सूदखोर से परेशान युवक ने जहर खाया, आर्केस्टा पार्टी के लिए मंगवाया था सामान

0
122
nagda-news-troubled-young-man-ate-poison-the-matter-of-nagda-police-station
जनसेवा अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती संजय रावल

Nagda News. उधार रुपए देने वाले सूदखोर से परेशान होकर एक युवक द्वारा जहर खाए जाने का मामला प्रकाश में आया है. घटना बीती रात 17 जुलाई 2021, शनिवार करीब 11 बजे की बताई जा रही है. फिलहाल युवक खतरे से बाहर हैं और जनसेवा अस्पताल नागदा में उपचार के लिए भर्ती है. मामले में मंडी पुलिस द्वारा मामले को जांच में लिया गया है.

क्या है पूरा मामला

पीड़ित संंजय रावत द्वारा स्थानीय मीडिया को दिए गए बयान में बताया है कि, करीब दो वर्ष पूर्व उसने अपने मित्र निखिल प्रजापति निवासी बीएसएनएल टॉवर के साथ मिलकर आर्केस्ट्रा पार्टी के लिए बैंड मंगवाया था. जिसके लिए दोनों ने करीब दस हजार रुपए की राशि खर्च की.

लेकिन सामग्री आने के बाद निखिल द्वारा संजय को बैंड की सामग्री देने से इंकार कर दिया गया और 10 हजार रुपए लौटाने के लिए लगातार दबाव बनाया गया. जिससे परेशान होकर रावत ने बीती रात को सल्फास की गोलियां खाकर आत्महत्या करने की कोशिश की.

nagda-news-troubled-young-man-ate-poison-the-matter-of-nagda-police-station
जनसेवा अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती संजय रावल

पीड़ित द्वारा मीडिया को दिए गए बयान में बताया गया है कि, बीते एक जुलाई 2021 को निखिल द्वारा रुपए वापस मांगने के लिए भाजपा नेता निवासी शारदा गली द्वारा दबाव बनवाया गया. इस दौरान संजय को भाजपा नेता के घर बुलाया गया और एक 50 रुपए के स्टॉप पर 50 हजार रुपए का बॉड हस्ताक्षर करवाया गया. साथ ही संजय की मोटरसाइल जब्त कर ली गई. जिसके बाद से लगातार संजय पर रुपए लौटाने के लिए दबाव बनाया गया.

जानें पुलिस का क्या है कहना

मामले में मंडी थाना प्रभारी श्यामचंद्र शर्मा का कहना है कि, बीती रात को करीब 11.30 बजे जनसेवा अस्पताल नागदा से सूचना प्राप्त हुई कि, संजय रावत नामक युवक द्वारा जहर खाने की कोशिश की गई थी. चिकित्सकों के कथन पर पीड़ित का बयान लिया गया है, जिसमें यह बात सामने आई है कि, संजय रावत द्वारा निखिल प्रजापति नामक युवक के साथ मिलकर बैंड की सामग्री मंगवाई गई थी.

जिसके लिए दोनों युवकों द्वारा 5-5 हजार रुपए की राशि वहन की गई थी. बैंड की सामग्री आने के बाद दोनों के बीच राशि को लेकर विवाद हुआ. राशि लौटाने के लिए निखिल द्वारा 50 रुपए के स्टॉप पेपर पर 50 हजार रुपए की लिखा-पढ़ी करवाई गई है. मामले में स्टॉप पेपर की लिखा पढ़ी करने वाले व्यक्ति का नाम दिया गया है.

टीआई शर्मा का कथन है कि, युवक को बीते एक जुलाई को डराया धमकाया गया था तो, उसकी शिकायत उसी समय किया जाना चाहिए. साथ ही पीड़ित युवक द्वारा करीब एक वर्ष पूर्व स्वयं के अपहरण किए जाने की शिकायत की गई है. संजय रावत द्वारा कई लोगों से उधार रुपए लिए जाने की शिकायत मिली है.

इसे भी पढ़े :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here