Newsहिंदी लोक

पिताजी से रुपए मनी ऑर्डर द्वारा मंगवाने के लिए पत्र | Application to Father for Asking Money Oder in Hindi

पिताजी से 300 रुपए पुस्तकें अन्य (फीस आदि) खर्च के लिए मनीऑर्डर द्वारा मंगाइए के लिए पत्र लिखिए | Application for Father asking for Rs. 300 by Money Oder in Hindi

यदि आप एक हॉस्टल में रहने वाले विद्यार्थी है और काफी दिनों से घर से बाहर है. ऐसे समय में आप अपने पिताजी को पत्र लिखकर अपने बारे में संदेश और उनके हाल चाल पूछने के लिए जो पत्र का उपयोग करते हैं, उसे अनौपचारिक पत्र कहते है. हमारे द्वारा पोस्ट के जरिए आपके लिए जो पत्र लिखा है वह भी एक अनौपचारिक पत्र है, जिसमें एक हॉस्टल में रहने वाला विद्यार्थी अपने पिता को पत्र लिखकर 300 रुपए अपने लिए नई पुस्तकें लाने के लिए मनीऑर्डर द्वारा मंगवाता है.

asking-money-order-application/
Application for Father

अनौपचारिक पत्र

16, विद्या नगर

उज्जैन (मध्य प्रदेश)

दिनांक – 12-10-2023

पूज्यनीय पिताजी,

सादर चरण स्पर्श

मैं यहां पर सकुशल हूं. आशा करता हूं कि आप सभी लोग सकुशल होंगे. आपके निर्देशों का मेरे द्वारा पूर्ण रूप से पालन किया जाता है. मेरा अध्यापन कार्य नियमित रूप से चल रहा है. मेरी अर्द्धवार्षिक परीक्षा 10-10-2023 से शुरू हो रही है. ऐसे में मुझे कुछ पुस्तकें और स्टेशनरी आदि सामग्री खरीदनी है. फीस भी जमा करना है. अत: मुझे 300 रुपए की आवश्यकता है. इसलिए कृपया उक्त धनराशि यथाशीघ्र मनीऑर्डर द्वारा भेजने का कृष्ट कीजिएगा. शेष कुशल है.
अनुज को प्यार माताजी को सादर प्रणाम

आपका आज्ञाकारी पुत्र
रविंद्र सिंह
पता : सुभाष मार्ग,
मंडी बिरलाग्राम नागदा
उज्जैन (म.प्र.)

पत्र लिखें जाने के दौरान ध्यान देने योग्य आवश्यक बातें

पत्र साफ काजग पर लिखें : दोस्तों पत्र को सदैव ही प्लेन और सफेद कागज पर लिखा जाना चाहिए. किसी भी अन्य प्रकार की जानकारी पत्र के साथ ना लिखी हुई हो. इसके अलावा पत्र काे पूरे कागज पर लिखा जाना चाहिए. एक पेज के दो भाग कर पत्र लिखें.

मात्रा की गलती ना हो : कई बार छात्र-छात्राएं पत्र लिखते समय मात्रा की अधिक गलती करती है. इसलिए जरूरी हैं कि, पत्र में किसी प्रकार की कोई शब्दों की त्रुटि ना हो.

विषय की स्पष्टता : दोस्तों ध्यान देने योग्य बात यह है कि, पत्र लिखते समय हमारा विषय स्पष्ट होना चाहिए. उसे समझाने में किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं होना चाहिए. हमारे लिख हुए शब्द सरल एवं स्पष्ट होना चाहिए. ऊपर लिखें पत्र के उदाहरण में स्पष्ट हो रहा है कि एक विद्यार्थी पिताजी से 300 रुपए पुस्तकें अन्य (फीस आदि) खर्च के लिए मनीऑर्डर द्वारा मंगाइए के लिए पत्र लिख रहा है.

लेखन की सुंदरता : पत्र की लेखन कला का भी आवेदन प्राप्तकर्ता के समक्ष गहरा प्रभाव डालता है. लेखन जितना सुंदर और मात्रा की अशुद्धियां कम होगी उतना पत्र प्रभावी होगा. एक बात का ध्यान रखें कि पत्र के अक्षर एक समान लिखें कोई अक्षर बड़ा या छोटा नहीं होना चाहिए.

दोस्तों हमें पूरा विश्वास है कि, आपकाें हमारा यह पत्र का नमूना अच्छा लगा होगा. पत्र लेखन और अन्य हिंदी लेख को प्राप्त करने के लिए हमारी न्यूजमग.इन वेबसाइट के Notification को Allow करके हमसे जुड़े. यदि आपके मन में भी किसी विषय से संबंधित पत्र, लेटर, एप्लीकेशन या शिकायती पत्र हैं तो हमें +91-7000019078 पर वाट्सएप करें.

इसे भी पढ़े :

KAMLESH VERMA

दैनिक भास्कर और पत्रिका जैसे राष्ट्रीय अखबार में बतौर रिपोर्टर सात वर्ष का अनुभव रखने वाले कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है. कमलेश वर्तमान में साऊदी अरब से लौटे हैं। खाड़ी देश से संबंधित मदद के लिए इनसे संपर्क किया जा सकता हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status
चुनाव पर सुविचार | Election Quotes in Hindi स्टार्टअप पर सुविचार | Startup Quotes in Hindi पान का इतिहास | History of Paan महा शिवरात्रि शायरी स्टेटस | Maha Shivratri Shayari सवाल जवाब शायरी- पढ़िए सीकर की पायल ने जीता बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड सफल लोगों की अच्छी आदतें, जानें आलस क्यों आता हैं, जानिएं इसका कारण आम खाने के जबरदस्त फायदे Best Aansoo Shayari – पढ़िए शायरी