पीरियड्स के समय बादाम खाने के फायदे ?

 पीरियड्स के समय बादाम खाने के फायदे ?

Benefits of eating almonds during periods?

पीरियड्स के समय बादाम खाने के फायदे ? Benefits of eating almonds during periods? Badam Khane ke Fayade aur Nuksan

एक महिला के लिए पीरियड्स समय के स्वास्थ्य की चिंता करना आम बात है. ऐसे समय में आपको अपने आहार के बारे में बहुत सावधान रहना चाहिए और यह सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास करना चाहिए कि पीरियड्स के समयम में पोषण की दैनिक खुराक मिले. बादाम महिलाओं के  लिए जरूरी है क्योंकि वे आवश्यक पोषक तत्वों से भरे होते हैं जो एक पीरियड्स के दौरान शरीर से कम हुए रक्त की मात्रा को दोबारा बढ़ाते हैं.

benefits-of-eating-almonds-during-periods
Benefits of eating almonds during periods?

बादाम के प्रकार (Types of Almond)

बादाम को ‘नट्स के राजा’ के रूप में जाना जाता है और यह एक स्वस्थ स्नैक है. इनमें विटामिन, खनिज और असंतृप्त वसा होते हैं. बादाम मूल रूप से दो प्रकार के होते हैं.

मीठे बादाम

ये अपने स्वास्थ्य लाभ के लिए प्रसिद्ध बादाम हैं और दुनिया भर में लगभग हर जगह व्यापक रूप से इसकी खपत होती है. यह प्रोटीन और फाइबर से भरपूर होते हैं.

कड़वे बादाम

इन्हें ‘जंगली बादाम’ के रूप में भी जाना जाता है. ये बादाम खाना पकाने के लिए उपयोग किया जाता है, और इसके कई अन्य औषधीय फायदे हैं. कई लोग इस तरह के बादाम से बचते हैं क्योंकि इसमें एमिग्डालीन की उपस्थिति होती है.

बादाम में पोषक तत्व (Ingredients in Almond)

बादाम एक प्राकृति स्नैक्स है क्योंकि वे प्रोटीन, विटामिन और खनिजों में उच्च हैं. बादाम में लगभग शून्य कोलेस्ट्रॉल होता है, जो कोरोनरी हृदय रोगों को रोक सकता हैं. पीरियड्स के समय महिलाओं को एक एंटीऑक्सिडेंट की जरूरत होती है जो बादाम का सेवन करने पर पूरी होती है।

पीरियड्स के समय बादाम खाने के फायदे ? Benefits of eating almonds during periods?

1. प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देता है. (For the immune system)

महिलाओं  के स्वास्थ्य को तय करने में प्रतिरक्षा शक्ति एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. यदि आप पीरियड्स के समय अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करना चाहती हैं, तो सुनिश्चित करें कि आप बादाम खाएं. क्योंकि बादाम में मौजूद क्षार धातु उनकी प्रतिरक्षा को मजबूत कर सकते हैं. बादाम में एंटीऑक्सीडेंट की मौजूदगी आपके शरीर  में बीमारियों के खतरे को भी कम कर सकती है. चूंकि बादाम विटामिन ई से भरपूर होते हैं, इसलिए इन्हें खाने से कोरोनरी हृदय रोग के खतरे को भी रोका जा सकता है.

2. हड्डियों को मजबूत बनाता है. (To Strength Bones)

कैल्शियम और फास्फोरस जैसे खनिज पीरियड्स के समय में हड्डियों को मजबूत करता हैं. बादाम में फास्फोरस की एक उच्च मात्रा होती है. आहार में बादाम को शामिल करने से उसके दांत और हड्डियां मजबूत होती हैं. इसका नियमित उपयोग पीरियड के दौरान शरीर में रक्त संचार को बनाएं रखता है।

3. स्वस्थ मस्तिष्क विकास के लिए (For Healthy Mind)

बादाम में मौजूद एल-कार्निटाइन और राइबोफ्लेविन मस्तिष्क के विकास को सुनिश्चित करता हैं. ये पोषक तत्व अल्जाइमर रोग को भी रोक सकते हैं. बादाम पीरियड्स के समय आपकी स्मरण शक्ति और एकाग्रता को बेहतर बनाने में भी मदद करता है.

4. ऊर्जा स्तर को बढ़ाने में (To Increase Energy)

बादाम में कॉपर, राइबोफ्लेविन और मैंगनीज की उच्च मात्रा होती है. चय-अपचय की उचित दर बनाए रखने और ऊर्जा प्रदान करने के लिए इनकी आवश्यकता होती है. यदि आप पीरियड्स के समय बेचैन रहती है, तो अपने आहार में बादाम शामिल करें.

5. कैंसर को रोकने में (To Stop Cancer)

बादाम फाइबर से भरपूर होते हैं, इसलिए इनका सेवन कोलन के माध्यम से भोजन के पारित होने को बढ़ावा देने में मदद करेगा. इससे पेट के कैंसर होने की संभावना कम हो सकती हैं.

6. त्वचा की समस्याओं के इलाज में (For Skin Problems)

यदि आपकी त्वचा सूखी हैं, तो पीरियड के समय बादाम खाएं. अधिकांश डॉक्टर महिलाओं को बादाम के तेल का सुझाव देते हैं क्योंकि यह हड्डियों के विकास में मदद करता है और त्वचा को स्वस्थ बना सकता है.

7. कब्ज के इलाज में (For Competition Treatment)

बादाम में उच्च फाइबर सामग्री कब्ज से राहत दे सकती है. बादाम फैटी एसिड, लिनोलेनिक फैटी एसिड और लिनोलियम में समृद्ध हैं, जो सूजन को कम करने में मदद करते हैं.

8. ब्लड प्रेशर को बनाए रखने में (To Control Blood Pressure)

बादाम में पोटेशियम और सोडियम सामग्री काफी अधिक होती है, जो रक्तचाप के उतार-चढ़ाव को रोकने में मदद कर सकती है.

इसे भी पढ़े : टीनेज में कौन-कौन से बदलावों का होता है अनुभव, जानें

KAMLESH VERMA

https://newsmug.in

बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है. कमलेश दैनिक भास्कर और राजस्थान पत्रिका अखबार में सिटी रिपोर्टर पद पर कार्य चुके हैं.

Related post