क्या सोते वक्त भूत प्रेत चिपकते है?

0
432
kya-sote-waqt-bhoot-pret-chipakte-hai
क्या सोते वक्त भूत प्रेत चिपकते है?

क्या सोते वक्त भूत प्रेत चिपकते है?  kya sote waqt bhoot pret chipakte hai 

आत्मा अमर है. भविष्य है तो भूत भी है. भूतों और प्रेतों के बारे में हम बचपन से सुनते आ रहे हैं. इनके बारे में बहुत सारे किस्से उपलब्ध हैं ? बहुत सारे लोगों ने भूतों को अलग अलग अवस्था में देखा है और बहुत सारे लोगों में भूतों का वास भी हो जाता है. आपके मन में भी सवाल उठ रहा होगा कि, क्या सोते वक्त भूत प्रेत चिपकते है?  kya sote waqt bhoot pret chipakte hai  इसी सवाल का जवाब लेकर हम लेख के जरिए देंगे. साथ ही यह भी जानेंगे कि, भूत प्रेत क्या है और इनसे बचने का उपाय। bhoot pret kya hai aur inse bachne ka upay

kya-sote-waqt-bhoot-pret-chipakte-hai
क्या सोते वक्त भूत प्रेत चिपकते है?

भारत में सैकड़ों भूतियां मंदिर और पुराने किले मौजूद है. जहां पर शाम 6 बजे के बाद आम लोगों के जाने की मनाही है. सबसे प्रसिद्ध राजस्थान के भानगढ़ का किला है. प्राचीन स्मारकों में छिपे भूतों के रहस्य को जानने की कई लोगों ने कोशिश की, लेकिन नतीजा सिफर रहा. इसी प्रकार आपने मेहंदीपुर बालाजी मंदिर के बारे में सुना होगा, यह राजस्थान में स्थित एक बहुत ही प्राचीन है जहां आज भी बहुत से लोग जो भूतों से परेशान है वहां जाते है और ठीक हो जाते है.

भूत असल में मानव शरीर की आत्मा है. जब किसी इंसान की मृत्यु हो जाती है तब वह भूत बन जाता है. भूत बनने का कारण मनुष्यों के बुरे कर्म होते है, जो इंसान पाप करें या उसके परिवार वाले उसका अंतिम संस्कार पूरे विधि विधान से न करें तब वह मनुष्य मृत्यु के पश्चात भूत बन जाता है. धार्मिक ग्रंथों की मानें तो भूत प्रेत योनि बहुत ही दर्दनाक होती है इसमें प्रेत किसी भी प्रकार से सुखी नहीं होते है.

तीन प्रकार कि आत्मा : – प्रेत आत्मा, जीव आत्मा और सूक्ष्म आत्मा. सनातन धर्म के शास्त्रों के अनुसार यह तीन प्रकार की आत्माएं होती है. जब एक आत्मा वासना से युक्त शरीर में जाती है तो उसे प्रेतात्मा कहते है. वहीं जब एक आत्मा किसी जीव के शरीर में जाती है जैस- मनुष्य, चींटी, हाथी, भालू आदि तो उसे जीवात्मा कहा जाता है. इसी प्रकार जब एक आत्मा किसी सूक्ष्म शरीर में निवास करती है (वायरस, बैक्टीरिया आदि) तो उसे सूक्ष्मात्मा कहते है.

मरने के बाद भूत बनने की प्रक्रिया

दोस्तों आमतौर पर मृत्यु के बाद इंसान की आत्मा शरीर को छोड़कर भगवान के पास चली जाती है, लेकिन यदि कोई ऐसा व्यक्ति जो कामना या वासना में बंधा हुआ है या किसी व्यक्ति की हत्या हो जाती है या किसी भी प्रकार से उसकी मृत्यु हो जाती है तो उसकी आत्मा भगवान को प्राप्त न होकर धरती पर इधर उधर भटकती है. मोझ की चाह में आत्मा एक व्यक्ति के शरीर से दूसरे व्यक्ति के शरीर में प्रवेश कर जाती है. किसी के मृत माता पिता या उसके पितृ का अगर कोई श्राद्ध न करें तो वह भी उसके तृप्त न हुए पितृ द्वारा परेशान होते है इसलिए श्राद्ध जरूर करें.

kya-sote-waqt-bhoot-pret-chipakte-hai
क्या सोते वक्त भूत प्रेत चिपकते है?

हिंदू धार्मिक ग्रंथों में उल्लेख मिलता है कि, आत्मा के तीन शरीर होते है पहला स्थूल, दूसरा सूक्ष्म और तीसरा कारण शरीर यह तीन आत्मा के शरीर माने गए है प्रकृति के अनुसार आत्मा का स्थूल शरीर 120 से 130 साल तक होता है. सूक्ष्म शरीर की उम्र करोड़ों साल तक है. और आत्मा का जो कारण शरीर है वह अमर होता है और यह वायु रूप में हमेशा पृथ्वी पर निवास करती है. स्थूल शरीर जो की आत्मा की सबसे पहली अवस्था है उसे आयुर्वेद और योग क्रिया कर 150 से 170 साल तक जीवित रखा जा सकता है.

क्या सोते वक्त भूत प्रेत चिपकते है?

बुरे कर्म करने वाले व्यक्ति : हिंदू धर्म के अनुसार जो लोग (एकादशी, पूर्णिमा, अमावस्या आदि) को नहीं मानते हैं. और भगवान का अपमान करते है. हमेशा गलत काम करते हैं जैसे- शराब और मांस का सेवन करना. ऐसे लोगों को सोते समय भूत प्रेत चिपकते हैं. यह लोग बहुत जल्दी भूतों के वश में आ जाते हैं.

भावुक लोगो पर होता है भूतों का शासन : ज्योतिष शास्त्रियों द्वारा किए गए शोध में पता चला है कि, जो लोग भूतों के बारे में गहन चिंतन या सोच रखते है. भूतों की डरावनी फिल्म देखते है. जो व्यक्ति ज्यादा भावुक किस्म का है और जिन लोगों की मानसिक शक्ति कम होती है ऐसे लोगों पर भूतों का वास जल्दी हो सकता है. सोते समय ऐसे लोगों के उप्पर भूत प्रेत आ जाते हैं.

इसे भी पढ़े : कच्चे केले की फलाहारी टिक्की बनाने की विधि

अनुष्ठान या कोई कर्म करते है : हिन्दू धर्म के अनुसार किसी भी धार्मिक कार्य को रात में किया जाना अशुभ माना जाता है. जो लोग रात में किसी भी प्रकार का कोई धार्मिक कार्य करता है वह बुरा ही कहा जाता है. रात के दौरान भूत को वश में करना, गलत सिद्धियां करना आदि प्रकार के कार्य करते है. इसी प्रकार के लोग सोते हुए लोगों के पास भूत प्रेत भेजते है.

कैसे पता करें कि भूत पीछे पड़ा है

दोस्तों अक्सर सीधे साधे लोगों के पीछे दुष्ट आत्माएं पड़ जाती है. यदि किसी व्यक्ति पर भूत का साया है तो ऐसे लोगों को दिन के समय बुरे सपने, घबराहट, बार-बार झटके आना, डर लगने जैसे संकेत होते है.

इसे भी पढ़े : सपने में सांप का सम्भोग करते हुए देखना इसका अर्थ क्या हैं ?