प्रेग्नेंसी में खांसी-जुकाम से हैं परेशान तो आजमाइये ये घरेलू नुस्‍खे

0
205
remedies-for-cough-and-cold-during-pregnancy
प्रतिकात्मक तस्वीर सोर्स गूगल

महिलाओं के लिए दुनिया का सबसे सुखद अहसास मां बनाना है। ऐसे में प्रेग्नेंसी के दौरान प्रसूता महिलाओं को कई प्रकार की सेहत से जुड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। शरीर में हो रहे हार्मोनल बदलावों के कारण उन्हें कई तरह की बीमारियां भी परेशान करती रहती हैं। प्रेग्नेंसी में महिलाओं का इम्यून सिस्टम काफी हद तक कमजोर हो जाता है। ऐेसे में सेहत पर बीमारियों का हमला आम बात है। सर्दी और खांसी होना प्रेग्नेंसी के समय की आम तकलीफ है। हर गर्भवती महिला को इससे बचाव की हर संभव कोशिश करनी चाहिए। Remedies for Cough and Cold During Pregnancy

remedies-for-cough-and-cold-during-pregnancy
प्रतिकात्मक तस्वीर सोर्स गूगल

यह भी पढ़ें : प्रेगनेंसी के दौरान ये पांच चीजें खाने से शिशु बुद्धिमान होता है।

कक्षा छठी से हम पढ़ते आएं है कि खांसी एक संक्रामक रोग है। किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में अधिक समय तक रहने से खांसी हो सकती है। प्रेगनेंसी के दौरान भी सर्दी और खांसी के लक्षण वही होते हैं, जैसा कि सामान्य दिनों में। खांसी का सबसे सामान्य लक्षण होता है गला खराब होना।

गर्भावस्था के समय खांसी के कारण प्रसूताओं का गला खराब होने की समस्या आम है लेकिन इसके पीछे प्रेग्नेंसी की कमजोरी भी अहम कारण होती है। सर्दी-खांसी की चपेट में आने वाली महिला को छींक आने और बंद नाक की समस्या से भी जूझना पड़ता है। यदि सर्दी के साथ बुखार की शिकायत हो ताे यह फ्लू का संकेत है। सभी लक्षण यूं तो दो हफ्तों में गायब हो जाते हैं और इसका किसी भी प्रकार का कोई दूरगामी दुष्प्रभाव नहीं होता है।लेकिन फिर भी इन समस्याओं से निपटने के उपाय जरूर किए जाने चाहिए। प्रेग्नेंसी के दौरान सर्दी-खांसी के मामले में प्राकृतिक उपचार बेहतर तरीका होता है। ऐसे में किसी भी तरह की रासायनिक दवाइयों का प्रयोग बच्चे के विकास पर बुरा प्रभाव डाल सकता है। लेख के जरिए आज हम जानेंगे कि प्रेग्नेंसी के दौरान सर्दी-खांसी की समस्या के लिए घरेलु उपचार क्या-क्या करें।

लहसुन की तासीर बेहद ही गर्म होती है, लहसुन, कफ सिरप या फिर अदरक का इस्तेमाल उपचार के तौर पर किया जा सकता है। ये दोनों प्राकृतिक औषधि है। इसका सेवन करने से मां और बच्चे दोनों को किसी भी तरह का नुकसान नहीं होता है। अदरक के छोटे टुकड़े को चबाते रहना भी एक तरह से प्राकृतिक चिकित्सा ही है। यह आपके बच्चे को नुकसान पहुंचाए बिना ही आपकी खांसी को जल्दी ही ठीक कर देती है।

इसे भी पढ़े : बच्चेदानी की गांठ को कैसे ठीक करें

भाप लेना

सबसे पहला और सरल उपाय सर्दी-जुकाम में है भाप लेना। किसी गहरे बर्तन में गर्म पानी लें और कुछ दूरी पर अपना मुंह रखकर कपड़े से ढक लें. इससे सर्दी से बंद नाक खुल जाएगी और आपको सिर दर्द से जल्द छुटकारा मिलेगा। यह उपाय दिन भर में 2-3 बार भाप लें.

शरीर को गर्म रखें

तापमान के अनुसार कपड़े पहने, यदि मौसम ठंडा है तो खुद को ढक कर रखें. प्रेग्नेंसी के समय सर्दी-खांसी से आमतौर पर बुखार हो जाता है. बुखार में ज्यादातर लोगों को ठंड लगती है. आप अपने शरीर को जितना गर्म रखेंगी आपको उतनी ही राहत मिलेगी।

गर्म पानी, सूप या चाय

गले को गर्म पानी से आराम मिलता है. तुलसी, शहद और अदरक की चाय इस समय बहुत असर करगी. इससे आपके गले को तो आराम मिलेगा ही आपकी थकान भी कम होगी.

यू‍केलिप्‍टस तेल

सर्दी जुकाम से यदि बेहद ही परेशान है और आपकी नाक बंद हो जाती है जिससे घुटन सी महसूस होती है, तो बिस्तर पर सोने जाने से पहले अपने तकिए पर यूकेलिप्‍टस तेल की कुछ बूंदें छिड़क लें और उसे सूंघें. इस तेल को सूंघने से नींद भी अच्छी आती है.

संतुलित आहार

अपने शरीर को संक्रमण से दूर रखने के लिए खान-पान पर विशेष ध्यान दें. कफ बनाने वाली चीजें ना खाएं. इस समय ना तो बहुत ठंडा खाएं और न ही बहुत गर्म. सूप और हरी पत्तेदार सब्जियों का इस्तेमाल ज्यादा करें.

Newsmug App: नागदा और देश-दुनिया की खबरें, अपडेट्स और सेहत की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NEWSMUG ऐप। आपके नागदा का  लोकल न्यूज एप।

Google News पर हमें फॉलों करें.