सेहतNews

लूज मोशन (दस्त) के कारण और घरेलु उपचार | Loose Motion Gharelu Upchar

लूज मोशन (दस्त) के कारण और घरेलु उपचार | Loose Motion Gharelu Upchar | Reasons and Home Remedies of Loose Motion in Hindi

लूज मोशन या दस्त बिना बुलाई बीमारी जो अशुद्ध पानी के सेवन से होती है. यह मानव शरीर में गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल सिस्टम में विकारों के लिए शरीर की प्रतिक्रिया है.यदि आपकों लूज मोशन हो जाते है तो कुछ दिनों शौचालय की लगातार यात्राएं करनी होंगी. दस्त के सामान्य लक्षणों में असामान्य रूप से पानी से भरा मल, सूजन, मतली और पेट में ऐंठन की परेशानी होती हैं. परिणामस्वरूप शरीर में पानी की कमी और कमजोरी हो सकती है. साधारण घरेलू उपचार दस्त से लड़ने और शरीर और पेट को स्वस्थ रखने में उपयोगी साबित हो सकते हैं.

loose-motion-gharelu-upchar

लूज मोशन के कारण (Loose Motion Reasons)

दस्त लगने के दौरान आपकों दिन में 4 से 5 बार टॉयलेट जाना पड़ सकता हैं,  यह परेशानी एक-दो दिनों से अधिक समय तक बनी रह सकती है। हालांकि, यदि आपके पास एक सप्ताह से अधिक समय तक लूज मोशन से जूझ रहे हैं, तो यह बेहद ही चिंताजनक हो सकता है और इसके लिए तुरंत चिकित्सीय उपचार लेना चाहिए. चलिए जानते हैं लूज मोशन के कुछ सामान्य कारण हैं.

1. दूषित पानी और खाद्य पदार्थों में मौजूद ई.कोली, साल्मोनेला, कैंपिलोबैक्टर जैसे बैक्टीरिया लूज मोशन का मुख्य कारण हैं.

2. कभी-कभी, आंतों में सूजन आंत्र रोग, क्रोहन रोग, सीलिएक रोग, अल्सरेटिव कोलाइटिस, या पित्ताशय की थैली रोग जैसे लक्षण लूज मोशन का प्रमुख कारण हैं.

3. सिस्टिक फाइब्रोसिस जैसे वंशानुगत विकार लूज मोशन का कारण हो सकते हैं.

5. कच्चे दूध का सेवन करने पर पाचन तंत्र काे प्रभावित करना भी दस्त का कारण बन सकता हैं.

6. कुपोषण या पौष्टिक भोजन की कमी भी दस्त के लिए जिम्मेदार है.

लूज़ मोशन के लिए प्रभावी घरेलू उपचार (Loose Motion Gharelu Upachar)

अमूमन लूज मोशन या डायरिया बेहद गंभीर समस्या नहीं है कई बार यह स्वत: हल हो जाती है. अधिक दिनों तक लूज मोशन की परेशानी होना खतरनाक संकेत हैं. लूज मोशन के कुछ प्राकृतिक उपचारों में शामिल हैं:

1. दही

आहार में दही को शामिल करे. एक कटोरी सादा दही नियमित रूप से खाए. कुछ नमक या काली मिर्च छिड़क सकते हैं. दही में अच्छी मात्रा में प्रोबायोटिक्स (अच्छे बैक्टीरिया) होते हैं जो आंत को स्वस्थ रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं.

2. नारियल पानी

नारियल पानी लूज मोशन के लिए एक शक्तिशाली उपाय है. नारियल पानी पीना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक तो है, लेकिन यह लूज मोशन को भी ठीक कर सकता है.

3.  केले

यदि लूज मोशन से परेशान हैं तो कच्चे केले खाएं. केले का सेवन करने से दस्त के समस्या में राहत मिलती  है और आप जल्द ही बेहतर महसूस करेंगे.

4. छाछ

यह स्वस्थ पेय पाचन तंत्र को पटरी पर लाने में सहायक होता है. यदि संभव हो तो ठंडा, ताजा छाछ का एक गिलास पिएं.  दिन में तीन बार छाछ पी सकते हैं.

 5. पुदीना(मिंट) और हनी

नींबू का रस, पुदीने का रस और शहद को एक साथ फेंटें. इस मिश्रण को एक गिलास गुनगुने पानी में मिलाएं और सेवन करे.

दस्त के दौरान क्या ना खाए ? (what to not Eat During Lose Motion)

दस्त से पीड़ित होने पर आपको निन्मलिखित खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए.

1. अनार

2. केले

3.  चावल

4. अमरूद

5. गाजर

6. स्ट्रॉबेरी

7. साबूदाना

 8. मैश किए हुए आलू

दस्त को रोकने के लिए रोकथाम (Precaution for Loose Motion in Hindi)

लूज मोशन को रोकने के लिए इन टिप्स को फॉलो करें. आखिर, रोकथाम इलाज से बेहतर है.

  • आप स्वच्छ और स्वस्थ भोजन का सेवन करते हैं.
  • दैनिक आहार में फाइबर युक्त खाद्य पदार्थों को शामिल करें. 
  • हाइड्रेटेड रहने के लिए पानी और स्वस्थ पेय का खूब सेवन करें और साफ, उबला हुआ पानी पिएं.
  • यदि आप शराब और कैफीन का अत्यधिक उपयोग करते हैं तो उसे सीमित करें.
  • बैक्टीरिया और वायरल संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए अक्सर अपने हाथ धोएं.
 नाभि पर इत्र लगाने के फायदे
 दांतों की सफाई के घरेलू नुस्खे
Period में Lip Kiss करने से क्या होता है
नाभि पर हल्दी लगाने के फायदे
नाभि में हल्दी का तिलक लगाने से क्या लाभ होता है?
 अचार का मसाला बनाने की आसान विधि
 
सरस्वती पूजा 2023 में कब है
 ब्लाउज की हद से ज्यादा सुंदर 15 डिजाइन !
पैर में काला धागा बांधने से क्या होता हैं.
नाभि पर हल्दी लगाने का फायदा
  सरस्वती पूजा 2023 में कब है 
2023 में देवउठानी एकादशी कब है
गुल खाने से क्या होता है 
महिलाओं के सोलह श्रृंगार क्या-क्या होते हैं ?

KAMLESH VERMA

दैनिक भास्कर और पत्रिका जैसे राष्ट्रीय अखबार में बतौर रिपोर्टर सात वर्ष का अनुभव रखने वाले कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है. कमलेश वर्तमान में साऊदी अरब से लौटे हैं। खाड़ी देश से संबंधित मदद के लिए इनसे संपर्क किया जा सकता हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status
पान का इतिहास | History of Paan महा शिवरात्रि शायरी स्टेटस | Maha Shivratri Shayari सवाल जवाब शायरी- पढ़िए सीकर की पायल ने जीता बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड सफल लोगों की अच्छी आदतें, जानें आलस क्यों आता हैं, जानिएं इसका कारण आम खाने के जबरदस्त फायदे Best Aansoo Shayari – पढ़िए शायरी