हिंदी लोकNews

दैनिक जीवन में पहने जाने वाले वस्त्रों के नाम संस्कृत में | Daily Clothes Name In Sanskrit

दैनिक जीवन में पहने जाने वाले वस्त्रों के नाम संस्कृत में | Daily Clothes Name In Sanskrit and Hindi

आधुनिक युग के साथ ही संस्कृत भाषा की लोकप्रियता में बढ़ोतरी हो रही है. पैतृक भाषा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से कई विद्यालयों व विश्विद्यालयों में संस्कृत भाषा की कक्षाएं लगाई जा रही है. आज हम इस लेख के जरिए आपको बता रहे है उन वस्त्रों के नाम संस्कृत में जिन्हें आप दैनिक जीवन में पहनते है. आज कल बच्चों को विद्यालय द्वारा ऐसे गृह कार्य दिए जा रहे है जैसे संस्कृत में वस्तुओं के नाम, संस्कृत में लड़का व लड़कियों के नाम, संस्कृत में रोगों के नाम, संस्कृत में अंगों के नाम, संस्कृत में बर्तनों के नाम आदि.

clothes-name-in-sanskrit

वस्त्र पहनने का चलन आरंभिक काल से ही रहा है. जब से इंसान ने यह जाना कि वस्त्र को सिर्फ शरीर ढ़कने के लिए ही नहीं बल्कि मौसम की मार से बचने के लिए पहना जा सकता है. तभी से वस्त्र की उपयोगिता एवं महत्व को सबसे ऊपर रखा गया है. साथ ही साथ आजकल फैशन के लिए वस्त्रों को स्टाइलिश अंदाज में लोगों के सामने प्रस्तुत किया जा रहा है. मॉडर्न जमाने में लोगों ने कपड़े को एक नई पहचान दी है जिसमें वेस्टर्न ड्रेसेस, इंडो वेस्टर्न ड्रेसेस एवं इंडियन ड्रेसेस शामिल है.

आइए जानते हैं संस्कृत भाषा में वस्त्रों को किस नाम से जाना जाता है:-

वस्त्रों के नाम संस्कृत में वो भी अर्थ सहित | Clothes Name In Sanskrit and Hindi

वस्त्रों के संस्कृत नाम वस्त्रों के हिंदी नाम
कंचुक: कुर्ता
शिरस्त्राणम् टोपी
उत्तरीय वस्त्रम् दुपट्टा
अधोवस्त्रम् धोती
पायदान: पाजामा
कंचुलिका ब्लाउज
कौशेयम् रेशमी
कौपीनम् लंगोटी
उष्णीषम् पगड़ी
शाटिका साड़ी
प्रवारकम् शेरवानी
अंगप्रोक्षणम् अंगोछा
जघन वस्त्रम् जांघिया
गत्रमार्जनी तोलिया
आप्रपदीनम् पैंट
अंतरीयम् पेटिकोट
करवस्त्रम् रुमाल
वृहतिका ओवरकोट
प्रावर: कोट
तूलस्त्रस्तर रजाई
प्रच्छद: चादर
और्ण ऊनी कपड़ा

संस्कृत भाषा से संबंधित अन्य लेख :

KAMLESH VERMA

दैनिक भास्कर और पत्रिका जैसे राष्ट्रीय अखबार में बतौर रिपोर्टर सात वर्ष का अनुभव रखने वाले कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है. कमलेश वर्तमान में साऊदी अरब से लौटे हैं। खाड़ी देश से संबंधित मदद के लिए इनसे संपर्क किया जा सकता हैं।

Related Articles

DMCA.com Protection Status
पान का इतिहास | History of Paan महा शिवरात्रि शायरी स्टेटस | Maha Shivratri Shayari सवाल जवाब शायरी- पढ़िए सीकर की पायल ने जीता बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड सफल लोगों की अच्छी आदतें, जानें आलस क्यों आता हैं, जानिएं इसका कारण आम खाने के जबरदस्त फायदे Best Aansoo Shayari – पढ़िए शायरी