Hindiसेहत

शिवलिंग पर चढ़ा हुआ बेलपत्र खाने से क्या होता है – 5 चमत्कारी फायदे जानिएं

शिवलिंग पर चढ़ा हुआ बेलपत्र खाने से क्या होता है – 5 चमत्कारी फायदे जानिएं | Shivling Par Chada Hua Belpatr Khane Se Kya Hota Hai

शिवलिंग पर चढ़ा हुआ बेलपत्र खाने से क्या होता है – 5 आश्चर्यजनक फायदे जाने – सनातन संस्कृति में बेलपत्र को एक पवित्र वृक्ष की श्रेणी में रखा गया हैं। पुरातन समय से ही शिवलिंग की पूजा के दौरान बेलपत्र चढ़ाने का नियम है। पौराणिक मान्यता है की शिवलिंग पर बेलपत्र चढ़ाने से भगवान शिव जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं। इतना ही नहीं बेलपत्र भगवान शिव का प्रिय माना जाता हैं। इसलिए युगों- युगातंर से शिवलिंग पर बेलपत्र चढ़ाने का नियम हैं।

 

shivling-par-chada-hua-belpatr-khane-se-kya-hota-hai
Shivling Par Chada Hua Belpatr Khane Se Kya Hota Hai

 

बेलपत्र पवित्र होने के साथ साथ काफी सारे औषधीय गुणों से भरपूर है। इसके खाने से हमें काफी सारे स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं। शिवलिंग पर चढ़ाए गए बेलपत्र को खाने से होने वाले स्वास्थ्य लाभ के बारे में इस रोचक आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले हैं। इसलिए इस महत्वपूर्ण जानकारी को पाने के लिए आज का हमारा यह पोस्ट शुरू से लेकर अंत तक जरुर पढ़े।

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के जरिए बताने वाले है की शिवलिंग पर चढ़ा हुआ बेलपत्र खाने से क्या होता है इसके अलावा इस टॉपिक से जुड़ी अन्य और भी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं। तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं।

शिवलिंग पर चढ़ा हुआ बेलपत्र खाने से क्या होता है | Shivling Par Chada Hua Belpatr Khane Se Kya Hota Hai

शिवलिंग पर चढ़ा हुआ बेलपत्र खाने से हमारे स्वास्थ्य को काफी सारा लाभ मिलता हैं। जिसके बारे में हमने नीचे की ओर विस्तार पूर्वक जानकारी प्रदान की जा रही है।

इम्युनिट बढाने में फायदेमंद

शिवलिंग पर चढ़ा हुआ बेलपत्र खाने से मनुष्य की इम्युनिटी पावर मजबूत होती हैं। यदि आप बार बार किसी भी छोटी मोटी बीमारी की चपेट में आ रहे हैं, तो आपको सुबह के समय भगवान शिव के शिवलिंग पर चढ़ा हुआ बेलपत्र खाना चाहिए।

यदि आप खाली पेट शिवलिंग पर चढ़ा हुआ बेलपत्र खाते हैं, तो इससे इम्युनिटी पावर मजबूत होगी। आप छोटी मोटी जैसे की सर्दी, जुकाम आदि बीमारी से बचे रहते हैं।

पेट से जुडी समस्या में फायदेमंद

दोस्तों यदि आपको पेट से जुड़ी कोई विकार है। जैसे की गैस, कब्ज, अपच, पेट दर्द, एसिडिटी आदि की परेशानी हैं, तो ऐसे में आपको सुबह के समय खाली पेट शिवलिंग पर चढ़ाया गया बेलपत्र खाना चाहिए। बेलपत्र औषधीय गुणों से भरपूर होता हैं, जो हमारे पाचन तंत्र को मजबूत करता है।

दिल को स्वस्थ रखने में फायदेमंद

दिल हमारे शरीर का महत्वपूर्ण अंग माना जाता हैं। इसलिए दिल को स्वस्थ रखना किसी भी इंसान के लिए बहुत ही जरूरी हो जाता हैं। दिल को स्वस्थ रखने के लिए और दिल से जुड़े विकारों को दूर करने के लिए बेलपत्र खाना चाहिए।

यदि आप सुबह खाली पेट शिवलिंग पर चढ़ा हुआ बेलपत्र खाते है, तो इससे आपको दिल से जुड़ी बीमारी से छुटकारा मिलता हैं। साथ साथ आपका दिल स्वस्थ रखने भी मददगार साबित होता है।

शरीर को ठंडा रखने में फायदेमंद

दोस्तों यदि आपका शरीर हमेशा गर्म रहता हैं, या फिर आपके शरीर की तासीर गर्म हैं। तो ऐसे में आपको बेलपत्र का सेवन जरूर करना चाहिए। कारण बेलपत्र की तासीर ठंडी होती हैं। यह हमारे शरीर का तापमान नियंत्रित करती है।

यदि आप सुबह उठकर खाली पेट शिवलिंग पर चढ़ा हुआ बेलपत्र खाते हैं। तो इससे आपका शरीर पूरे दिन ठंडा रहता हैं। इतना ही नहीं आपको गर्मी का काफी कम अहसास होता हैं। गर्मी के मौसम से बेलपत्र खाना काफी सुखद होता हैं।

ब्लड शुगर लेवल में फायदेमंद

यदि आप डायबिटीज के मरीज हैं। आपका ब्लड शुगर लेवल हाई रहता हैं। ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रण में रखने के लिए बेलपत्र काफी मददगार साबित होता है। यदि आप सुबह उठकर रोजाना खाली पेट शिवलिंग पर चढ़ा हुआ बेलपत्र खाते हैं, तो इससे आपको डायबिटीज की बीमारी में काफी हद तक राहत मिलती हैं।

शिवलिंग पर क्या नहीं चढ़ाना चाहिए

कुछ पुरानी मान्यताओं के अनुसार नीचे दी गई कुछ वस्तुओ को शिवलिंग पर नही चढ़ाना चाहिए.

  • फुल अगर आप केतकी का फुल शिवलिंग पर चढाते हैं। तो यह अच्छा नहीं माना जाता हैं। केतकी का फुल कभी भी शिवलिंग पर नही चढ़ाना चाहिए।
  • हल्दी शिवलिंग पर नही चढ़ाना चाहिए। ऐसा माना जाता है की हल्दी माता लक्ष्मी का स्वरूप हैं. इसलिए शिवलिंग पर हल्दी चढ़ाना वर्जित माना जाता हैं।
  • रोली और कुमकुम भी शिवलिंग पर नही चढ़ाना चाहिए। यह विष्णुप्रिय लक्ष्मी का सुहाग का प्रतीक माना जाता हैं। इसलिए शिवलिंग पर रोली और कुमकुम चढाने से भी बचना चाहिए।
  • शिवलिंग पर तुलसी कभी भी नही चढ़ाना चाहिए। कारण तुलसी भगवान विष्णु की पत्नी मानी जाती हैं। इसलिए शिवलिंग पर तुलसी चढाने से भी बचना चाहिए।

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया है शिवलिंग पर चढ़ा हुआ बेलपत्र खाने से क्या होता हैइसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान की हैं।

हमें पूरा विश्वास है कि, आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा। यदि उपयोगी साबित हुआ हैं, तो आगे जरुर शेयर करे. ताकि अन्य लोगो तक भी यह महत्वपूर्ण जानकारी पहुंच सके।

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह शिवलिंग पर चढ़ा हुआ बेलपत्र खाने से क्या होता है आर्टिकल अच्छा लगा होगा।

इसे भी पढ़े :

KAMLESH VERMA

दैनिक भास्कर और पत्रिका जैसे राष्ट्रीय अखबार में बतौर रिपोर्टर सात वर्ष का अनुभव रखने वाले कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है. कमलेश वर्तमान में साऊदी अरब से लौटे हैं। खाड़ी देश से संबंधित मदद के लिए इनसे संपर्क किया जा सकता हैं।

Related Articles

DMCA.com Protection Status
पान का इतिहास | History of Paan महा शिवरात्रि शायरी स्टेटस | Maha Shivratri Shayari सवाल जवाब शायरी- पढ़िए सीकर की पायल ने जीता बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड सफल लोगों की अच्छी आदतें, जानें आलस क्यों आता हैं, जानिएं इसका कारण आम खाने के जबरदस्त फायदे Best Aansoo Shayari – पढ़िए शायरी