https://bit.ly/CricazaSK
https://bit.ly/CricazaSK
https://bit.ly/CricazaSK
Education

संज्ञा किसे कहते हैं – परिभाषा, भेद एवं उदाहरण

संज्ञा किसे कहते हैं – परिभाषा, भेद एवं उदाहरण | Sangya Kise Kahate Hain

भारतीय पाठ्यक्रम में प्राथमिक कक्षाओं में सबसे पहले संज्ञा को पढ़ाया जाता है। यही हिंदी की नींव होती है। यह बच्चों को सजीव और निर्जीव वस्तुओं में अंतर करना सीखाती है। पोस्ट के जरिए आज हम संज्ञा के बारे में संपूर्ण जानकारी हासिल करेंगे। पोस्ट में संज्ञा को बहुत ही सरल शब्दों में समझाया गया है, ताकि इसे पढ़कर आप संज्ञा की परिभाषा, भेद एवं उदाहरण को समझ सकें।

संज्ञा (Sangya)

Table of Contents

संज्ञा (Sangya) हिंदी व्याकरण का बहुत ही महत्वपूर्ण अध्याय हैं, कारण हिंदी व्याकरण के करीब-करीब सभी अध्याय में संज्ञा की अहम भूमिका रहती है। संज्ञा विशेष रूप से एक विकारी शब्द है, जिसका अर्थ नाम होता है। इस सृष्टि पर मौजूद प्रत्येक वस्तु या व्यक्ति का नाम संज्ञा होता है। इस लेख में हम संज्ञा के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी हासिल करेंगे हैं। अतः लेख को शुरू से लेकर अंत तक ध्यान पूर्वक पढ़ें।

संज्ञा किसे कहते हैं (Sangya Kise Kahate Hain)

संज्ञा की परिभाषा (Sangya Definition in Hindi): किसी व्यक्ति, वस्तु, प्राणी, गुण, भाव या स्थान के नाम के घोतक शब्द को संज्ञा (Sangya) कहते हैं। संज्ञा (Sangya) का अर्थ नाम होता है, क्योंकि संज्ञा किसी व्यक्ति, वस्तु, प्राणी, गुण, भाव या स्थान के नाम को दर्शाती है। संज्ञा एक विकारी शब्द है।

```
```

संज्ञा शब्द का प्रयोग किसी वस्तु, प्राणी, व्यक्ति, गुण, भाव या स्थान के लिए नहीं किया जाता, बल्कि किसी वस्तु, व्यक्ति, प्राणी, गुण, भाव या स्थान के “नाम” के लिए किया जाता है। जैसे:- किशाेर जाता है। इसमें किशाेर नामक व्यक्ति संज्ञा नहीं है, बल्कि उस व्यक्ति का नाम “किशाेर” संज्ञा है।

sangya-kise-kahate-hain
Sangya Kise Kahate Hain

संज्ञा के उदाहरण (Sangya Ke Udahran)

  • व्यक्ति का नाम – मुकेश, प्रणव, संदीप शर्मा, दिनेश पोरवाल, विवेक, रिषभ
  • वस्तु का नाम –  कलम, डंडा, चारपाई, मटका, हैंडपंप
  • गुण का नाम –  सुन्दरता, ईमानदारी, बेईमानी, चालाकी
  • भाव का नाम – प्रेम, ग़ुस्सा, आश्चर्य, दया, करूणा, क्रोध
  • स्थान का नाम – आगरा, दिल्ली, जयपुर, मुंबई, बैंगलौर

संज्ञा शब्द (Sangya Shabd)

बता दें कि, किसी भी व्यक्ति, वस्तु, प्राणी के नाम को दर्शाने वाले शब्द को संज्ञा शब्द कहते हैं।

संज्ञा शब्द के उदाहरण

  1. मोहन
  2. कलम
  3. जयपुर
  4. चारपाई
  5. बैलगाड़ी
  6. प्रेम
  7. गुस्सा
  8. दया
  9. क्रोध
  10. कार

संज्ञा के भेद (Sangya Ke Bhed)

संज्ञा के पांच भेद होते हैं।

  • व्यक्तिवाचक संज्ञा – Vyakti Vachak Sangya
  • जातिवाचक संज्ञा – Jativachak Sangya
  • भाववाचक संज्ञा – Bhav vachak Sangya
  • समूहवाचक संज्ञा – Samuh Vachak Sangya
  • द्रव्यवाचक संज्ञा – Dravya Vachak Sangya

व्यक्तिवाचक संज्ञा किसे कहते हैं – Vyakti Vachak Sangya Kise Kahate Hain

किसी व्यक्ति विशेष, स्थान विशेष और किसी वस्तु विशेष के नाम के घोतक शब्द को व्यक्तिवाचक संज्ञा कहते हैं। उदाहरण के तौर पर समझे तो जैसे- मोहन या नागपुर, यहाँ मोहन नाम प्रत्येक व्यक्ति का नाम नहीं हो सकता, किसी एक का ही होगा। नागपुर देश या दुनिया के प्रत्येक शहर का नाम नहीं हो सकता। व्यक्तिवाचक संज्ञा शब्द सदैव एक वचन में ही प्रयुक्त होते हैं. इनका बहुवचन जातिवाचक संज्ञा शब्द बन जाता है. जैसे: जयचंद – चयचंदों, अशोक – अशोकों आदि. व्यक्तिवाचक संज्ञा में हम जिस व्यक्ति, वस्तु या स्थान कि बात कर रहे होते हैं, वो इकलौता होता है।

यदि कोई जातिवाचक संज्ञा शब्द किसी वाक्य में व्यक्ति विशेष को प्रकट करने लगे तो वहाँ उसमें व्यक्तिवाचक संज्ञा होगी, न की जातिवाचक संज्ञा. जैसे:

  • शास्त्री – शास्त्री जी एक ईमानदार प्रधानमंत्री थे।
  • मोदी – मोदी जी भारत के प्रधानमंत्री हैं।
  • गाँधी – गाँधी जी के नेतृत्व में गुलाम भारत को आज़ादी मिली थी।
  • नेताजी – नेताजी बोस की मृत्यु आज तक एक रहस्य है।
  • पंडित जी – पंडित जी भारत के प्रथम प्रधानमंत्री थे।

औपचारिक पत्र लेखन, उदाहरण और प्रकार | Formal Letter Meaning, Type and example in Hindi

व्यक्तिवाचक संज्ञा के उदाहरण

  • प्रिया गाती है।
  • मुकेश मेरा दुश्मन है.
  • विराट कोहली एक महान बल्लेबाज है.
  • दिल्ली में कमल मंदिर है.
  • दिल्ली भारत की राजधानी है।
  • मैं नागपुर में रहता हूँ.
  • विकास का कुत्ता मर गया.
  • किशोर की भैंस भाग गई.
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विदेश गए.

लैंडमार्क के बारे में विस्तृत जानकारी हासिल करने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें-

जातिवाचक संज्ञा किसे कहते हैं – Jativachak Sangya Kise Kahate Hain

किसी व्यक्ति विशेष, स्थान विशेष और किसी वस्तु विशेष की जाति बताने वाले शब्द को जातिवाचक संज्ञा कहते हैं। जैसे: पशु, कवि, कुत्ता, बिल्ली, नदी, पहाड़, महासागर, महाद्वीप इत्यादि. यदि किसी विशेषण शब्द तथा क्रियावाचक शब्द को ओकारान्त बहुवचन में लिख दिया जाता है तो उसे जातिवाचक शब्द माना जाता है. जैसे: छोटा का छोटों, बड़ा का बड़ों आदि.

  • शेर, गाय, ऊंट, हाथी और खरगोश सभी अलग-अलग हैं, लेकिन इन सभी को एक जाति से संबोधित किया जा सकता है और उस जाति का नाम “जानवर” है।
  • यहाँ जानवर शब्द किसी एक विशेष जानवर के बारे में नहीं बता रहा है क्योंकि जानवर शब्द से किसी एक जानवर के बारे में पता चलने के बजाय संपूर्ण जाति (जानवर) के बारे में पता चलता है। अतः “जानवर” जातिवाचक संज्ञा है। इसी प्रकार शहर, बालक, गाँव आदि जातिवाचक संज्ञा है।

जातिवाचक संज्ञा के उदाहरण – Jativachak Sangya Ke Udaharan

  • महिलाएँ शहर जा रही हैं.
  • बिल्ली चूहे का शिकार करती है.
  • पक्षी पेड़ पर रहते हैं.
  • मानव सबसे बुद्धिमान होते हैं.
  • हाथी विशाल जीव है.

जाति वाचक संज्ञा के बारे में विस्तृत जानकारी हासिल करने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें-

भाववाचक संज्ञा किसे कहते हैं – Bhav vachak Sangya Kise Kahate Hain

किसी भाव, गुण, दशा और अवस्था का ज्ञान करवाने वाले शब्द को भाववाचक संज्ञा कहते हैं। जैसे: क्रोध, प्रसन्नता, प्रेम, आश्चर्य, लालच, जवानी इत्यादि. भाववाचक संज्ञा शब्द सदैव एक वचन में ही प्रयुक्त होते हैं. इनका बहुवचन जातिवाचक संज्ञा का बोध करवाता है. जैसे: दूरी – दूरियाँ, चोरी – चोरियाँ आदि. भाववाचक संज्ञा शब्दों का निर्माण किसी जातिवाचक संज्ञा / सर्वनाम / विशेषण / क्रिया या अव्यय शब्दों में प्रत्यय जुड़ने से होता है.

भाववाचक संज्ञा के उदाहरण – Bhav Vachak Sangya Ke Udaharan

  • क्रोध, प्रसन्नता, प्रेम, आश्चर्य – यहाँ शब्द भाव का बोध करवा रहे हैं। अतः क्रोध, प्रसन्नता, प्रेम एवं आश्चर्य भाववाचक संज्ञा हैं।
  • सुन्दरता, ईमानदारी – यहाँ दोनों शब्द गुण को दर्शाते हैं। अतः सुन्दरता एवं ईमानदारी भाववाचक संज्ञा हैं।
  • बुढ़ापा, बचपन, सुख – यहाँ शब्द अवस्था को दर्शाते हैं। अतः बुढ़ापा, बचपन एवं सुख भाववाचक संज्ञा हैं।

जातिवाचक संज्ञा से भाववाचक संज्ञा बनाना

 
जातिवाचक संज्ञा + प्रत्यय भाववाचक संज्ञा
बच्चा + पन बचपन
युवा + अन यौवन
बालक + पन बालकपन
मित्र + ता मित्रता
पुरुष + अ पौरुष
स्त्री + त्व स्त्रीत्व
 

सर्वनाम शब्दों से भाववाचक संज्ञा बनाना

 
सर्वनाम शब्द + प्रत्यय भाववाचक संज्ञा
अपना + पन अपनापन
मम + ता ममता
मम + त्व ममत्व
अहम + कार अहंकार
सर्व + स्व सर्वस्व
 

विशेषण से भाववाचक संज्ञा बनाना

विशेषण + प्रत्यय Bhav vachak Sangya
छोटा + पन छुटपन
बड़ा + पन बड़प्पन
सुंदर + ता सुन्दरता
अच्छा + आई अच्छाई
मीठा + आस मिठास

क्रिया से निर्मित भाववाचक संज्ञा

क्रिया शब्द + प्रत्यय Bhav vachak Sangya Shabd
घबरा + आहट घबराहट
मिल + आवट मिलावट
मिल + आप मिलाप
काट + आई कटाई
लिख + आवट लिखावट

स्वतन्त्र भाववाचक संज्ञा शब्द किसे कहते हैं

भाववाचक शब्द संज्ञा / सर्वनाम / विशेषण / क्रिया / अव्यय शब्दों में प्रत्यय जोड़कर बनाए जाते हैं लेकिन कुछ भाववाचक संज्ञा शब्द ऐसे भी होते हैं जिनमें कोई प्रत्यय नहीं जुड़ा होता फिर भी वे शब्द किसी न किसी भाव विशेष को प्रकट करते हैं ऐसे शब्दों को स्वतंत्र भाववाचक संज्ञा शब्द कहते हैं. जैसे: सुख, दुःख, स्नेह, प्रेम, दुलार, नींद, संसार, रोग इत्यादि.

  1. स्वतन्त्र भाववाचक संज्ञा शब्दों में यदि कोई प्रत्यय जोड़ दिया जाए तो बनने वाला शब्द विशेषण शब्द होता है.
स्वतन्त्र भाववाचक संज्ञा शब्द + प्रत्यय विशेषण शब्द
सुख + ई सुखी
दुःख + ई दुखी
प्रेम + ई प्रेमी
प्यार + आ प्यारा
संसार + इक सांसारिक
  1. यदि किसी धातु या क्रिया शब्द में अन / ति / य / अ प्रत्यय जोड़ दिया जाए तो बनने वाला शब्द प्रायः भाववाचक संज्ञा शब्द होता है. जैसे:
धातु + प्रत्यय भाववाचक संज्ञा शब्द
मृ + अन मरण
वि + आ + कृ + अन व्याकरण
सृ + अ सार
भज् + ति भक्ति
खाद् + य खाद्य

भाव वाचक संज्ञा की विस्तृत जानकारी के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें-

समूहवाचक संज्ञा किसे कहते हैं – Samuh Vachak Sangya Kise Kahate Hain

वे संज्ञा शब्द, जो किसी समूह या समुदाय विशेष की स्थिति को प्रकट करते हैं उन्हें समूहवाचक संज्ञा या समुदाय वाचक संज्ञा कहते हैं। जैसे: कक्षा, संसद, भीड़, ढेर, दल, सेना, सभा, परिवार, कक्षा, मेला, सेना, पुलिस इत्यादि. यहाँ सभी शब्द एक समूह का बोध करवाते हैं। अतः संसद, भीड़, ढेर, दल, सेना, सभा, परिवार, कक्षा, मेला, सेना, पुलिस आदि समूहवाचक संज्ञा है।

समूहवाचक संज्ञा के उदाहरण – Samuh Vachak Sangya Ke Udaharan

  • आज गाँव में सभा है.
  • कल संसद में बहुत बहस होगी.
  • हम सभी मेला घुमने गए थे.
  • भीड़ ने दस लोगों को कुचल दिया.
  • भारतीय सेना विश्व की सबसे ताकतवर सेना है.

द्रव्यवाचक संज्ञा किसे कहते हैं – Dravya Vachak Sangya Kise Kahate Hain

किसी द्रव्य, पदार्थ, धातु तथा अधातु का बोध करवाने वाले शब्द को द्रव्यवाचक संज्ञा कहते हैं।

  • ठोस अवस्था – सोना, चाँदी, लोहा आदि शब्द अलग-अलग धातु को दर्शाते हैं। अतः सोना, चाँदी, लोहा द्रव्यवाचक संज्ञा है।
  • द्रव अवस्था – पानी, दूध आदि शब्द द्रव को दर्शाते हैं। अतः पानी, दूध द्रव्यवाचक संज्ञा है।
  • गैस अवस्था – ऑक्सीजन, हाइड्रोजन, नाइट्रोजन इत्यादि.

द्रव्यवाचक संज्ञा के उदाहरण – Dravya Vachak Sangya Ke Udaharan

  • महेश को पानी पीना है.
  • आजकल सोना बहुत महँगा हो गया है.
  • गाय का दूध मीठा होता है.
  • ऑक्सीजन जीवन के लिए ज़रूरी है.
  • लोहे में जंग लग गई.

ज़रूरी बात

कभी-कभी ऐसा होता है कि किसी वाक्य में कोई शब्द संज्ञा के एक भेद को दर्शाता है, जबकि अन्य किसी वाक्य में वही शब्द संज्ञा के दूसरे भेद को दर्शाता है।

जैसे:-

  • देश का प्रत्येक परिवार खुशहाल है। इस वाक्य में यदि हम “परिवार” की संज्ञा देखें तो, समूहवाचक संज्ञा होनी चाहिए क्योंकि “परिवार” शब्द समूह का बोध करवाता है, लेकिन यहाँ “परिवार” जातिवाचक संज्ञा को दर्शाता है। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि इस वाक्य में “परिवार” शब्द संपूर्ण देश के परिवारों को दर्शा रहा है।
  • अतः किसी शब्द की संज्ञा का निर्धारण करते समय हमें उस शब्द के वाक्य में प्रयोग पर ध्यान देना होगा। हमें यह देखना होगा कि शब्द वाक्य में क्या दर्शा रहा है, न कि परिभाषाएं रट कर किसी शब्द की संज्ञा का निर्धारण करना है।
  • जब किसी एक ही नाम के अनेक व्यक्तियों का बोध करवाया जाता है तो, वहां व्यक्तिवाचक संज्ञा जातिवाचक संज्ञा में बदल जाती है।

निष्कर्ष (Conclusion)

इस लेख में हमने आपको संज्ञा के बारे में बताया। इस लेख में आपने जाना कि संज्ञा किसे कहते हैं, संज्ञा के कितने भेद हैं (Sangya Ke Kitne Bhed Hai) और संज्ञा के सभी भेदों (Types of Sangya) के बारे में।

हम उम्मीद करते हैं कि हमारा यह प्रयास सफल रहा है। धन्यवाद।

 45+रिटायरमेंट पर अनमोल विचार 70+Best Motivational Quotes
Kiss करने से क्या होता है हिंदी लोक में खोजें हिंदी की दुनिया
Best 100+ ऐटिटूड शायरी  शोक पत्र का नमूना
 LIC FULL FORM IN HINDI   श्री रामचंद्र कृपालु भजनं : श्री राम स्तुति 
गहरे शोक संदेश और मैसेज 90+ श्रद्धांजलि संदेश हिंदी में
  CID का फुल फार्म क्या है ?   LLB Full Form in Hindi 
AD Full Form in Hindi Manforce खाने से क्या होता है

FAQs

संज्ञा किसे कहते हैं?

किसी व्यक्ति, वस्तु, प्राणी, गुण, भाव या स्थान के नाम के घोतक शब्द को संज्ञा कहते हैं।

संज्ञा के कितने भेद हैं?

संज्ञा के पाँच भेद होते हैं।

https://news.google.com/publications/CAAqBwgKML63lwswseCuAw?hl=en-IN&gl=IN&ceid=IN:en

KAMLESH VERMA

बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है.

Related Articles

Back to top button
DMCA.com Protection Status
सवाल जवाब शायरी- पढ़िए सीकर की पायल ने जीता बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड सफल लोगों की अच्छी आदतें, जानें आलस क्यों आता हैं, जानिएं इसका कारण आम खाने के जबरदस्त फायदे Best Aansoo Shayari – पढ़िए शायरी