ग्रेसिम उद्योग प्रबंधन नागदा 60 स्थायी श्रमिकों के स्थान पर

नागदा। ग्रेसिम उद्योग प्रबंधन नागदा ने 60 स्थायी श्रमिकों के स्थान पर ठेका श्रमिकों को लगाने की तैयार कर ली है। इन स्थायी श्रमिकों को पहले तो अन्य विभागों में संविलियन किया जाएगा। जिसके  बाद  आवश्यकता नहीं होने का कह कर घर भेजने की तैयारी भी की जा रही हैं। पटिए पर ठेका प्रथा के […]Read More

सिक्युरिटी गेट एंट्री पास से ठेका श्रमिकों को काम पर

नागदा. grasim industries limited nagda प्रबंधन द्वारा कोरोना काल का बहाना बनाकर व बाजार में उनके उत्पाद नहीं बिकने का कारण बताकर उद्योग में कार्यरत 3500 हजार से ज्यादा ठेका श्रमिकों को काम पर नहीं बुलाया जा रहा है। जिसको लेकर कांग्रेस कमेटी द्वारा विधायक दिलीपसिंह गुर्जर के नेतृत्व में नगर बंद तक कराया गया। […]Read More

ग्रेसिम उद्योग नागदा के ठेका श्रमिकों को कार्य बुलाएं जाने

grasim industries limited nagda में कार्यरत करीब 3500 ठेका श्रमिक बीते 23 मार्च से बेरोजगार है। कोरोना महामारी के कारण श्रमिकों बीते 23 मार्च से कार्य से विरह रखा गया है। अनलॉक प्रक्रिया के अंतर्गत ग्रेसिम उद्योग 05/05/2020 को शुरू कर दिया गया है। लेकिन उद्योग में कार्यरत 3500 ठेका श्रमिको को काम पर नहीं […]Read More

ग्रेसिम उद्योग ने ठेका श्रमिकों को काम पर नहीं बुलाया

नागदा। करीब 6 माह से घर बैठे grasim industries limited nagda ठेका श्रमिकों के हित में कांग्रेस विधायक दिलीपसिंह गुर्जर ने आवाज उठाई है। श्रमिकों को कार्य पर बुलाए जाने की मांग को लेकर बुधवार को एसडीएम पुरुर्षोत्म कुमार व लेबर कमिश्नर को एक ज्ञापन सौंपा है। जिसमें उल्लेख है कि grasim industries limited nagda […]Read More