Newsहिंदी लोकहिंदी लोक

हिंदी दिवस पर भाषण | Speech On Hindi Diwas In Hindi |14 सितंबर हिंदी दिवस पर जोशीला भाषण यहाँ से पढ़ें

हिंदी दिवस पर भाषण (Speech On Hindi Diwas In Hindi) : हिंदी भाषा ही नहीं बल्कि हिंदुस्तान की एक विशेष पहचान है। सुदुर देशों में भारतीयों को हिंदी भाषी के नाम से संबोधित किया जाता है। इस बात को भी नकारा नहीं जा सकता कि, अन्य भाषाओं की अपेक्षा हिंदी थोड़ी पीछे है, बावजूद पूरी दुनिया में आज भी हिंदी अपना परचम लहराती है। हिंदी भाषा ने पूरी दुनिया में हिंदुस्तान को एक विशेष पहचान दिलाई है। हिंदी की ही देन है कि, आज विदेशी नागरिक भी हिंदी सीखना, पढ़ना, लिखना और बोलना पसंद करते हैं। जैसा कि हम सभी को विधित है कि, प्रतिवर्ष 14 सितंबर (14 September) को हिंदी दिवस (Hindi Diwas) मनाया जाता है।

हिंदी दिवस पर भाषण (Speech On Hindi Diwas In Hindi)

हिंदी दिवस की शुभ बेला पर स्कूली विद्यार्थियों को अपने गुरुजनों के समक्ष 14 सितंबर हिंदी दिवस पर भाषण (Hindi Diwas Par Bhashan) भी देने में रुचि होना चाहिए। यदि आप भी हिंदी दिवस (Hindi Diwas) पर अपने स्कूल, कॉलेज या ट्यूशन में हिंदी दिवस पर भाषण प्रतियोगिता में भाग लेना चाहते हैं और हिंदी दिवस पर भाषण हिंदी में (Hindi Diwas Speech In Hindi) देकर अपने विचार सबके सामने रखना चाहते हैं, तो newsmug.in आपके लिए Hindi Speech On Hindi Diwas लेकर आया है। आपकों बता दें कि आप यदि आप हमारी Hindi Diwas Par Speech को याद कर लेते हैं, तो आप अपनी भी Speech In Hindi On Hindi Diwas तैयार सकते हैं।

दोस्तों बता दूं कि, हमारे द्वारा इस लेख में निम्नानुसार Hindi Diwas Speech In Hindi For Students को सरल भाषा में लिखकर समझाने का प्रयास किया है, जिससें कि, आपकों Hindi Speech For Hindi Diwas को याद करने में कोई परेशानी न हो। Hindi Diwas Bhashan को याद करने का सबसे अच्छा तरीका है कि आपके पास हिंदी दिवस पर भाषण लिखा हुआ होना चाहिए। आप अपनी Speech In Hindi Diwas को मंच पर बोलने से पहले दो-तीन बार अच्छे से जरूर पढ़ लें। हिंदी दिवस के दिन आप Hindi Day Speech In Hindi के अलावा हिंदी पर भाषण, मातृभाषा पर भाषण और हिंदी भाषा का महत्व पर भाषण भी तैयार कर सकते हैं। आपको Hindi Diwas Par Speech In Hindi को पूरे जोश, उत्साह और तेजस्वी स्वर में बोलना चाहिए।

hindi-diwas-speech-in-hindi

14 सितंबर हिंदी दिवस पर भाषण हिंदी में
(14 September Hindi Diwas Speech In Hindi)

भाषण की शुरुआत में क्या बोलें?

आदरणीय प्रधानाध्यापक जी को, सभी अध्यापकों को, आज के हमारे मुख्य अतिथियों को, निर्णायक मंडल को, आयोजकों को और मेरे सभी मित्रों को प्यार भरा मेरा प्रणाम। सबसे पहले मैं आप सभी का आभार प्रकट करना चाहता हूं कि आपने मुझे आज इस मंच पर अपने विचार साझा करने के लायक समझा। और मुझे से भाषण देने का अवसर दिया। मेरा नाम ______ है और मैं कक्षा _____ का छात्र हूं। हिंदी मेरा प्रिय विषय है और आज हिंदी दिवस के अवसर पर मैं अपने कुछ विचार आपके सामने रखूंगा और कोशिश करूंगा कि आपका ज़्यादा समय न लेते हुए अपनी बात को स्पष्ट रूप से विस्तार पूर्वक कह सकूं। मैं आप सभी से भी उम्मीद करता हूं कि मुझे सुनने में आप भी मेरा पूरा साथ देंगे। दोस्तों यह किसी भी भाषण का इंट्रों होता है, इसमें विषय बदलते हैं, सभी कि शुरुआत इसी प्रकार की जाती है।

ये भी पढ़ें : १ से १०० तक हिन्दी में गिनती सीखे –

भाषण में क्या बोलें?

आज विशेष दिन हम सभी भारतीयों और हिन्दी प्रेमियों के लिए बेहद की खास है। क्योंकि, आज हिंदुस्तान के साथ पूरी दुनिया में हिन्दी दिवस मनाया जा रहा है। हिन्दी दिवस मनाने की शुरुआत के पीछे यह उद्देश्य है कि, दुनिया में हिन्दी भाषा को सम्मान और बढ़ाव मिल सके। आज पूरी दुनिया में छः हजार से भी ज़्यादा भाषाएं अस्तिव में हैं, और न जानें कितनी क्षेत्रिय भाषाएं लोगों के द्वारा बोली जाती है। उन सभी अनगिनत भाषाओं और बोलियों में से एक भाषा हिन्दी भी है। हिन्दी भारत की नहीं बल्कि पूरी दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी बोली जाने वाली भाषा है। हिंदी भाषा का इस्तेमाल आज सर्वाधिक आबादी द्वारा किया जा रहा है। अन्य दूसरी भाषाओं के मुकाबले में हिंदी सबसे सरल भाषा है जिसे कोई भी आसानी से पढ़ सकता है, समझ सकता है, सीख सकता है, बोल सकता है और लिख सकता है।

भारत की 70 प्रतिशत आबादी हिंदी बोलती है। 14 सितम्बर सन् 1949 को हिन्दी भाषा को हमारे देश में ‘राजभाषा’ का दर्जा मिला था। हिन्दी भाषा को हिन्दुस्तान की जननी भी कहते हैं। आज देश के कोने-कोने में हिन्दी भाषा का उपयोग लोगों द्वारा किया जाता है। आम बोलचाल के साथ-साथ छोटे-बड़े कामों में, कार्यक्रमों में, भाषणों में, समाचार पत्रों में, सरकारी कामकाज में, शिक्षा में, मनोरंजन आदि कई क्षेत्रों में हिन्दी भाषा को अधिक महत्व दिया जा रहा है। हिन्दी भाषा के कारण ही आजादी के 200 साल बाद भी भारत एकता के सूत्र में बंधा हुआ है। आज देश का हर नागरिक फिर चाहे वह किसी भी धर्म, समुदाय या जाति का हो, हिंदी भाषा का इस्तेमाल पूरे सम्मान के साथ कर रहा है।

हमारे देश की एकता में हिन्दी का महत्त्वपूर्ण योगदान है। हमें समाज के लोगों से बातचीत करने के लिए और संचार करने के लिए किसी एक विशेष भाषा या बोली की ज़रूरत होती है। हम सभी के जीवन में भाषा बहुत ही महत्त्वपूर्ण है। हम जिस किसी भी भाषा या बोली में बातचीत करते हैं, हमें उस भाषा का ज्ञान होना भी बहुत ज़रूरी है। भाषा के जरिए ही समाज में एक-दूसरे से विचारों का आदान-प्रदान किया जाता है। यदि आज हम अपने विचारों को आपस में साझा करने के लिए हिंदी भाषा का ज़्यादा से ज़्यादा प्रयोग करें, तो हमारा समाज और भी मजबूती के साथ एकता के सूत्र में बंध सकता है।

आज हम देख रहे हैं कि हमारे देश के स्कूलों और शिक्षण संस्थानों में भी हिन्दी का इस्तेमाल किया जा रहा है। स्कूल का सिलेबस हो या प्रश्न पत्र, अंग्रेजी के साथ-साथ हिन्दी को भी वरीयता दी जा रही है। धीरे-धीरे सभी पाठ्यक्रमों में हिन्दी को अनिवार्य किया जा रहा है। इतना ही नहीं, अब तो सभी संस्थानों, कार्यालयों, सरकारी आफिसों आदि सभी जगहों पर हिन्दी भाषा के प्रयोग पर ज़ोर दिया जा रहा है। इसके अलावा हिंदी समाचार पत्र, हिंदी पत्रिकाएं, हिंदी न्यूज़ चैनल भी हिंदी भाषा को बढ़ावा देने में अहम भूमिका निभा रहे हैं। हिंदी फिल्म जगत के क्षेत्र में भी हिंदी का वर्चस्व बढ़ा हुआ नज़र आ रहा है। हिन्दी भारत ही नहीं बल्कि विदेश में भी कामयाबी की तरफ अपने कदम बढ़ा रही है।

हमें इस बात पर भी गौर करना होगा कि हमारे देश के विकास के लिए एक राष्ट्र एक भाषा यानी कि एक राष्ट्रभाषा का होना बहुत ज़रूरी है। भारत के विकास में आज़ादी से पहले, आज़ादी के दौरान और आज़ादी के बाद हिन्दी भाषा का योगदान सर्वोच्च रहा है। हिन्दी से ही हमारे समाज और हमारे देश का निर्माण हुआ है। हिन्दी हमारे देश की राष्ट्रभाषा न सही लेकिन राजभाषा ज़रूर है, जिसपर हमें हमेशा गर्व होना चाहिए। हिन्दी हमारे देश का गौरव है और हम सभी देशवासियों को इसे बरकरार रखने में कदम से कदम मिलाकर चलना होगा।

भाषण के समापन में क्या बोलें?

हिन्दी हमारे देश की आन, बान और शान है। हिंदी हम हिंदुस्तानियों की मातृ भाषा है, जो हर देशवासी के दिल पर राज करती है। शायद यही कारण है कि, हिंदी भाषा का कोई माेल नहीं है। इन्हीं विचारों के साथ अब मैं अपनी वाणी को यहीं पर विराम देना चाहूंगा। आशा करता हूं कि आपको मेरे विचार ज़रूर पसंद आए होंगे। मेरी ओर से आप सभी को हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं। आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

हिंदी दिवस पर 10 लाइनें

1. हिंदी भारत की मातृभाषा है।

2. प्रतिवर्ष राष्ट्रीय हिंदी दिवस 14 सितंबर को और विश्व हिंदी दिवस 10 जनवरी को मनाया जाता है।

3. 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा ने देवनागरी लिपि में लिखी हिन्दी को राष्ट्र की आधिकारिक भाषा के तौर पर स्वीकार किया।

4. पहला आधिकारिक हिन्दी दिवस 14 सितंबर सन् 1953 को मनाया गया था।

5. पंडित जवाहरलाल नेहरू ने हर साल 14 सितंबर को हिन्दी दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया।

6. हिंदी को सम्मान देने के उद्देश्य से पूरे देश में हिंदी दिवस मनाया जाता है।

7. इस दिन हिंदी साहित्यिक कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं जैसे हिंदी कहानी प्रतियोगिता, हिंदी कवि सम्मेलन आदि।

8. हिन्दी दुनिया में बोली जाने वाली भाषाओं में तीसरे नंबर पर है।

9. हिंदी दिवस ऐसे लोगों को जगाने का प्रयास है जो अंग्रेजी को ज्यादा अहमियत देते हैं।

10. हमें अपनी मातृभाषा यानी हिंदी भाषा में बोलने में गर्व महसूस करना चाहिए।

हाथ पर छिपकली गिरने से क्या होता है ? दूध गिरने से क्या होता है ?
Period में Lip Kiss करने से क्या होता है 100+मसालों के नाम चित्र सहित?
जानवरों के नाम | List of Animals  ENO पीने के फायदे और नुकसान
ताड़ी पीने से क्या होता है   मासिक धर्म स्वच्छता के नारे, सन्देश 
पैर में काला धागा बांधने से क्या होता हैं. सल्फास का यूज़ कैसे करें, खाने के नुकसान
 चुना खाने से क्या होता है  लड़कों के बाल जल्दी बढ़ाने के 21 उपाय
गुल खाने से क्या होता है  1 से 100 तक गिनती हिंदी में, जानें यहां पर

हिंदी दिवस से जुड़े अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ’s)

People also ask

प्रश्न- हिंदी दिवस पर भाषण कैसे दे?

उत्तरः हिंदी दिवस पर भाषण देने के लिए सबसे पहले अपने शब्दों और विचारों के साथ भाषण को लिख लें। बाद में भाषण को अच्छे से पढ़कर बोलने का अभ्यास करें।

प्रश्न- हिंदी दिवस का महत्व क्या है?

उत्तरः हिंदी दिवस का महत्व हमें बताता है कि हिंदी हिंदुस्तान के सम्मान की भाषा है, जिसपर हर भारतवासी को गर्व होना चाहिए।

प्रश्न- हिंदी दिवस क्यों मनाते हैं अपने शब्दों में लिखिए?

उत्तरः हिंदी दिवस इसलिए मनाते हैं क्योंकि 14 सितंबर 1949 को हिंदी को हमारे देश की राजभाषा का दर्जा मिला था। इसके अलावा हिंदी हमारी मातृभाषा भी है, इसलिए हिंदी के प्रचार-प्रसार को बढ़ावा देने के लिए भी हिंदी दिवस मनाया जाता है।

प्रश्न- हिंदी में भाषण कैसे लिखा जाता है?

उत्तरः हिंदी में भाषण लिखने के लिए आपको सबसे पहले उसकी एक रूपरेखा तैयारी करनी चाहिए। उसके बाद आप जिस भी विषय पर हिंदी में भाषण लिखना चाहते हैं, आपको उसकी अच्छी जानकारी होनी चाहिए। इसके अलावा हिंदी में भाषण लिखने के लिए आपकी हिंदी भाषा में भी अच्छी पकड़ होनी चाहिए।

newsmug.in की तरफ से आप सभी को “हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं”।

अन्य विषयों पर बेहतरीन लेख पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें
इसे भी पढ़े :

KAMLESH VERMA

बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है.

Related Articles

DMCA.com Protection Status
सवाल जवाब शायरी- पढ़िए सीकर की पायल ने जीता बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड सफल लोगों की अच्छी आदतें, जानें आलस क्यों आता हैं, जानिएं इसका कारण आम खाने के जबरदस्त फायदे Best Aansoo Shayari – पढ़िए शायरी