बढ़ती महंगाई के खिलाफ सड़क पर उतरे कांग्रेसी, महिलाओं ने सड़क पर सेंकी रोटी

0
14
nagda-news-congressmen-on-the-road-against-inflation
बिरलाग्राम नागदा में सड़क पर रोटियां बनाती महिलाएं।
नागदा। बहुत हुई मंहगाई की मार, अबकी बार भाजपा सरकार का नारा देकर सत्ता में काबिज हुई मोदी सरकार आज बढ़ती हुई मंहगाई पर खामोश है। जिन भाजपाई नेताओं को गैस सिलेंडर 340 रुपए मंहगा लगता था, पेट्रोल 60 रुपए लीटर मंहगा लगता था, डीजल 50 रुपए लीटर मंहगा लगता था, आज उन्हें गैस सिलेंडर सस्ता लग रहा है। यह प्रमाणित करता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी व भाजपा नेताओं को जो मंहगाई डायन लगा करती थी आज उनकी मौसी हो गई।
यह बात कांग्रेस विधायक दिलीपसिंह गुर्जर ने मंगलवार को मंहगाई के विरोध आयोजित धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए कही।
nagda-news-congressmen-on-the-road-against-inflation
महंगाई को लेकर आयोजित धरने के दौरान उपस्थित बालिकाएं।
धरना कौशल्या रघुनाथसिंह ठाकुर के नेतृत्व में बिरलाग्राम चौराहे पर सड़क पर दिया गया था। महंगाई का विरोध करने सड़क पर उतरी महिलाओं ने रोटिया सेंकर विरोध जताया। वहीं कांग्रेसजनों ने हाथों में सिलेंडर लेकर महंगाई के खिलाफ नारेबाजी की। जिसके बाद महंगाई का पुतला फूंका गया।
धरना प्रदर्शन को सम्बोधित करते हुए जिला कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष सुबोध स्वामी ने कहां कि मर्यादा पुरूषोत्तम राम के देश में पेट्रोल 97 रुपए लीटर माता सीता की जन्मस्थली नेपाल में पेट्रोल 53 रुपए प्रति लीटर और रावण की लंका में पेट्रोल 56 रुपए प्रति लीटर है। मर्यादा पुरूषोत्तम राम के नाम पर राजनीतिक रोटियां सेकने वाले यह भूल गए कि राम राज्य में अगर कोई भी व्यक्ति पीड़ित होता है तो राजा राम को नींद नहीं आती थी।
nagda-news-congressmen-on-the-road-against-inflation
बिरलाग्राम नागदा में सड़क पर रोटियां बनाती महिलाएं।
कार्यक्रम को शहर कांग्रेस अध्यक्ष राधे जायसवाल, जिला कांग्रेस महामंत्री रघुनाथसिंह बब्बु, सेवालाल यादव, जगदीश मिमरोट, कमलेश चावण्ड, महेन्द्र यादव, सुरेश मावर, विरेन्द्रसिंह राठौर, विक्रमसिंह शेखावत, साबिर पटेल, विरेन्द्र प्रताप शुक्ला आदि नेताओं ने सम्बोधित किया।
इस अवसर पर वर्षा ठाकुर, गीता यादव, वर्षा ललावत, बबीता जितेन्द्र डांगर, किर्ती रायकवार, आशा मल्लाह, मंजु गंगवाल, मंजु ठाकुर, उमा परिहार, विमला परिहार, शिवकुमारी, निशा बारोट, आशा देवी, दर्यावबाई, शारदाबाई, कमलाबाई, पुनमबाई, निर्मलाबाई, करिश्मा, शांतिबाई, राधाकुंवर, मंजु कुंवर, रीता साहनी, अयोध्याबाई, मीरा कुंवर, कृष्णा कुशवाह, अंजनी साहनी, श्यामाबाई, कुसूम साहनी आदि मौजूद थी।