क्या है e-RUPI और कैसे करेगा काम? | What is e-RUPI And How Does it Works in Hindi

0
81
e-rupi-in-hindi

E-RUPI क्या है और किस तरह कम करेगा, जाने सभी सवालों के जवाब |
What is e-RUPI And How Does it Works and download in Hindi

दोस्तों जैसा कि हम सभी को विधित हैं, पूरा विश्च इन दिनाें कोरोना महामारी की चपेट में हैं. आए दिन संक्रमण के नए-नए वैरिएंट सामने आ रहे हैं. जैसा की आप सभी जानते है 2 अगस्त 2021 को भारत सरकार द्वारा E-RUPI प्लेटफोर्म जारी किया गया, जिसे खुद भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने पुरे देश वासियों को संबोधित करते हुए E-RUPI का शुभारंभ किया. यदि आप पहले किसी भी डिजिटल पेमेंट माध्यम का उपयोग कर चुके है तो आप इसे जल्दी और बेहद ही आसानी से समझ जाएँगे, और जिन लोगों ने इसके पूर्व किसी भी प्रकार का कोई डिजिटल पेमेंट का उपयोग नहीं भी किया है तो टेंशन मत लीजिए हम आपके लिए ये लेख लेकर आए है, तो चलिए जानते है आखिर ये E-RUPI है क्या बला हैं जानें विस्तार से.

e-rupi-in-hindi

क्या है e-RUPI ? और किसने बनाया है ? (What is E-RUPI in hindi)

E-RUPI एक कैशलेस माध्यम है या यूँ कहें एक डिजिटल पेमेंट सिस्टम है, जिससे से आप देश के किसी भी हिस्से में डिजिटल पेमेंट कर सकते हैं. मतलब अब आप एक इ-वाउचर की तरह किसी को भी पैसा भेज सकते है. इसे और आसान भाषा में समझिये, ” E-RUPI एक ऐसा डिजिटल पेमेंट का माध्यम है जिसमे आप कॉन्टैक्टलेस डिजिटल पेमेंट कर सकेंगे वो भी बिना किसी दूसरी पेमेंट App का इस्तेमाल किये.

प्रणाली डिजिटल मुद्रा प्रणाली (E-RUPI)
शुभारंभ 2 अगस्त 2021
अंतर्गत भारतीय रिज़र्व बैंक
उद्देश्य डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देना
फायदे सुरक्षित और लीक-प्रूफ पेमेंट मोड
तरीका वाउचर पर आधारित

ई-रूपी डिजिटल पेमेंट | e-RUPI In Hindi

भारत में डिजिटल भुगतान विकल्प के रूप में, भारत सरकार ने इलेक्ट्रॉनिक वाउचर आधारित डिजिटल भुगतान प्रणाली शुरू की है. ” देश के कुछ उच्च संस्थानों और सरकारी एजेंसियों जैसे भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (एनपीसीआई), वित्तीय सेवा विभाग, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय, और राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण, आदि ने मिलकर इस ऐप को बनाया है. यह ऐप पूरे देश में भुगतान विकल्प के रूप में मोबाइल पर उपलब्ध कराया जाएगा. ई-रुपी डिजिटल पेमेंट सिस्टम कैसे काम करता है, इस बारे में हम आपको अपने लेख में पूरी जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं और साथ ही जानेंगे इसके लाभ और खास बातें.

ई-रूपी कैसे काम करेगा? | How does E-RUPI work in hindi ?

e-RUPI को कैशलेस ऐप की तर्ज पर बनाया गया है. इस सिस्टम से देश की आम जनता को कनेक्ट करने के लिए, मोबाइल पर एसएमएस स्ट्रिंग या क्यूआर कोड सिस्टम की मदद ली जाएगी. लाभार्थी इस नई प्रणाली से अपने मोबाइल पर एसएमएस स्ट्रिंग या क्यूआर कोड के माध्यम से सीधे संपर्क में आ सकेंगे. आप इस प्रीपेड गिफ्ट-वाउचर का उपयोग बिना किसी क्रेडिट या डेबिट कार्ड, मोबाइल ऐप या इंटरनेट बैंकिंग से कर सकते हैं.

इसे आप प्रीपेड गिफ्ट वाउचर के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं. इस ई-आरयूपीआई सेवा के माध्यम से लाभार्थियों और सेवा प्रदाताओं को आपस में जोड़ा जाएगा. शुरू में ये एक प्रीपेड गिफ्ट-वाउचर की तरह होगा, जैसा आप Amazon और FlipKart जैसे शौपिंग प्लेटफोर्म के वाउचर को देखते है उसी तरह, जो एक स्पेसिफिक एक्सेप्टिंग सेंटर्स पर बिना किसी क्रेडिट या डेबिट कार्ड, मोबाइल ऐप या इंटरनेट बैंकिंग के रिडीम किया जा सकेगा. यानि बिना किसी फिजिकल इंटरफेस के आप डिजिटल पेमेंट का लाभ उठा पाएँगे.

ये ई-रूपी वाउचर कैसे जारी किए जाएंगे?

दोस्तों अब आपके जहन में यह सवाल उठ रहा होगा कि, ये e-RUPI Voucher जारी कैसे होगे ? चुकी यह सिस्टम NPCI अपने UPI प्लेटफॉर्म पर तैयार किया है, जिसमें कई बैंकों को भी जोड़ा गया है, यही बैंक वाउचर्स जारी करेंगी. वाउचर जारी करने वाले बैंकों को जारीकर्ता संस्थानों के रूप में इसका एक प्रमुख हिस्सा बनाया गया है. इस ई -वाउचर को किसी भी एजेंसी द्वारा प्राप्त करने के लिए पार्टनर बैंक्स से जुड़ना होगा जो सरकारी और निजी दोनों हो सकती है. साथ ही इस बात की जानकारी भी देना की जारी किया जाने वाला वाउचर किसके लिए और किस उद्देश्य से जारी किया जाए.

इस प्रणाली में लाभार्थी की पहचान उसके मोबाइल नंबर से की जाएगी. इस प्रणाली द्वारा जारी किए गए ई-रुपी वाउचर का उपयोग केवल वही व्यक्ति कर सकता है जिसे उसे ई-रुपी वाउचर जारी किया गया होता.

E-RUPI के उपयोग क्या हैं? या इसका उद्देश्य क्या है

दोस्तों जैसा कि हम सभी भली भांति इस बात से परिचित है कि, सरकार लोगों के लिए तमाम प्रकार की जनहितेषी योजनाएं लाती है जिससे लोगों तक उनका लाभ सीधे पहुंच सके. उस योजना का फायदा उस व्यक्ति को पूरी तरह नही मिल पाता. उदहारण के लिए समझिये साकार की एक योजना है आयुष्मान भारत योजना, अब बताइए क्या हर व्यक्ति इस योजना से आने वाले पैसे का उपयोग सही जगह करता है, शायद नहीं. इसी लीक से बचने के लिए भारत सरकार ने इस प्रणाली को शुरू किया है, ताकि जिसके नाम पर और जिस प्रयोजन से कोई सुविधा उपलब्ध कराई जाए, प्राप्तकर्ता उस पैसे या सुविधा का प्रयोग उसी प्रयोजन में कर पाएगा. यानि सरकार द्वारा देश में e-RUPI के माध्यम से कई सेवाएं प्रदान की जाएंगी.

  • इसका उपयोग वेलनेस सेवाओं की लीक-प्रूफ डिलीवरी सुनिश्चित करने के लिए भी किया जा सकता है. जैसे उर्वरक सब्सिडी, टीबी उन्मूलन कार्यक्रम, आयुष्मान भारत, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, मातृ एवं बाल कल्याण योजनाओं आदि के लीक प्रूफ वितरण के लिए उपयोग किया जाएगा.
  • इस ऐप का मुख्य उद्देश्य देश में डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देना है. इस ई-रुपी प्रणाली के माध्यम से मातृ एवं शिशु कल्याण योजनाओं, टीबी उन्मूलन कार्यक्रमों के तहत दवाएं और पोषण संबंधी सहायता प्रदान की जाएगी ताकि दी जाने वाली सहायता सीधे लाभार्थी तक पहुंचे.
  • सरकार ने इस डिजिटल वाउचर का लाभ प्राइवेट सेक्टर के कर्मचारी कल्याण और कॉर्पोरेट सामाजिक के लिए देने की भी बात की है. यह प्रणाली सामान्य भुगतान ऐप के रूप में जारी नहीं की गई है.

E-RUPI का क्या महत्व है?

वाउचर आधारित भुगतान प्रणाली के रूप में विकसित इस ई-रूपी डिजिटल भुगतान प्रणाली को काफी प्रभावी माना जा रहा है. वाउचर आधारित भुगतान प्रणाली होने के कारण इसे भुगतान के लिए काफी सुरक्षित माना जाता है.

सरकार द्वारा वाउचर आधारित भुगतान प्रणाली की गई है. उम्मीद की जा रही है कि वाउचर आधारित भुगतान प्रणाली काफी सुरक्षित साबित होगी. इसका उपयोग करने वाले ग्राहक भुगतान के रूप में अपने पैसे को एक खाते से दूसरे खाते में सुरक्षित रूप से स्थानांतरित कर सकते हैं. आप जल्द ही ई-रूपी डिजिटल भुगतान प्रणाली का उपयोग करने में सक्षम होंगे. आप अपने e-Rupi Digital Payment से जुड़े अपने सवाल हमें कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं.

इसे भी पढ़े :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here