डेंगू बुखार (Dengue Bukhar) में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं?

0
45
प्रतिकात्मक तस्वीर सोर्स : गूगल

डेंगू बुखार में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं? dengue bukhar me kya khana chahiye kya nahi

डेंगू एक खतरनाक संक्रमण बीमारी है. यह मादा एडीज एजिप्टी मच्छर के काटने से होती है. डेंगू को ‘हड्डीतोड़ बुखार’ के नाम से भी पुकारा जाता है. इससे ग्रसित व्यक्ति को तेज बुखार होता है. इसमें मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द, सिर दर्द, आंखों के पीछे दर्द, उल्टी और मिचली महसूस होना आदि जैसे लक्षण भी दिखाई देते हैं. यदि लापरवाही बरतते हैं, तो यह खतरनाक साबित हो सकता है. इससे पीड़ित मरीज के प्लेटलेट्स कम होने लगते हैं.  डॉक्टर्स भी डेंगू के मरीजों को शीघ्र स्वस्थ होने के लिए कई चीजें खाने की सलाह देते हैं. यदि आपको नहीं पता हैं, तो आइए जानते हैं कि डेंगू बुखार में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं? dengue bukhar me kya khana chahiye kya nahi

प्रतिकात्मक तस्वीर सोर्स : गूगल

पपीते के पत्ते का जूस पीएं

पपीते के पत्ते में विटामिन-सी और एंटीऑक्सिडेंट पाए जाते हैं जो इंसान के इम्यून सिस्टम को मजबूत करने में मददगार सिद्ध होते हैं. डेंगू बुखार से ग्रसित व्यक्ति को प्लेटलेट्स में सुधार के लिए पपीते के पत्ते का जूस पीना चाहिए. इसका दिन में दो बार सेवन करने से जल्द राहत मिलती है.

वेजिटेबल जूस पिएं

सब्जियों में विटामिन-सी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है. ताजी सब्जियों का जूस पीने से इम्यून सिस्टम मजबूत होता है. इसके लिए आप अपनी पसंद की सब्जियों का जूस बनाकर सेवन करें. यदि आप चाहे तो स्वाद के लिए इसमें नींबू का रस भी मिला सकते हैं.

हर्बल चाय पिएं

आयुर्वेद में हर्बल को औषधि की तरह उपयोग किया जाता है. इसमें सैकड़ों औषधीय गुण पाए जाते हैं जो सेहत के लिए उपयुक्त दवा है. इसके लिए आप दालचीनी और अदरक युक्त चाय बनाकर सेवन कर सकते हैं. दोस्तों यदि आप चाहे तो तुलसी, काली मिर्च और लौंग का भी सहारा ले सकते हैं. हर्बल चाय को पीने से मन-मस्तिष्क में ताजगी का संचार होता है.

चिकन सूप पिएं

कई शोध में इस बात की पुष्टि हो चुकी है कि चिकन सूप पीने से सर्दी खांसी और जुकाम में आराम मिलता है. इससे शरीर हाइड्रेट रहता है और शरीर का तापमान बढ़ता है, जिससे बलगम खत्म होने लगता है.

नीम पत्ते का जूस पिएं

इसमें कई औषधीय गुण पाए जाते हैं. चिकित्सकों की मानें तो डेंगू के मरीजों के लिए नीम के पत्ते रामबाण दवा हैं. इसके लिए नीम के पत्तों को जूस पिएं. इसके सेवन से संक्रमण को कंट्रोल करने में सहायता मिलती है.

हल्दी-दूध पिएं

डॉक्टर्स हमेशा फ्लू, सर्दी खांसी और जुकाम को दूर करने के लिए हल्दी-दूध पीने की सलाह देते हैं. यदि आपको हल्दी-दूध पसंद नहीं है, तो हल्दी-पानी का भी सेवन कर सकते हैं.

आंवला जूस पिएं

आंवले में विटामिन-ए और सी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो प्लेटलेट्स बढ़ाने में सहायताा करते है. इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स के गुण पाए जाते हैं. आंवले के सेवन से इम्यून सिस्टम मजबूत होता है और ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस दूर होता है.

किन चीजों से परहेज करें

ऑयली और फ्राइड फूड्स से दूर रहें. बाजार और घर में बनने वाली सभी ऑयली और फ्राइड चीज़ें शामिल हैं. साथ ही कैफीन, कार्बोनेटेड ड्रिंक्स, तीखे और चटपटे चीजें और हाई फैट फूड्स बिल्कुल न खाएं.

अस्वीकारण : स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं. इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें. बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

इसे भी पढ़े :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here