Categories: धर्म

पुत्रदा एकादशी का मंत्र । Putrada Ekadashi ka mantra

संतान प्राप्ति की कामना के लिए हिंदू धर्म में महिलाएं पुत्रदा एकादशी का व्रत करती है. व्रत भगवान विष्णु को समर्पित होता है. लोक किदवंती है कि जिन विवाहिता महिलाओं को संतान प्राप्त नहीं होते वह व्रत को रखना आरंभ करें तो उन्हें जल्द ही पुत्र या पुत्री की प्राप्ति होती है.

सनातन कैलेंडर के अनुसार पुत्रदा एकादशी साल में दो बार आती है- पुत्रदा एकादशी सावन और पौष माह में भी पड़ती है. आइए लेख के जरिए जानते हैं पुत्रदा एकादशी का मंत्र और पुत्रदा एकादशी के उपाय. आशा है कि आप हमारे लेख को शुरु से लेकर अंत तक पढ़ेगें.

पुत्रदा एकादशी का मंत्र । Putrada Ekadashi ka mantra

1. ॐ नमो भगवते वासुदेवाय

2. श्रीकृष्ण गोविन्द हरे मुरारे। हे नाथ नारायण वासुदेवाय।।

3. ॐ नारायणाय विद्महे। वासुदेवाय धीमहि। तन्नो विष्णु प्रचोदयात्।।

4. ॐ विष्णवे नम:

5. ॐ हूं विष्णवे नम:

भगवान विष्णु के मंत्र.

Also Read :Putrada Ekadashi 2021: पुत्रदा एकादशी पूजा के बाद पढ़ें व्रत कथा

पुत्रदा एकादशी के उपाय (Putrada Ekadashi Ke Upay)

1. पुत्रदा एकादशी के दिन भगवान् विष्णु को पाने के पत्ते पर कुंकुम से श्रीं लिखकर अपनी तिजोरी में रख लें. ऐसा करने से आपको धन प्राप्ति के प्रबल योग बनंगे।

2.पुत्रदा एकादशी के दिन 7 कुंवारी कन्याओं को खीर खिलाएं। यह उपाय निरंतर 5 एकादशी तक करें। इससे नौकरी में पदोन्नती के योग बनंगे।

3..पुत्रदा एकादशी के दिन से शुरू करके 27 दिन तक लगातार नारियल व बादाम को घर के समीप मौजूद कृष्ण मंदिर में चढाने से सभी मनोकामनाएं पूरी होती है।

4. पुत्रदा एकादशी की सुबह किसी राधा-कृष्ण मंदिर जाकर दर्शन करें व पीले फूलों की माला अर्पण करें। इस प्रकार का उपया करने से जीवन आर रही परेशानियां कम होगी।

5.पुत्रदा एकादशी पर सुख-समृद्धि के लिए पीले चंदन या केसर में गुलाब जल मिलाकर माथे पर टीका अथवा बिंदी लगाएं। यह उपाय सुहाग को लंबी आयु देता है।

6. पुत्रदा एकादशी की शाम को पीपल के पेड़ पर जल चढ़ाएं और शुद्ध घी का दीपक लगाएं। इससे आपके शत्रु का मनोबल गिरता है।

7. इस विष्णु मंदिर में अनाज (गेहूं, चावल) अपर्ण करने से परिवार में सुख शान्ति बनी रहती है।

8. पुत्रदा एकादशी पर दक्षिणावर्ती शंख में कच्चा दूध व केसर डालकर भगवान श्रीकृष्ण का अभिषेक करने से धन लाभ के योग बनते हैं।

9.यदि संतान जन्म के बाद से ही बीमार रहती है तो पुत्रदा एकादशी के दिन 11 गरीबों को भोजन करांए। जल्द बीमारी से निजात मिलती है।

10.पुत्रदा एकादशी के दिन पीपल के पेड़ में चांदी के लोटे में कच्चे दूध में मिश्री मिलाकर जड़ में चढांए। घर में वैभव बढ़ता है।

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं)

इसे भी पढ़े :

KAMLESH VERMA

बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है. कमलेश दैनिक भास्कर और राजस्थान पत्रिका अखबार में सिटी रिपोर्टर पद पर कार्य चुके हैं.

Recent Posts

नाश्ते में बनाइए कच्चे केले का हलवा, स्वाद के साथ देता है अच्छी सेहत

नमस्ते दोस्तों हम सभी सुबह के नाश्ते में आमतौर पर सूजी का हलवा खाते हैं,…

12 hours ago

भूलकर भी नहीं करें ये तीन चीज, नहीं तो हो सकती है पति की मौत

पति को वश में करने के घरेलु उपाय । pati ko vash mai karne ke…

13 hours ago

धन की हर समस्या दूर कर देंगे लहसुन के ये चमत्कारिक उपाय

लहसुन के ये चमत्कारिक उपाय (lahsun ke totke in hindi) लहसुन के बेहद ही चमत्कारी…

1 day ago

इंटरनेट के बारे में रोचक तथ्य । INTERNET in Hindi

Amazing Facts about Internet in hindi - इंटरनेट के बारे में रोचक तथ्य इंटरनेट जिसके…

2 days ago

मेथी के दाने का उपाय बताइए ( methi ke daane ka upay)

मेथी के दाने का उपाय बताइए ( methi ke daane ka upay) । ग्रह शांति…

2 days ago

धोखाधड़ी कर किसानों के रुपए निकाल कर बैंक प्रबंधन ने ब्याज पर वितरण कर दिए

नागदा। किसानों के खाते में धोखाधड़ी कर राशि निकाल कर ऐश करने वाले बैंक प्रबंधक…

2 days ago