Newsहिंदी लोकहिंदी लोक

हिंदी दिवस कोट्स | Hindi Diwas Quotes in Hindi

हिंदी दिवस पर बेहतरीन सुविचार | Quotes on Hindi Diwas | Quotes on Hindi Subject | Quotes on Importance of Hindi Language | Hindi Diwas Poem

राजभाषा हिंदी को बढ़ावा देने के उद्देश्य से हम प्रतिवर्ष 14 सितंबर को हिंदी दिवस (Hindi Diwas) मनाते हैं। हिंदी दिवस साल में दो बार 10 जनवरी और 14 सितंबर को मनाया जाता है। 14 सितंबर को राष्ट्रीय हिंदी दिवस और 10 जनवरी को विश्व हिंदी दिवस मनाया जाता है। हिंदी भाषा की महत्वता को समझाने हिंदी दिवस पर जाने हिन्दी से जुड़े कुछ ख़ास और नए विचारों के साथ हिंदी भाषा को आगे ले जाए.

हिंदी दिवस पर बेहतरी गीत यहां से पढ़े
हिंदी दिवस पर शायरी  यहां से पढ़े
हिंदी दिवस पर भाषण  यहां से पढ़े
हिंदी दिवस पर जोशीला भाषण  यहां से पढ़े
हिंदी दिवस पर कविता  यहां से पढ़े
बाल दिवस पर निबंध  यहां से पढ़े
hindi-diwas-quotes-in-hindi
Hindi Diwas Quotes

Hindi diwas Thoughts

अपनी मातृभाषा को मित्रभाषा बनाए,
मात्र भाषा बनाकर मृतभाषा ना बनाए.

जब भारत करेगा हिंदी को सम्मान ,
तभी तो आगे बढ़ेगा हमारा हिन्दुस्तान.

कमाल करते है कुछ लोग भी,
हिंदी भाषा पर ज्ञान भी इंग्लिश में देते है.

Slogans on Hindi Diwas

हिंदी के बिना ना तो आजादी पाई जा सकती है,
और ना तो हिंदी के बिना आजादी बरकरार रह सकती है.

जो सम्मान, संस्कृति और अपनापन हिंदी बोलने से आता हैं,
वह अंग्रेजी में दूर-दूर तक दिखाई नहीं देता हैं.

हिन्दी पढ़ना और पढ़ाना हमारा कर्तव्य है.
उसे हम सबको अपनाना है.

लालबहादुर शास्त्री

Hindi day Thought in Hindi

हिंदी मेरी माँ ने मुझे सिखाया हैं,
इसलिए इसके प्रति प्रेम और सम्मान मेरे हृदय में अन्य भाषाओं से अधिक हैं.

मैं वो गहरी सी नीव हूँ,
जिसे तुम खोखला करते जा रहे हो
अपनी दीवार को मजबूत बनाने के लिए.

देश को किसी संपर्क भाषा की आवश्यकता होती है,
और वह भारत में केवल हिन्दी ही हो सकती है.

श्रीमती इंदिरा गांधी

Famous Quotes on Hindi Diwas

हिंदी हमारी मातृभाषा हैं,
मात्र एक भाषा नहीं हैं.

जबतक आपके पास राष्ट्रभाषा नही,
आपका कोई राष्ट्र भी नही.

हिन्दी हमारे देश की एकता की कड़ी है,
हमे इसे आगे बढ़ाना है.

Best Quotes on Hindi Diwas

हिन्दी एक ऐसी जानदार भाषा है,
वह जितनी बढ़ेगी देश को उतना ही लाभ होगा.

जवाहरलाल नेहरू

सम्मान है हिंदी, अभिमान है हिंदी.
भारतीय होने की पहचान है हिंदी.

हिंदी हैं हम वतन है हिन्दोस्तां हमारा

हिंदी दिवस पर हमने ठाना है,
लोगों में हिंदी का स्वाभिमान जगाना है,
हम सब का अभिमान है हिंदी,
भारत देश की शान है हिंदी

Poem on Hindi Diwas

हिंदी हृदय की भाषा हैं,
जिसकी वजह से हमारे शब्द हृदय से निकलते हैं,
और हृदय तक पहुँचते हैं.

गुरुर था खुद पर मातृभाषा को त्याग कर,
भूल गया तू, तूने जन्म लिया था माँ पुकार कर.

हिंदी है हम वतन है हिंदुस्तानी, ये कहते है मेरे देश के हिंदुस्तानी
प्रयोग न करता आज कोई हिंदी, अंग्रेजी बन गयी महारानी
राष्ट्रभाषा को कोई नहीं पूछता, कैसी ये विडंबना आ गयी
कहकर अंग्रेजी पल्ला झाड़ लेते, मेरे देश के सारे ज्ञानी
हिंदी दिवस महज एक छलावा, इनको तो हिंदी भी नहीं आती
जो कह दे हिंदी उसे कहते चिंदी, इन्हें तो आती बस हँसी ही उड़ानी
वाह रे वाह मेरे हिंदुस्तानी, तुम हो गए सच में भैया
अंग्रेजो के ही साथी

Hindi Diwas Quotes 2022 in Hindi

जन-जन की आशा हैं हिंदी,
भारत की भाषा हैं हिंदी.

हिंदी है आज हम है,
और हिंदी हमारी पहचान हैं.

हाथ में तुम्हारे देश की शान
हिन्दी अपनाकर तुम बनो महान
हिन्दी दिवस की शुभकामनाये

Hindi Bhasha Par Kavita

हिंदी पर लिखने से नहीं, हिंदी में लिखने से होगा.

परदेशी वस्तु और परदेशी भाषा का भरोसा मत रखो,
अपने में अपनी भाषा में उन्नति करो

हिंदी मात्र शब्दों को नहीं,
जज्बातों को बयान करती है.

धन्यवाद, आपको यह लेख कैसा लगा, हमे कमेंट बॉक्स में ज़रुर बताए और हिंदी से हमेशा जुड़े रहे.

newsmug.in की ओर से आप सभी को “हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं”।

 100+हैरान कर देने वाले रोचक तथ्य
 1000+अनसुनें रोचक तथ्य हिंदी में पढ़े यहां !
Period में Lip Kiss करने से क्या होता है
100+मसालों के नाम चित्र सहित?
जानवरों के नाम | List of Animals
 ENO पीने के फायदे और नुकसान
ब्रेस्ट मिल्क के बारे में रोचक तथ्य
 फूलों के नाम संस्कृत में 
पैर में काला धागा बांधने से क्या होता हैं.
सल्फास का यूज़ कैसे करें, खाने के नुकसान
 चुना खाने से क्या होता है 
पक्षियों के नाम संस्कृत में
Kiss (चुंबन) के बारे में रोचक तथ्य
प्लास्टिक की वस्तुओं के नाम संस्कृत में

KAMLESH VERMA

दैनिक भास्कर और पत्रिका जैसे राष्ट्रीय अखबार में बतौर रिपोर्टर सात वर्ष का अनुभव रखने वाले कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है. कमलेश वर्तमान में साऊदी अरब से लौटे हैं। खाड़ी देश से संबंधित मदद के लिए इनसे संपर्क किया जा सकता हैं।

Related Articles

DMCA.com Protection Status
पान का इतिहास | History of Paan महा शिवरात्रि शायरी स्टेटस | Maha Shivratri Shayari सवाल जवाब शायरी- पढ़िए सीकर की पायल ने जीता बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड सफल लोगों की अच्छी आदतें, जानें आलस क्यों आता हैं, जानिएं इसका कारण आम खाने के जबरदस्त फायदे Best Aansoo Shayari – पढ़िए शायरी