Newsसेहत

Biscuit खाने से क्या होता है – बिस्किट खाने के फायदे और नुक्सान

Biscuit खाने से क्या होता है – बिस्किट खाने के फायदे और नुक्सान – Biscuit Khane Se Kya Hota Hai

बिस्कीट जिसे हम शिशु आयु से खाते आ रहे हैं. यह एक ऐसा खाद्य पदार्थ हैं, जो हर आयु वर्ग के लोगों की पहली पसंद होती है. फिर घर मेहमान आए तो चाय और बिस्कीट सर्व किया जाना तो बनता ही है. यह एक ऐसा व्यंजन हैं जिसे हर किसी के घर में आम तौर पर सुबह शाम चाय के साथ खाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. वर्तमान समय में Biscuit एक ऐसा खाने पदार्थ बन चूका है जो की सभी का Favourite है. हल्की भूख को मिटाने के लिए हम सभी बिस्कीट का सेवन करते हैं.

दोस्तों पोस्ट के जरिए हम जानेंगे बिस्किट खाने से क्या होता है और बिस्कुट खाने के फायदे और नुक्सान. इस पोस्ट में हम बिस्किट से जुड़ी तमाम प्रकार की जानकारी जैसे की- बिस्कुट में क्या होता है, बिस्कुट से बनने वाले ढेरों अन्य व्यंजन, बिस्किट कैसे बनता है एवं इसे बनाने के लिए इस्तेमाल होने वाली मशीनों इत्यादि को विस्तार पूर्वक जानेंगे. तो चलिए शुरू करते है-

biscuit-khane-se-kya-hota-hai
Biscuit Khane Se Kya Hota Hai

Biscuit Khane Se Kya Hota Hai

बिस्कुट खाने से क्या होता है: आधुनिक युग में चाय के साथ इस्तेमाल होने वाला सबसे लोकप्रिय खाद्य पदार्थ लोग बिस्किट को पसंद करते है. बिस्किट वाकई में खाने मे बेहद स्वादिष्ट होता है. दूसरी ओर बेहद ही अच्छी चीज़ का ज़्यादा सेवन करना हमारे लिए हानिकारक हो सकता है.

दोस्तों यदि आप बिस्किट का सेवन आपकी आम ज़िन्दगी में अधिक मात्रा में कर रहे हैं तो इसका नुक्सान आपकों काफी भरी पड़ सकता है और आपको इसके इस्तेमाल पर जल्द से जल्द नियंत्रण रखना चाहिए.

बिस्किट में फैट की अधिकता होती है, जो मानव शरीर को नुकसान पहुंचाने के लिए काफी है. बिस्कीट में मौजूद मेदा हमारे शरीर को वक़्त के साथ मोटा बनाते हैं साथ ही हमारे शरीर में कैलोरी, Blood Sugar, कब्ज़ इत्यादि की मात्रा भी बढ़ाते हैं.

ज़्यादा बिस्किट का सेवन करने से इसमें मौजूद ग्लूटिन आपके शरीर में ज़्यादा एलर्जी होने का कारण बन सकता है. बिस्किट में शक्कर की मात्रा काफी ज़्यादा होती है इस वजह से शरीर में शुगर बढ़ने का कारण बन सकता है. इससे और भी समस्याएं जैसे: मोटापा, कब्ज़, कैविटी इत्यादि भी होने का खतरा बढ़ जाता है.

Biscuit HSN Code and GST Rate

HS Code Description  GST%
190530 Sweet biscuits, waffles and wafers, whether or not containing cocoa
(excluding with water content of > 10%)
5%
190531 Sweet biscuits Products Include: Cookies, Sweet 5%
190590 Bread, Pastry, Cakes, Biscuits and Other Bakers’ Wares, Whether or Not Containing Cocoa; Communion Wafers, Empty Cachets of A Kind Suitable for Pharmaceutical Use, Sealing Wafers, Rice Paper and Similar Products (Excluding Crispbread, Gingerbread and The Like, Sweet Biscuits, Waffles, Wafers Not Mentioned, Rusks, Toasted Bread and Similar Toasted Products), Products Include: Fryums 5%
19053100 SWEET BISCUITS Products Include: Ajwain, Elaichi, Biskut, Good Day Biscuit, Sweet 5%
19059020 BISCUITS NES OR INCLUDED Products include: Parle G, Parle G Biscuit 5%

Biscuit Me Kya Hota Hai

बिस्किट में क्या होता है:

Ingredients Weak/ Medium Flour Strong Flour
Starch 74.5 71.5
Moisture 14.0 13.5
Protiens (Gluten Forming) 7.0 10.0
Protiens (Soluble) 1.0 1.0
Sugar 2.0 2.5
Fat 1.0 1.0
Total 100.0 100.0

बिस्किट में कई तरह के खाने योग्य पदार्थ मिले होते हैं जैसे की:

  • Wheat Flour
  • Wheat Gluten
  • Starch
  • Corn Flour
  • Sucrose
  • Glucose Syrup
  • Cane Surup
  • Invert Syrup
  •  Fructose Syrup
  • Mait Extract
  • Dough Fats and Oils
  • Whole Egg Powder
  • Lecithin
  • Yeast
  • Ammonium Bi-carbonate
  • Sodium Bi-carbonate
  • Acid Calcium Phosphate
  • Sodium Acid Pyrophosphate
  • Salt
  • Sodium Meta-Bisulphite
  • Proteolytic Enzyme

इन पदार्थों की जानकारी आप बिस्किट के पैकेट के पीछे उपलब्ध सामग्री सूची में देख सकते हैं.

Biscuit Ki Lambai

किसी भी बिस्किट की लम्बाई एवं उसका आकर उस बिस्किट के बनाने वाली कंपनी या उत्पादक पर निर्भर करता है. यदि आप किसी कंपनी/ फैक्ट्री में बिस्किट बनाने का कार्य करते हैं तो आपको वहां पर जो निर्धारित साइज कंपनी के मैनेजर द्वारा बताया गया है आपको उसी में उसका प्रोडक्शन करना होगा.

यदि आप अपने घर में बिस्किट बना रहे हैं तो आप उसका आकार एवं लम्बाई आपकी पसंद अनुसार रख सकते हैं. बस आपकों कुछ बेहद ही आवश्यक बातों का ध्यान रखना जरूरी होगा जैसे की –

  • यदि आप अत्यधिक बड़े आकार के बिस्कीट बना रहे हैं तो वो आपके बनाने वाले बर्तन में पूरा ना आ पाए और कुछ कच्चा रह सकता हैं. इसलिए एक मानक आकार में ही बिस्कीट का आकार रखें.
  • दूसरी ओर यदि आप बिस्कीट का आकार बेहद ही छोटा रख रहे हैं और उसे ठीक प्रकार से नहीं सेका तो वह जल सकता है. खाने में काफी कड़ा हो जाएगा.
  • बिस्किट बनाते वक़्त सभी चीज़ों का ख़ास ध्यान रखें.
Biscuit Ki Spelling

बिस्किट को लोग आम तौर पर बिस्कुट कहते हैं, पर इसका सही उच्चारण बिस्किट है और अंग्रेजी में इसकी सही स्पेलिंग BISCUIT है.

Biscuit Khane Ke Fayde Aur Nuksan

बिस्किट खाने से नुक्सान:

मार्केट में मिलने वाले 70% – 80% बिस्किट हमारी सेहत के लिए अच्छे नहीं होते एवं उनका स्वाद हमे इतना अच्छा लगता है की हम उन्हें छोड़ना भी नही चाहते हैं.

अगर आप इन बिस्किट का सेवन सही मात्रा में करते हैं तो आपको किसी तरह की समस्या नहीं होगी पर अगर आप इसे अति मात्रा में लेते हैं तो यह आपको इन तरीकों से नुक्सान पहुंचा सकता है:

  • बिस्किट में उपलब्ध सबसे पहला पदार्थ ग्लूटेन है. यह एक ऐसा पदार्थ है जो की हर तरह की Digestive एवं Multi- Grain बस्किट में उपलब्ध रहती है.
  • इससे होने वाले रोग कम से कम थकान, सूजन, बारी-बारी से कब्ज और दस्त से लेकर सभी तरह के गंभीर रोग जैसे अनजाने में वजन कम होना, कुपोषण, आंतों में दिक्कत जैसा कि ऑटोइम्यून डिसऑर्डर सीलिएक (Autoimmune Disorder Celiac) जैसे रोग देखने को मिल जाते हैं.
  • बिस्किट कंपनी कई बार Fat- Free बिस्किट का दवा करती है पर ये सच नहीं है. क्युकी किसी भी तरह के बिस्किट को बनाने के लिए ह्यड्रोजिनेटेड फैट (Hydrogenated Fat) का इस्तेमाल ना करना बिलकुल नामुमकिन सा होता है.
  • बिस्किट में अत्यधिक मात्रा में शक्कर होने के कारण, अगर आप शुगर के मरीज हैं तो यह आपके लिए जहर का काम करती है, और यह आपके सुगर लेवल को अत्यधिक बढ़ा सकती है.
  • ज़्यादा बिस्किट का सेवन करने से आपको कब्ज़ की समस्या भी सुनने को मिल सकती है, क्यूंकि इसे बनाने के लिए रिफाइंड आटों का इस्तेमाल होता है जिससे बिस्किट खाने में इतना खस्ता एवं स्वादिष्ट लगता है पर इसका अधिक सेवन हमे बहुत महंगा पड़ सकता है.
Biscuit Khane Ke Fayde

अगर हम अपनी आम ज़िन्दगी में सही मात्रा में बिस्किट का सेवन करते हैं तो इसके कुछ फायदे भी हैं जैसे की:

  • मार्केट में उपलब्ध आटा से युक्त ज़्यादा पौष्टिक एवं फाइबर वाली बिस्किट हमारे सेहत के लिए अच्छी साबित होती हैं.
  • एक रिसर्च से पता लगा है की अदरक और बिस्किट के सेवन से उपके, चक्कर आना, सिरदर्द, इत्यादि में राहत मिलता है.
  • Digestive बिस्किट का नियमित रूप से सेवन करने से हृदय रोग और कैंसर जैसे होने वाली बिमारियों को रोका जा सकता है.
  • Digestive बिस्कुट में भी सूजन-रोधी प्रभाव होते हैं, जिससे रुमेटीइड गठिया (Rheumatoid Arthritis), बर्साइटिस (Bursitis), अल्सरेटिव कोलाइटिस (Ulcerative Colitis) जैसी समस्याओं में फायदा देखने को मिलता है.
  • कुछ रिसर्च एजेंसी द्वारा यह भी साबित किया गया है कि Digestive बिस्कुट का सेवन ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है और इसलिए मधुमेह के रोगियों के लिए इसका सेवन करने की सलाह दी जाती है.
Biscuit Khana Chahiye Ya Nahi

बिस्किट खाना चाहिए या नहीं: बिस्किट हमे खाना चाहिए पर ऐसा नहीं की हम अपने रोज़ के खाने को छोड़ कर बस सारे दिन बिस्किट खाकर रह रहे हैं और इसे एकदम अधिक मात्रा में खाने से इसके धेरूँ नुक्सान भी है इस लिए इसका प्रतिदिन सेवन करना अच्छा नहीं इसके अलावा अगर हम हफ्ते में 3-4 बार 5-6 पीस खाते हैं तो हमे इसका कोई ज़्यादा नुक्सान भी नहीं होगा एवं हमारा Taste भी इस बिस्किट से बना रहेगा.

Biscuit Kaise Banate Hain

बिस्किट कैसे बनाते हैं: यदि आप मार्केट की बिस्किट की जगह अपना खुद के हिसाब से घर पर बनाना चाहते हैं तो आप खुद से ही बिस्किट बना सकते हैं जो कि मार्किट वाले बिस्किट के मुकाबले कई गुना फायदेमंद होता है.

इस तरह की बिस्किट में आप health का ख़ास ध्यान रखते हुए कम शक्कर का भी इस्तेमाल कर सकते है और इसे घर में आप जल्दी ख़त्म कर देते तो इसमें किसी तरह की परिरक्षक भी इस्तेमाल नहीं होता है.

आप निचे दी सामग्री की मदद से घर में आपके लिए घर की बनी बिस्किट बड़े आराम से बना सकते हैं:

  • 250 gm आटा
  • 125 gm (पाउडर) चीनी या गुड़
  • 150 gm बटर
  • 1 चम्मच इलाइची पाउडर
Biscuit Banane Ki Vidhi

बिस्किट बनाने की विधि हिंदी में:

  • आटा, चीनी और इलाइची पाउडर को एक बाउल में मिला कर गूंथ लें.
  • आप इसमें मक्खन को आटे में मिला सकते हैं जिस से यह और भी Soft आपको खाने में लगेगा.
  • इस मिश्रण में ब्रेड के टुकड़े मिलाकर एक नरम गूंथा हुआ आटा तैयार कर लें.
  • ध्यान रखे यह गूंथा हुआ आटा नरम होना चाहिए.
  • इसके बाद पेपर में आटे को लपेटकर 30 मिनट के लिए फ्रिज में रख दें.
  • इसके बाद इसे 1/8 Inch की मोटाई में बेल लें.
  • फिर इसे एक अच्छे आकर में काटकर इन्हें बेकिंग ट्रे में लगाएं.
  • इसे पकने से पहले 10 मिनट के लिए ठंडा करें.
  • फिर 170° पर Pre-Heat ओवन में गोल्डन ब्राउन होने त​क बेक करे.
Biscuit Khane Se Kya Hota Hai – FAQs
Biscuit Ki Recipe

बिस्किट बनाने की पूर्ण recepie इस आर्टिकल में ऊपर विस्तार में लिखी है.

Biscuit Banane Ka Tarika

बिस्किट बनाने के दो तरीके हैं. एक घर में दूसरा फैक्ट्री में. अगर आप इनदोनो तरीकों के बारे में विस्तार में पढ़ना चाहते है तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Biscuit for Weight Loss

मार्केट में कुछ आटा युक्त मल्टी- ग्रेन बिस्किट उपलब्ध हैं जिनका कम मात्रा में इस्तेमाल कर के हम अपने बढ़ते वजन को कंट्रोल कर सकते हैं.

Biscuit Khane Ke Nuksan

बिस्किट खाने से ढेरों नुक्सान हैं अगर आप इन नुकसानों के बारे में विस्तार में जानना चाहते हैं तो आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़ सकते हैं.

दोस्तों आशा करते हैं कि, आपकों हमारा यह बेहद ही राेचक पोस्ट बिस्किट खाने से क्या होता है और बिस्कुट खाने के फायदे और नुक्सान पसंद आई होगी. यदि पोस्ट से जुड़ा कोई सवाल हैं तो हमें कंमेट कर पूछे, निश्चित रूप से हम आपकों जवाब देंगे.

You may also like these:

KAMLESH VERMA

दैनिक भास्कर और पत्रिका जैसे राष्ट्रीय अखबार में बतौर रिपोर्टर सात वर्ष का अनुभव रखने वाले कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है. कमलेश वर्तमान में साऊदी अरब से लौटे हैं। खाड़ी देश से संबंधित मदद के लिए इनसे संपर्क किया जा सकता हैं।

Related Articles

DMCA.com Protection Status
पान का इतिहास | History of Paan महा शिवरात्रि शायरी स्टेटस | Maha Shivratri Shayari सवाल जवाब शायरी- पढ़िए सीकर की पायल ने जीता बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड सफल लोगों की अच्छी आदतें, जानें आलस क्यों आता हैं, जानिएं इसका कारण आम खाने के जबरदस्त फायदे Best Aansoo Shayari – पढ़िए शायरी