Newsबड़ी खबर

आपके पास भी है Royal Enfield की बाइक्स तो इस खबर जरूर देखें

दोस्तों यदि आपके पास रॉयल एनफील्ड (Royal Enfield) की बाइक है तो आप इस खबर को बिलकुल भी नज़रअंदाज न करें, नहीं तो आपको भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है. दरअसल Royal Enfield ने भारत में अपने कुछ मॉडल्स को रिकॉल किया है. Royal Enfield कंपनी ने बुधवार को एक जानकारी सार्वजनिक किया है कि वो अपनी बाइक्स के लिए रिकॉल शुरू करने जा रहे हैं. इस रिकॉल में कंपनी की Meteor, Classic और Bullet शामिल हैं. इस प्रक्रिया में डिफेक्टिव इग्निशन कॉइल की वजह से शुरू किया गया है. Royal Enfield कंपनी इस रिकॉल में 2,36,966 बाइक्स को शामिल किया जाएगा.

कंपनी द्वारा जारी किए ऐलान के अनुसार कुछ बाइक्स के इग्नीशन कॉइल में खराबी के चलते यह रिकॉल किया गया है, इग्नीशन कॉइल में काफी परेशानी आ रही हैं जिनमें बाइक का मिसफायर होना, परफॉर्मेंस में कमी और इलेक्ट्रिक शॉर्ट सर्किट जैसी समस्याएं सामने आ रही हैं, जिन्हें जल्दी ही ठीक किया जाएगा. जिन Royal Enfield में ये खराबी पाई गई है उनमें से Meteor को को दिसंबर 2020 से लेकर अप्रैल 2021 के बीच तैयार किया गया है वहीं Classic और Bullet को जनवरी और अप्रैल 2021 के बीच बनाया और बाजार में उतारा गया है.

oyal-enfield-recalls-around-237000-motorcycles-on-ignition-coil-defect

मालूम हो कि Royal Enfield की तरफ से शुरू किए गए इस रिकॉल में विदेशों में एक्सपोर्ट की गई बाइक्स को भी शामिल किया जाएगा जिन्हें इंडोनेशिया, फिलीपींस, थाईलैंड, ऑस्ट्रेलिया, न्यू जीलैंड और मलेशिया जैसे देश शामिल हैं.

Royal Enfield कंपनी का तर्क है कि, यह एक दुर्लभ मामला है जो कि उस दौरान बनी सभी बाइक्स को प्रभावित नहीं करता है. कंपनी का अंदेशा है कि रिकॉल की गई बाइक्स में से ’10 फीसदी से कम’ में इग्निशन कॉइल को रिप्लेस करने की जरूरत होगी. Royal Enfield ने कहा है कि उसकी सर्विस टीम और डीलरशिप उन ग्राहकों से संपर्क करना शुरू करदेगी जिनकी बाइक्स इस रिकॉल से प्रभावित होंगी.

रिकॉल की गई बाइक्स की जांच की जाएगी और जरूरत पड़ने पर खराब पार्ट को भी बदल दिया जाएगा. इसके अलावा ग्राहक भी डीलरशिप से भी संपर्क कर सकते हैं और व्हीकल आइडेंटिफिकेशन नंबर के आधार पर यह पता लगा सकते हैं कि  इस रिकॉल से उनकी बाइक प्रभावित हुई है या नहीं.

इसे भी पढ़े :

KAMLESH VERMA

दैनिक भास्कर और पत्रिका जैसे राष्ट्रीय अखबार में बतौर रिपोर्टर सात वर्ष का अनुभव रखने वाले कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है. कमलेश वर्तमान में साऊदी अरब से लौटे हैं। खाड़ी देश से संबंधित मदद के लिए इनसे संपर्क किया जा सकता हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status
चुनाव पर सुविचार | Election Quotes in Hindi स्टार्टअप पर सुविचार | Startup Quotes in Hindi पान का इतिहास | History of Paan महा शिवरात्रि शायरी स्टेटस | Maha Shivratri Shayari सवाल जवाब शायरी- पढ़िए सीकर की पायल ने जीता बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड सफल लोगों की अच्छी आदतें, जानें आलस क्यों आता हैं, जानिएं इसका कारण आम खाने के जबरदस्त फायदे Best Aansoo Shayari – पढ़िए शायरी