थायराइड में मूली खाने के फायदे

0
11
thyroid-me-mooli-khane-ke-fayde
फोटो सोर्स : सोशल मीडिया

दोस्तों सर्द मौसम में मूली का सेवन करने से पाचन तंत्र मजबूत होता है. आज हम बात करेंगे थायराइड में मूली ( Thyroid Me Mooli Khane Ke Fayde) खाने से होने वाले फ़ायदों के बारे में. दोस्तों जैसा कि हम सभी जानते है कि सर्द मौसम में हरी सब्जियां बाजार में बहुतायत और कम दामों पर आसानी से उपलब्ध हो जाती है। सर्दी मौसम सेहत बनाने के लिए अनुकूल होता र्है. सर्दियों में सबसे ज्यादा खाए जाने वाली चीजों में से एक है मूली. ज्यादातर लोग मूली को उसके स्वाद की वजह से नहीं खाते, लेकिन बहुत कम लोग इसके फायदे के बारे में जानते हैं. आइए जानते हैं कि थायराइड में मूली ( Thyroid Me Mooli Khane Ke Fayde) खाने से होने वाले फ़ायदों और रोज मूली क्यों खानी चाहिए और ये शरीर को किन-किन बीमारियों से दूर रखती है.

इसे भी पढ़े : चुकंदर के आयुर्वेदिक गुण, खाने के फायदे

thyroid-me-mooli-khane-ke-fayde
फोटो सोर्स : सोशल मीडिया

ब्लड प्रेशर कंट्रोल –

मूली शरीर में पोटेशियम पहुंचाती है जिसकी वजह से ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है. खासतौर से यदि आपको थायराइड और हाइपरटेंशन की शिकायत है तो अपनी डाइट में मूली जरूर शामिल करें. आयुर्वेद के अनुसार मूली रक्त संचार प्रणाली पर ठंडा प्रभाव डालती है.

इम्युनिटी बढ़ाती है –

मूली में उच्च मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है जो थायराइड रोगियों में होने वाले कफ और सर्दी-जुकाम से बचाती है. मूली शरीर के इम्यून सिस्टम को भी बढ़ाने का काम करती है. मूली थायराइड रोगियों के शरीर से सूजन और जलन कम करने के साथ उम्र को बढ़ने से रोकने में भी सहायक है.

यह भी पढ़ें –  नाभि पर हल्दी लगाने के फायदे और स्वास्थ्य लाभ

दिल की बीमारी करें कम –

मूली एंथोसायनिन का बेहद ही अच्छा स्त्रोत माना जाता है, जो कि थायराइड रोगियों की ह्दय गति को सुचारु ढंग से काम कराने में मदद करता है. प्रतिदिन मूली का सेवन करने से हृदय रोगों का खतरा कम होता है. मूली में फोलिक एसिड और फ्लेवोनॉयड्स भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है. मूली थायराइड मरीजों के खून में ऑक्सीजन की आपूर्ति भी बढ़ाती है.

फाइबर से भरपूर –

मूली में फाइबर की प्रचुर मात्रा होती है. जो लोग हर दिन सलाद के रूप में मूली खाते हैं उनके शरीर में कभी भी फाइबर की कमी नहीं होती है. थायराइड से पीड़ित रोगी यदि मूली का नियमित सेवन करें तो फाइबर की वजह से पाचन तंत्र सही ढंग से काम करता है. इसके अलावा मूली लीवर और गाल ब्लैडर को भी सुरक्षित रखने में मदद करता है.

इसे भी पढ़े – तिल और शहद खाने का फायदा और स्वास्थ्य लाभ

रक्त वाहिकाओं को करे मजबूत –

मूली में अच्छी मात्रा में कोलेजन पाया जाता है जो थायराइड रोगियों की रक्त वाहिकाओं को मजबूत बनाता है. इसकी वजह से ऐथिरोस्क्लेरोसिस या धमनियों में रुकावट, जैसी गंभीर बीमारी होने की संभावना बेहद ही कम हो जाती है.

मेटाबॉलिज्म बढ़ाये –

मूली ना केवल पाचन तंत्र के लिए अच्छी होती है, बल्कि ये एसिडिटी, मोटापा, गैस्ट्रिक समस्या और मितली जैसी समस्याओं को भी ठीक करने में मदद गार होती है.थायराइड रोगियों को अक्सर मितली की परेशानी होती है, मूली इस प्रकार की परेशानी में कारगर भूमिका निभाता है.

इसे भी पढ़े : सौंफ के लड्डू प्रेगनेंसी के किस महीने में खाना चाहिए

स्किन के लिए बेहतर –

अक्सर देखने में आता है कि थायराइड से जूझ रही महिलाओं की त्वचा का रंग उड़ जाता है. यदि आपको दमकती त्वचा चाहिए तो हर दिन मूली का जूस पिएं. इसमें विटामिन C और फास्फोरस होता है. थायराइड मरीजों द्वारा मूली का सेवन करने से रूखी त्वचा और मुहासे से भी छुटकारा दिलाती है. इसे बालों में लगाने से रूसी की समस्या खत्म होती है और बाल जड़ से मजबूत होते हैं.

पोषक तत्वों से भरपूर –

लाल मूली विटामिन ई , विटामिन ए , विटामिन सी , विटामिन B6. और विटामिन के, से भरपूर होती है. थायराइड मरीजों द्वारा इसे आहार में शामिल करने से  एंटीऑक्सीडेंट, फाइबर, जस्ता, पोटेशियम, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, कैल्शियम, आयरन और मैंगनीज अच्छी मात्रा में शरीर में पहुंचता है. सारे पोषक तत्व हमारे शरीर को अंदर से सेहतमंद बनाते हैं.

Newsmug App: देश-दुनिया की खबरें, आपके नागदा शहर का हाल, अपडेट्स और सेहत की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NEWSMUG ऐप