Newsबड़ी खबर

भारत के 28 राज्यों के नाम और उनकी राजधानी | Bharat Ke 28 Rajyon Ke Naam

भारत के 28 राज्यों के नाम और उनकी राजधानी | Bharat Ke 28 Rajyon Ke Naam

भारत विश्व के दक्षिण एशिया में स्थित भारतीय उपमहाद्वीप का सबसे बड़ा हिंदू देश है। भौगोलिक आकार की बात की जाए तो भारत विश्व का सातवां सबसे बड़ा देश है, जबकि जनसंख्या की दृष्टि से यह चीन के बाद दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश है। यदि आप नहीं जानते की, भारत के 28 राज्यों के नाम और उनकी राजधानी | Bharat Ke 28 Rajyon Ke Naam क्या हैं इसके साथ केंद्रशासित प्रदेश के नाम क्या है? तो हम आपके सभी प्रश्नों का उत्तर विस्तार पूर्वक इस लेख में मिल जाएगा।

दोस्तों भारत देश की सीमा पश्चिम में पाकिस्तान, उत्तर पूर्व में चीन, नेपाल और भूटान, पूर्व में बांग्लादेश और म्यांमार से सटी हैं। हिंद महासागर में, यह दक्षिण-पश्चिम में मालदीव, दक्षिण में श्रीलंका और दक्षिण-पूर्व में इंडोनेशिया के साथ एक समुद्री सीमा साझा करता है। इसके उत्तर में हिमालय पर्वत और दक्षिण में हिंद महासागर स्थित है। दक्षिण-पूर्व में बंगाल की खाड़ी और पश्चिम में अरब सागर बांहे फैलाएं बहता है।

1000 साल पूर्व सिंधु नदी के पश्चिमी तट पर मानव बस्ती बसी थी, जहां से वे धीरे-धीरे चले गए और सिंधु घाटी सभ्यता में विकसित हुए। 1,200 ईसा पूर्व तक, संस्कृत भाषा पूरे भारतीय उपमहाद्वीप में फैल गई थी और तब तक यहां सनातन धर्म का उदय हो चुका था और ऋग्वेद की रचना भी हो चुकी थी। 400 ईसा पूर्व तक, हिंदू धर्म में जातिवाद देखा जाता है। उसी समय बौद्ध और जैन धर्म का जन्म हो रहा है। प्रारंभिक राजनीतिक समेकन ने गंगा बेसिन में स्थित मौर्य और गुप्त साम्राज्यों को जन्म दिया। उनका समाज व्यापक रचनात्मकता से भरा था।

भारत के दो आधिकारिक यानी ऑफिशियल नाम हैं – हिंदी में भारत और अंग्रेजी में India। भारत नाम सिंधु नदी के अंग्रेजी नाम “सिंधु” से लिया गया है। श्रीमद्भागवत महापुराण में उल्लेखित एक धार्मिक कथा के अनुसार, भारत नाम एक प्राचीन सम्राट भरत, मनु के वंशज और ऋषभदेव के सबसे बड़े पुत्र के नाम से लिया गया है। एक व्युत्पत्ति के अनुसार, भरत (भा + रत) शब्द का अर्थ है आंतरिक प्रकाश में लीन। एक तीसरा नाम हिंदुस्तान भी है जिसका अर्थ है हिंद की भूमि, यह नाम विशेष रूप से अरब और ईरान में लोकप्रिय हुआ।

भारत का राष्ट्रीय चिन्ह सारनाथ में अशोक स्तंभ की प्रतिकृति है, जो सारनाथ के संग्रहालय में वर्तमान में बेहद ही सुरक्षित तरीके से संरक्षित कर रखा गया है। भारत सरकार ने 26 जनवरी 1950 को इस प्रतीक को अधिकारिक तौर पर अपनाया था। इसमें केवल तीन शेर दिखाई देते हैं, चौथा शेर दिखाई नहीं देता। जिसे साल 2022 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुछ बदलाव कर चौथे सिंह के मुख को भी दृश्य कर दिया। राष्ट्रीय चिन्ह के नीचे देवनागरी लिपि में ‘सत्यमेव जयते’ पढ़ने को मिलता है। भारत के राष्ट्रीय ध्वज में तीन समानांतर आयताकार धारियां हैं। ऊपर की पट्टी केसरिया रंग की है, बीच की पट्टी सफेद रंग की है और निचली पट्टी गहरे हरे रंग की है। झंडे की लंबाई और चौड़ाई का अनुपात 3:2 है।

bharat-ke-28-rajyon-ke-naam

भारत के 28 राज्यों के नाम और उनकी राजधानी | Bharat Ke 28 Rajyon Ke Naam

क्रमांक राज्य राजधानी
1. आंध्र प्रदेश अमरावती
2. अरुणाचल प्रदेश ईटानगर
3. असम दिसपुर
4. बिहार पटना
5. छत्तीसगढ़ रायपुर
6. गोवा पणजी
7. गुजरात गांधीनगर
8. हरियाणा चंडीगढ़
9. हिमाचल प्रदेश शिमला
10. झारखंड रांची
11. कर्नाटक बेंगलुरू
12. केरल तिरुवनंतपुरम
13. मध्य प्रदेश भोपाल
14. महाराष्ट्र मुंबई
15. मणिपुर इंफाल
16. मेघालय शिलांग
17. मिजोरम आइजोल
18. नागालैंड कोहिमा
19. ओडिशा भुवनेश्वर
20. पंजाब चंडीगढ़
21. राजस्थान जयपुर
22. सिक्किम गंगटोक
23. तमिलनाडु चेन्नई
24. तेलंगना हैदराबाद
25. त्रिपुरा अगरतला
26. उत्तर प्रदेश लखनऊ
27. उत्तराखंड देहरादून
28. पश्चिम बंगाल कोलकाता

केंद्रशासित प्रदेश

क्रमांक केंद्रशासित प्रदेश राजधानी
01. अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह पोर्ट ब्लेयर
02. चंडीगढ़ चंडीगढ़
03. दादर नगर हवेली एवं दमन और दीप दमन
04. दिल्ली नई दिल्ली
05. जम्मू कश्मीर श्रीनगर
06. लद्दाख लेह
07. लक्षदीप kavaratti
08. पुददुचेरी पुददुचेरी

अब आप समझ गए होंगे की, भारत के 28 राज्यों के नाम और उनकी राजधानी | Bharat Ke 28 Rajyon Ke Naam के नाम क्या है। आपको बता दे की, लगभग 1.3 मिलियन सक्रिय सैनिकों के साथ, भारतीय सेना दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी सेना है। भारत के सशस्त्र बलों में एक सेना, नौसेना, वायु सेना और अर्धसैनिक बल, रणनीतिक और सहायक बल जैसे तटरक्षक बल शामिल हैं। भारत के राष्ट्रपति भारतीय सशस्त्र बलों के सर्वोच्च कमांडर हैं।

इसे भी पढ़े :

KAMLESH VERMA

दैनिक भास्कर और पत्रिका जैसे राष्ट्रीय अखबार में बतौर रिपोर्टर सात वर्ष का अनुभव रखने वाले कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है. कमलेश वर्तमान में साऊदी अरब से लौटे हैं। खाड़ी देश से संबंधित मदद के लिए इनसे संपर्क किया जा सकता हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status
पान का इतिहास | History of Paan महा शिवरात्रि शायरी स्टेटस | Maha Shivratri Shayari सवाल जवाब शायरी- पढ़िए सीकर की पायल ने जीता बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड सफल लोगों की अच्छी आदतें, जानें आलस क्यों आता हैं, जानिएं इसका कारण आम खाने के जबरदस्त फायदे Best Aansoo Shayari – पढ़िए शायरी