवश्यकता है कि मोटापे पर नियंत्रण रखें. इसका दूसरा कारण थायराइड भी हो सकता है. थायराइड की वजह से महिलाओं का वजन बढ़ता है, यही नहीं इसके कारण हार्मोन्स विकार भी होते है. वजन के कम होने के कारण भी पीरियड में देरी हो सकती है.

2. अन्हेल्थी खानपान (Unhealthy Diet)

महिलाओं के शरीर के साथ-साथ पीरियड पर भी खाने-पीने का प्रभाव पड़ता है. हाईलेवल लाइफस्टाइल भी मासिक धर्म पर प्रभावित करता है. इसके लिए एक स्वस्थ लाइफस्टाइल काे जीवन में उतारें. साथ ही हेल्थी खाना खाएं। अधिक चीनी, नमक, कैफीन और जंक फूड का सेवन न करें.

3. उम्र (Age)

मासिक चक्र का देरी से आने में आपकी उम्र का कम या अधिक होना भी एक कारण हो सकता है. कई युवतियों को किशोर अवस्था में ही पीरियड शुरू हो जाता है जिसके कारण पीरियड अनियमित हो सकता है.समय के साथ यह समस्या स्वयं ही दूर हो जाती है.

4. तनाव (Tension)

तनाव, चिंता और अवसाद का असर भी पीरियड के चक्र पर असर डालता है. बेहद अधिक तनाव के कारण हमारे हार्मोन्स असंतुलित हो जाते हैं.आप कसरत, सकारात्मक सोच, डॉक्टर की सलाह और संतुलित आहार के साथ चिंता मुक्त जीवन जीने की कोशिश करें.

5. पुरानी बीमारियाँ (Chronic diseases)

यदि आप पैतृकों की किन्हीं बीमारियों से ग्रस्त हैं तो इसके कारण भी आपके पीरियड में लेट हो सकते हैं. आपके अंडाशय में सिस्ट हों तो उसके कारण भी पीरियड देर से आते हैं. डायबिटीज भी इसका कारण हो सकता है.

मासिक धर्म को समय पर लाने के उपाय (Periods Time se Lane ke Upay)

1. हल्दी (Turmeric)

हल्दी एक बेहतरीन आयुर्वेदिक भारतीय औषधि है जिसका प्रयोग आप पीरियड में देरी जैसी समस्या में भी कर सकती है. इसके लिए आप गुनगुने पानी में एक चम्मच हल्दी मिला कर दिन में एक या दो बार पीने से आपको निश्चित रुप से अच्छे परिणाम देखने को मिलेंगे.

2. अजवायन (Parsley)

अजवायन को पानी में उबाल कर दिन में दो या तीन बार पीने से अनियमित पीरियड की परेशानी से जल्द निजात मिल जाता है.साथ ही जीरे की तासीर भी गर्म होती है. इसके सेवन से भी पीरियड की समस्याएं जड़ से खत्म हो जाती है.

इसे भी पढ़ें : मेथी के दाने का उपाय बताइए ( methi ke daane ka upay)

3. अदरक (Ginger)

अदरक की तासीर गर्म होती है ऐसे में पीरियड में देरी जैसी समस्या को दूर करने में यह भी बेहद ही लाभदायक है.अदरक की चाय या सब्जी में डाल कर इसका नियमित रुप से सेवन करें. अदरक के रस को शहद के साथ भी आप ले सकती हैं.

4. किशमिश (Raisins)

किशमिश न केवल खाने में स्वादिष्ट होती है बल्कि इसके स्वास्थ्य सम्बन्धी कई प्रकार से उपयोगी है. किशमिश को रात भर पानी में भिगो कर रखें, इसके बाद उबाल लें और जब इसकी कम मात्रा शेष रहे तो छान कर इसका नियमित रूप से सेवन करें.

5. तिल (Sesame)

कुछ मात्रा में काले तिल लेकर उन्हें गुड़ में मिला लें और उसका सेवन करें. इस उपाय से भी पीरियड में देरी जैसी परेशानी से छुटकारा मिलता है.

6. पपीता (Papaya)

पपीता खासतौर पर कच्चा पपीता भी एक प्रभावी उपाय है. इसके सेवन से गर्भाशय में कसाव आता है जिसके कारण पीरियड जल्दी आ सकते है.

पीरियड्स समय पर लाने के उपाय 

  • भोजन का सही से न पचने से ब्लीडिंग में समस्या हो सकती है. जिसके चलते मासिक धर्म में देरी होती है.अपने खानपान का ध्यान रखें. हमेशा पौष्टिक आहार खाएं.
  • गर्म चीज़ों का सेवन करें. इससे भी पीरियड के जल्दी आने में सहायता मिलती है.
  • प्रतिदिन व्यायाम करें. ऐसा करने से भी आपको अनियमित पीरियड से जल्द छुटकारा मिलेगी.
  • धूम्रपान और अन्य मादक चीज़ों का सेवन करने से भी मासिक धर्म में परिवर्तन आ जाता है. इनसे दूर रहें.
  • योग करने से शरीर का तापमान सही रहता है जिससे मासिक धर्म सही समय पर आने में मदद मिलती है. यदि आपको अनियमित पीरियड की समस्या है तो भरपूर मात्रा में योग करें.