Newsधर्म

बसंत पंचमी 2024 | बंसत पंचमी कथा | सरस्वती पूजा तिथि 2024 | Vasant Panchami

Vasant Panchami | बसंत पंचमी 2024 | बंसत पंचमी कथा | सरस्वती पूजा तिथि 2024

महत्वपूर्ण जानकारी

  • वसंत पंचमी 2024, बसंत पंचमी 2024
  • बुधवार, 14 फरवरी 2024
  • पंचमी तिथि प्रारंभ : 13 फरवरी 2024 को दोपहर 02:41 बजे
  • पंचमी तिथि समाप्त : 14 फरवरी 2024 को दोपहर 12:09 बजे

Vasant Panchami 2024 : वसंत पंचमी (Vasant Panchami) या श्रीपंचमी सनातन धर्म का प्रमुख पर्व है. इस दिन विद्या की देवी माता सरस्वती का पूजन किया जाता है. बिहार में सरस्वती पूजन उल्लास के साथ मनाया जाता है. पूर्वी भारत, बिहार, पश्चिमोत्तर बांग्लादेश, नेपाल में वसंत पंचमी उत्साह के साथ मनाया जाता है. हिंदू धर्म में इस दिन पीले वस्त्र पहनकर पूजन किया जाता है. माघ माह की पंचमी तिथि को वसंत पंचमी पर्व मनाया जाता है. इस बार वसंत पंचमी का त्योहार 14 फरवरी 2024, बुधवार को मनाया जाएगा. इस दिन माता सरस्वती कि विशेष पूजा की जाती है. ऐसे में आज हम लेख के जरिए वसंत पंचमी के दिन राशिनुसार मंत्रों का जाप करने के बारे में बताने जा रहे हैं. इन मंत्रों (Vasant Panchami Mantra) का जाप करके आपको सुख समृद्धि की प्राप्ति होगी. आइए जानते हैं.

वसंत पंचमी कथा
प्रारंभिक काल में, भगवान शिव की आज्ञा से ब्रह्मा जी ने जीवों और मनुष्य की रचना की थी। परन्तु ब्रह्मा जी अपने रचना से संतुष्ट नही थे। तो ब्रह्मा जी ने भगवान विष्णु की आराधना की, तब विष्णु से उनके समक्ष प्रकट हुए। ब्रह्मा जी ने अपनी समस्या विष्णु जी के सामने रखी परन्तु विष्णु जी के पास उनकी समस्या का हल नहीं था। इसलिए दोनों ने आदिशक्ति दुर्गा माता का आव्हान किया। तब दुर्गा माता प्रकट हुई और उनकी समस्या के हल के लिए अपने शरीर में से देवी सरस्वती को प्रकट किया। तभी से, सभी जीवों का वाणी प्राप्त हुई। इस प्रकार देवी सरस्वती का जन्म हुआ था।

vasant-panchami
vasant panchami

मेष राशि- ॐ वाग्देवी वागीश्वरी नम:

वृषभ राशि- ॐ कौमुदी ज्ञानदायनी नम:

मिथुन राशि- ॐ मां भुवनेश्वरी सरस्वत्यै नम:

कर्क राशि- ॐ मां चन्द्रिका दैव्यै नम:

सिंह राशि- ॐ मां कमलहास विकासिनी नम:

कन्या राशि- ॐ मां प्रणवनाद विकासिनी नम:

तुला राशि- ॐ मां हंससुवाहिनी नम:

वृश्चिक राशि- ॐ शारदै दैव्यै चंद्रकांति नम:

धनु राशि- ॐ जगती वीणावादिनी नम:

मकर राशि- ॐ बुद्धिदात्री सुधामूर्ति नम:

कुंभ राशि- ॐ ज्ञानप्रकाशिनी ब्रह्मचारिणी नम:

मीन राशि- ॐ वरदायिनी मां भारती नम:

Google News पर हमें फॉलों करें.

 गंगा दशहरा और उसका महत्त्व
 माता पर संस्कृत श्लोक 
Period में Lip Kiss करने से क्या होता है
100+मसालों के नाम चित्र सहित?
जानवरों के नाम | List of Animals
सूर्य जयंती कब है? रथ सप्तमी अचला सप्तमी
आम में बौर कब आते हैं?
 लैंडमार्क किसे कहते हैं? 
पैर में काला धागा बांधने से क्या होता हैं.
सल्फास का यूज़ कैसे करें, खाने के नुकसान
 प्रतिवेदन का अंग्रेजी शब्द क्या है
 सुबह जल्दी उठने के फायदे
गुल खाने से क्या होता है 
प्लास्टिक की वस्तुओं के नाम संस्कृत में

 

KAMLESH VERMA

दैनिक भास्कर और पत्रिका जैसे राष्ट्रीय अखबार में बतौर रिपोर्टर सात वर्ष का अनुभव रखने वाले कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है. कमलेश वर्तमान में साऊदी अरब से लौटे हैं। खाड़ी देश से संबंधित मदद के लिए इनसे संपर्क किया जा सकता हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status
पान का इतिहास | History of Paan महा शिवरात्रि शायरी स्टेटस | Maha Shivratri Shayari सवाल जवाब शायरी- पढ़िए सीकर की पायल ने जीता बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड सफल लोगों की अच्छी आदतें, जानें आलस क्यों आता हैं, जानिएं इसका कारण आम खाने के जबरदस्त फायदे Best Aansoo Shayari – पढ़िए शायरी