सावन माह में ज़रूर ट्राइ करें ये सोमवार स्पेशल रेसिपीज

0
255
navaratri-vrat-recipes-in-hindi

Sawan Vrat Recipes : सावन शब्द का मतलब है भगवान शंकर का बेहद ही प्रिय माह, इस दौरान भगवान शंकर की पूजा अर्चना की जाती है. इन दिनों लाखों उपासक भोले का आर्शिवाद प्राप्त करने के लिए उपवास रखते हैं. यह व्रत वर्षा ऋतु की शुरुआत में मनाया जाता है.

परंपरागत रूप से हिंदू धर्म में, पुरे सावन माह में शराब और मांसाहारी भोजन का सेवन अशुभ और अपवित्र माना जाता है, लेकिन इसके पीछे एक वैज्ञानिक कारण भी है. इन दिनों उपवासों के दौरान लोग मीट, अनाज, शराब, प्याज, लहसुन आदि खाने से परहेज करते हैं. आयुर्वेद में दिए गए तर्क के अनुसार, यह खाद्य पदार्थ नकारात्मक ऊर्जा को आकर्षित करते हैं और मौसमी बदलाव के हमारे शरीर में प्रतिरक्षा क्षमता कम होती है जिससे हमारा शरीर नकारात्मक ऊर्जा से लड़ने में सक्षम नहीं होता है. लहसुन और प्याज जैसे तत्वो से शरीर में गर्मी उत्पन्न करती है जो आपके शरीर को शुद्ध होने से रोकती है.

सावन माह के दिनों में कुटू आटा, सिंघाड़े का आटा, ताजी सब्जियां, दूध, दही और मखाने जैसे सामग्री को पसंद किया जाता है कारण यह पेट के लिए हल्के और फायदेमंद होते हैं और आसानी से पच भी जाते हैं. व्रत के दौरान नियमित नमक के बजाय, सेंधा नमक का इस्तेमाल किया जाता है, इसका सीधा कारण है कि, यह शुद्ध और असंसाधित (unprocessed) होता है. जो लोग उपवास नहीं करना चाहते हैं वे लहसुन और प्याज के बिना पके शाकाहारी सात्विक आहार का सेवन कर सकते हैं.

आज हम आपको लेख के जरिए बताने जा रहे हैं, सावन सोमवार व्रत के दौरान उपयोग किए जाने वाले भोजन और सामग्री के बारे में :

  • आटा – नवरात्र में आप राजगीरा का आटा (अमरनाथ आटा), सिंघाड़े का आटा, कुटू का आटा, अरारोट का आटा
  • मसाले – जीरा, सूखे अनार, करी पत्ते, काला नमक, सूखे आम का पाउडर (आमचूर पाउडर), हरी मिर्च, नींबू
  • सब्जियाँ – आलू, मीठे आलू, कच्चे केले, अरबी, साबूदाना
  • अन्य भोजन / सामग्री – फल, मेवे, हनी, चीनी, गुड़, नारियल, चाय

1. नारियल के लड्डू –

आवश्यक सामग्री :

  • ताजा नारियल,
  • सूखा हुआ नारियल,
  • गाढ़ा दूध,
  • इलायची पाउडर,
  • घी

navaratri-vrat-recipes-in-hindi

बनाने की विधि:

  • व्रत करने वाले उपासक को सबसे पहले एक पैन में 1 चम्मच घी गर्म करना होगा, जिसके बाद उसमें 2 कप कसा हुआ नारियल डालें। इसे 5 मिनट के लिए कम लौ पर चलाते रहें.
  • जिसके बाद इसमें मीठा गाढ़ा दूध मिलाएँ और एक चुटकी इलायची पाउडर छिड़क दें.
  • इस मिश्रण को पकाएँ और तब तक चलाते रहें जब तक यह गाढ़ा नहीं हो जाएं.
  • एक कटोरे में मिश्रण को डालें और इसे ठंडा करें.
  • ठंडा होने के बाद इस मिश्रण की छोटी छोटी बॉल्स बनायें और नारियल पाउडर में बॉल्स को रोल करें। तो लीजिए आपके लड्डू बनकर तैयार है, आप चाहे तो इन्हें फ़्रीज़ में भी रख सकते हैं. यह करीब-करीब 10 दिनों तक फ्रीज में स्टोर करके रखा जा सकता है. यदि आप चाहे तो इसे आम दिनों में भी बनाकर स्टोर कर सकती हैं.

2. अरबी की टिक्की –

आवश्यक सामग्री:

  • अरबी,
  • लाल मिर्च पाउडर,
  • जीरा पाउडर,
  • काली नमक,
  • नींबू का रस

navaratri-vrat-recipes-in-hindi

बनाने की विधि:

  • सबसे पहले एक चुटकी नमक डाल कर अरबी उबालें और ठंडा होने पर छील लें.
  • जिसके बाद हाथों की सहायता से अरबी को समतल करें और फ्राइंग पैन में घी या तेल डाल कर भूनें, जब तक कि अरबी सुनहरे भूरे रंग और कुरकुरी ना हो जाएँ.
  • अब लाल मिर्च पाउडर, जीरा पाउडर, काली नमक और नींबू के रस को मिलाएं और इस मिश्रण में तली हुई अरबी को डालें.
  • चाय के साथ इसे परोसें, खुद भी खाए और परिवार के अन्य लोगों को भी खिलाएं.

3. सवां राइस खिचड़ी –

आवश्यक सामग्री:

  • सवां के चावल,
  • आलू,
  • जीरा,
  • काली मिर्च,
  • लाल मिर्च का पेस्ट,
  • तेल / घी,
  • पानी,
  • सेंधा नमक

navaratri-vrat-recipes-in-hindi

बनाने की विधि:

  • इसे बनाने के लिए सबसे पहले करीब एक घंटे के लिए संवा चावल भिगोएँ और बाद में अतिरिक्त पानी को निकाल दें.
  • एक गर्म पैन में 2 चम्मच तेल / घी लें और उसमें जीरा डालें। फ्राई करें जब तक जीरे का रंग नहीं बदल जाता है.
  • अपनी आवश्यकता के अनुसार लाल मिर्च पेस्ट और आधा छोटा चम्मच काली मिर्च पाउडर मिलाएँ। इसे अच्छी तरह से हिलाते हुए आलू डालें और तीन-चार मिनट के लिए पकने दें.
  • जिसके बाद चावल डालें और आवश्यकता के अनुसार पानी मिलाएँ, पैन को ढक्कन के साथ कवर करें.
  • अच्छी तरह से चावल पक जाने के बाद नींबू का रस और सेंधा नमक मिलाएँ। इसे कढी / चटनी / दही के साथ परोसें.

4. व्रत की कढ़ी –

आवश्यक सामग्री:

  • ताजा दही,
  • राजगीरा का आटा (अमरनाथ आटा),
  • जीरा,
  • हरी मिर्च पेस्ट,
  • पानी,
  • तेल / घी,
  • सेंधा नमक

navaratri-vrat-recipes-in-hindi

बनाने की विधि:

  • सबसे पहले एक कटोरे में एक कप ताज़ा दही को फेंटे.
  • करीब 3 टेबल चम्मच राजगीरा के आटे (कोई भी अन्य आटा जिसे आप उपवास के दौरान खाना पसंद करते हैं) में आधा कप पानी डालकर अच्छी तरह मिलाएं.
  • गर्म पैन में, 2 चम्मच तेल / घी लें, जीरा और मिर्च पेस्ट को डाल कर अच्छे से चलाएं। और अब इसमें दही को मिलाएँ.
  • कढ़ी को उबाल लें और ज़रूरत के अनुसार सेंधा नमक और चीनी डालें। अच्छी तरह से हिलाते हुए पकने दें जब तक कढ़ी गाढ़ी नहीं हो जाती है.
  • कढ़ी को संवा चावल या राजगीरा पुरी के साथ परोसें.

5. सेब का हलवा –

आवश्यक सामग्री:

  • सेब,
  • घी,
  • दालचीनी पाउडर,
  • चीनी,
  • सूखे मेवे,
  • पानी,
  • वनीला अर्क (वैकल्पिक)

navaratri-vrat-recipes-in-hindi

बनाने की विधि:

  • इसे बनाने के लिए करीब 5 मध्यम आकार के सेब लेकर छील लें और छोटे छोटे टुकड़ों में काट लें। गर्म पैन में 2 चम्मच घी लें और उसमें सेब डालें। जब तक टुकड़े नरम और भूरे रंग के नहीं हो जाते हैं, तब तक इसे कुक करते रहें.
  • जिसके बाद पैन में आधा कप पानी डालें और चम्मच की मदद से सेब को मैश करें. इसमें चीनी मिलाएँ (आवश्यकता के अनुसार).
  • दालचीनी पाउडर और वनीला अर्क को डालकर अच्छी तरह से मिक्स करें.
  • जब मिश्रण गाढ़ा हो जाएं तो उसे आँच से हटा दें और कटोरे में डाल लें।

6. साबूदाना खिचड़ी –

आवश्यक सामग्री :

  • 1 कप साबूदाना,
  • 1/2 कप भुनि हुई और कुरकुरी मूँगफली,
  • 2 बड़े चम्मच घी,
  • 1 चम्मच जीरा,
  • 3-4 साबुत सूखे लाल मिर्च,
  • करी पत्ता,
  • सेंधा नमक,
  • 1 चम्मच मिर्च पाउडर,
  • हरा धानिया,
  • हरी मिर्च,
  • नींबू का रस

navaratri-vrat-recipes-in-hindi

बनाने की विधि:

  • साबूदाना को अच्छी तरह से धो लें इसे करीब एक घंटे के लिए भिगो कर रखें. जिसके बाद साबूदाने को एक कपड़े में लेकर अच्छे से निचोड़ लें.
  • साबूदाना, मूंगफली, नमक और मिर्च पाउडर को अच्छी तरह से मिलाएं.
  • घी को गर्म करें और उसमें जीरा, लाल मिर्च और कढ़ी पत्ते का तड़का लगाएं. मसाला हल्का सुनहरा होने पर इसमें साबूदाने के मिश्रण को मिलाएँ और कुछ देर तक कम आँच पर पकाएँ.
  • अच्छे से पक जाने के बाद इसमें नींबू का रस डालकर अच्छी तरह से मिलाएं। हरा धनिया और हरी मिर्च के साथ सजाकर गर्मागर्म परोसें.

7. कुट्टू के आटा का डोसा –

आवश्यक सामग्री:

  • उबले हुए आलू,
  • कुट्टू का आटा,
  • मक्खन (घी),
  • नमक,
  • लाल मिर्च,
  • अदरक,
  • उबली हुई अरबी,
  • अजवाइन,
  • हरी मिर्च,
  • मीठे आलू

navaratri-vrat-recipes-in-hindi

बनाने की विधि:

  • सबसे पहले भरावन बनाने के लिए उबले हुए आलू को छील कर मैश करे और उसमें सेंधा नमक मिलाएं. जिसके बाद कटी हुई हरी मिर्च और अदरक डाल कर करीब एक मिनट के लिए पकाएं। अब इसमें मैश किए हुए आलू डालें और चलाते हुए धीमी आंच पर 4-5 मिनट तक पकाएं.
  • डोसा तैयार करने के लिए मैश की हुई अरबी को कुट्टू के आटे के साथ अच्छी तरह से मिक्‍स करें. साथ सादा सेंधा नमक, लाल मिर्च पावडर, हरी मिर्च और अजवाइन मिलाएं. जिसके बाद कुछ पानी डालकर अच्छी तरह मिलाएं और घोल तैयार करें.
  • एक फ्लैट पैन को गर्म करें, उस पर थोड़ा सा घी डालें, एक चम्मच से इस घोल को उस पर फैलाएं.
  • कुछ मिनट के लिए कुक होने दें और कुरकुरा बनाने के लिए किनारों के चारों ओर घी फैलाएं. फिर इसे पलट कर दूसरी तरफ से पकाएं.
  • अब डोसे के बीच में भरावन सामग्री भरें और पकाएं.
  • पुदीने और नारियल चटनी के साथ इसे खाएं.

8. सिंघाड़े के आटे का समोसा –

आवश्यक सामग्री:

  • सिंघाड़े का आटा,
  • अरारोट,
  • घी,
  • पानी,
  • मक्खन,
  • हरी इलायची,
  • धनिया पाउडर,
  • लाल मिर्च पाउडर,
  • दो घंटे भीगी हुई 1 कप चिरौंजी,
  • वनस्पति तेल,
  • सेंधा नमक,
  • जीरा

navaratri-vrat-recipes-in-hindi

बनाने की विधि:

  • सबसे पहले भरावन बनाने के लिए चिरौंजी को छीलकर मिक्सी में अच्छी तरह से पीस लें. जिसके बाद एक पैन में दो बड़े चम्मच घी गर्म करें और उसमें जीरा डालकर फ्राई करें और जब जीरा चटखने लगे तो उसमें चिरौंजी और बाकी भरावन सामग्री डालकर अच्छी तरह से मिक्स करके फ्राई करें. जब मिश्रण फ्राई हो जाए तो उसे ठंडा होने के लिए छोड़ दें.
  • समोसे का आटा गूंदने लिए एक पैन में पानी, घी और एक छोटा चम्मच नमक डालकर उबाल लें. पानी उबल जाए तो सिंघाड़े के आते में अरारोट डालकर अच्छी तरह मिक्स करें.
  • आटे की छोटी-छोटी लोई तैयार करें और इसे रोटी तरह बेल लें. अब बीच से आधा काट लें और कटे हुए हिस्सों को कोन की तरह मोड़ लें और भरावन सामग्री भरें. इसके कोने बंद करें और सारी लोइयों से इसी तरह समोसे तैयार करें.
  • एक कड़ाही में घी गर्म करें और उसमें समोसे डालकर मध्यम आंच पर समोसों को सुनहरा होने तक तलें.

इसे भी पढ़े :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here