ज्वर (बुखार) दूर करने का शक्तिशाली मन्त्र । Jwar Utarne Ka Mantra

0
31

ज्वर (बुखार) दूर का शक्तिशाली मन्त्र । Jwar Utarne Ka Mantra

मौसम परिवर्तन के साथ ज्वर या बुखार आना स्वभाविक है. खासकर बच्चों को मौसम बदलने के साथ ही सर्दी जुकाम और बुखार आने लगता है. ऐसे में यदि बार-बार बुखार आता है और डॉक्टरों के पास दौड़ना पड़ता है तो घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है. जब भी आपकों या आपके नवजात शिशु को बुखार आए, तो नीचे लिखी गई विधि के साथ इस मंत्र का जप करे. साथ ही चिकित्सकों द्वारा दी गई दवाओं का भी समय पर सेवन करें. मंत्र का सच्चे मन से जाप करने पर ज्वर उतर जाता है. और बाद में पुनरावृत्ति नहीं होती है. जानिए बुखार उतारने का अचूक मंत्र क्या है..

“सुनु खगपति यह कथा पावनी ।
त्रिविध ताप भव भय दावनी ।।”

मन्त्र की प्रयोग विधि और लाभः-

सर्वप्रथम शिवरात्रि के अवसर पर इसे एक लाख बार जप लें. जिसके बाद आवश्यकता हो काँसे की कटोरी में जल भर करके इस मन्त्र से १०८ बार फूँक मारकर रोगी को पिला दें. इस मन्त्र के प्रयोग से तीन तरह के ज्वर और तिजारी ज्वर तो विशेष ही ठीक हो जाते हैं.

इसे भी पढ़े :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here