फीस माफी को लेकर अभिभावक कल्याण संघ ने दिया धरना

0
107
nagda-news-guardian-welfare-association-holds-protest-over-fee-waiver
एसडीएम कार्यालय के बाहर धरने पर बैठे अभिभावक कल्याण संघ सदस्य।

नागदा. फीस माफी को लेकर अभिभावक कल्याण संघ नागदा ने दोपहर 1 से 3 बजे तक एसडीएम कार्यालय के बाहर सांकेतिक धरना प्रदर्शन किया। जिसका समर्थन कांग्रेस विधायक दिलीपसिंह गुर्जर ने किया। अभिभावक कल्याण संघ नागदा अध्यक्ष शैलेन्द्रसिंह चौहान ने बताया कि शैक्षणिक सत्र 2020-21 कोरोनाकाल होने के कारण विद्यालयों का संचालन भौतिक रूप से नहीं हो सका।

शिक्षा विभाग द्वारा निर्देश जारी किया गया कि, कोई भी विद्यालय सितम्बर माह से किसी प्रकार की फीस ना लें। बावजून स्कूल संचालकों द्वारा पालकों से फीस की मांग की जा रही है। परेशानी यह है कि, नागदा एक औद्याेगिक शहर है। उद्याेग से सैकड़ो ठेका श्रमिकों को बेरोजगार कर दिया गया। जिससे उनके समक्ष आर्थिक संकट उत्पन्न हो गया। तमाम परेशानियों के बावजूद स्कूल संचालकों द्वारा पालकों से पूरे वर्ष की फीस की मांग की जा रही है।

इस मौके पर विधायक दिलीपसिंह गुर्जर ने धरना स्थल पर उपस्थितों को संबोधित करते हुए कहा कि, अभिभावको की मांगो को आगामी विधानसभा सत्र 22 फरवरी 2021 को विधानसभा में उठाया जाएगा।

इसे भी पढ़े : बेटी से दुष्कर्म करने वाले आरोपी को भेजा जेल

तहसीलदार आरके गुहा ने सभी स्कूलों से मीटिंग कर फीस में रियायत दिलवाने का आश्वासन दिया गया है। इस अवसर पर अभिभावक कल्याण संघ सचिव शिल्पा गुप्ता, राजा कर्नावट, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष महिला मेघा धवन, हेमलता शाक्य, सुबोध स्वामी, जगदीश मिमरोट, स्वदेश क्षेत्रीय, लोकुमल खत्री, योगेश मीणा, जेपी मल्लाह, शशिकला क्षत्रीय, शोभना, उर्वशी राठौर, गौराबाई मीणा, मीना सिंगोटिया, कलाबाई, लक्कीसिंह, तरूण गेहलोत, जसवीर कौर, श्याम नन्हेरा, कविता नन्हेरा, शैलेन्द्र सिंगोटिया, निर्मल जैन, निखिल मेहता सहित बड़ी संख्या में अभिभावकगण उपस्थित थे।

nagda-news-guardian-welfare-association-holds-protest-over-fee-waiver
एसडीएम कार्यालय के बाहर धरने पर बैठे अभिभावक कल्याण संघ सदस्य।

Newsmug App: नागदा और देश-दुनिया की खबरें, अपडेट्स और सेहत की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NEWSMUG ऐप। आपके नागदा का  लोकल न्यूज एप।

Google News पर हमें फॉलों करें.