Newsसेहत

होली के अवसर पर घर में बनाएं सूजी ड्राय फ्रूट गुजिया – Sooji Dry Fruits Gujiya Recipe

Sooji Dry Fruits Gujiya Recipe : दोस्तों मार्च महीना चल रहा है. आने वाली 08 मार्च 2023 को रंगों का पर्व होली आ रहा है. निश्चित रुप से आप इस समय होली की तैयारियां कर रहे होंगे. आने वाले मेेहमानों के लिए खास और लजीज पकवान भी बनाने की तैयारी कर रहे होंगे. आप लोगों ने दीपावली पर सूजी की गुजिया तो जरूर खाई होगी. लेकिन सूजी और सूखे मेवे को मिला कर बनाई हुई गुजिया (Sooji Dry Fruits Gujiya Recipe) स्वाद में तो बेहतर होती ही हैं, इनकी शेल्फ लाइफ अन्य गुजिया के मुकाबले अधिक भी होती है. यदि गुजिया बनाने के लिये मावा उपलब्ध न हो तो फिर सूजी की गुजिया बनाना एक बेहतर विकल्प रह जाता है.

ये भी पढ़िए – होली की रात करें ये 5 चमत्कारिक उपाय, मिलेगा जीवन में यश

चलिए गुजिया बनाने में हम आपकी थोड़ी सी मदद जरूर करते है, लेकिन आप सोच रही होंगी कि कैसे ? आपने कई चीजें बनाने के लिए सोची होगी लेकिन आपको ये नहीं पता इन रेसिपी को कैसे बनाएंगे. आज हम आपको सूजी और ड्राय फ्रूट की गुजिया बनाने की रेसिपी बता रहे हैं। चलिए देर ना करते हुए हम आपकों Sooji Dry Fruits Gujiya Recipe बता रहे हैं.

आवश्यक सामग्री :

  • मैदा – 2 कप (250 ग्राम)
  • घी – ¼ कप (60 ग्राम)
  • दही या दूध – 1/4 कप
sooji-dry-fruits-gujiya-recipe-in-hindi
Sooji Dry Fruits Gujiya Recipe

स्टफिंग के लिये :

  • सूजी – 3/4 कप (150 ग्राम)
  • पाउडर चीनी – 3/4 कप
  • ड्राय फ्रूट्स – 1 कप (काजू, अखरोट, बादाम, किशमिश)
  • छोटी इलायची – 7-8
  • घी – गुजिया तलने के लिए और सूजी भूनने के लिए

बनाने की विधि :

दोस्तों आपकों सबसे पहले मैदा को किसी बर्तन में निकाल लीजिये, घी और दही आटे में डाल कर, पूरे आटे को ठीक प्रकार से मिलाएं. जिसके बाद थोड़ा-थोड़ा पानी डालते हुए पूड़ी के आटे से थोड़ा कड़क आटा गूंथे. जिसके बाद आटे को सेट होने के लिए आधे घंटे लिए कपड़े से ढ़ककर छोड़ दें.

ये भी पढ़िये –इस तरह मेहमानों के लिए बनाएं चीकू का हलवा, ये है आसान विधि

ऐसे बनायें स्टफिंग :

  • सबसे पहले आपकों ड्राय फ्रूट्स को छोटे छोटे आकार में काटकर तैयार करना होगा. इसी प्रकार हरी इलायची को छीलकर पाउडर बनाना होगा.
  • जिसके बाद कढ़ाई में 2 टेबल स्पून घी डालकर मीडिया आंच पर गर्म करें, घी में सूजी डालकर पलटे की सहायता से  लगातार चलाते हुए हल्का गोल्डन ब्राउन होने तक भूनें. सूजी के भूनने पर इसमें कटे हुए ड्राय फ्रूट्स डाल दीजिए और 1-2 मिनिट मिक्स करते हुए भून लीजिए. ताकि ड्राय फ्रूट्स को पका लें.
  • सूजी भूनने के बाद गैस को बंद कर सूजी को थोड़ी देर तक चलाए. जिसके बाद सूजी को एक बर्तन में निकाल कर ठंडा होने दें.
  • सेट करने के लिए रखे गए आटे को मसल-मसल कर मुलायम करें, जिसके बाद आटे से छोटी छोटी 25 लोई तोड़ कर बना लीजिये, लोइयों को ढ़ककर रख दें.
sooji-dry-fruits-gujiya-recipe-in-hindi
Sooji Dry Fruits Gujiya Recipe
  • सूजी के हल्का ठंडा होने पर इसमें पाउडर चीनी और इलायची का पाउडर डाल कर मिला लीजिए.अब गुजिया में भरने के लिए मिक्सर तैयार है.
  • अब एक लोई निकालें 3-4 इंच के व्यास में पूरी बनाएं, बेली हुई पूरी थाली में रखते जाइये. लगभग 10 पूरियां बेलकर तैयार कर लीजिए, अब इन्हें भर कर गुजिया बनाएं.
  • जिसके बाद एक पूरी को उठाए और सांचे के ऊपर रखें, एक या डेढ़ चम्मच स्टफिंग पूरी के ऊपर डालिये, किनारों पर उंगली के सहारे से पानी लगाइये.
  • सांचे को बन्द करके दबाएं, गुजिया से अतिरिक्त पूरी हटा दें. अब सांचे को खोले, गुजिया निकाल कर थाली में रखिये.

ये भी पढ़िये –इटालियन लज़ान्या बनाने की आसान विधि, जानें

ऐसे तलिये गुजिया :

सबसे पहले कढ़ाई में घी डाल कर गर्म करें. गैस की आंच को मीडियम फ्लेम परर रखकर गुजिया डालें. गैस की मीडियाम आंच पर ही गुजिया को हल्के ब्राउन होने तक पलट-पलट कर तलिए. सारी गुजिया इसी प्रकार तल कर निकाल लें. गुजिया तैयार हैं, गरमा गरमा गुजिया अपने मेहमानों को परोसिए.

sooji-dry-fruits-gujiya-recipe-in-hindi
Sooji Dry Fruits Gujiya Recipe

सुझाव :

  • ध्यान रहे कि गुजिया की स्टफिंग में मेवा अपनी पसंद के अनुसार सभी प्रकार के ड्राय फ्रूट्स ले सकते हैं. अपने अनुसार कम या ज्यादा कर सकते हैं .
  • गुजिया भरते समय रखते उठाते समय ध्यान रखिये. गुजिया फटे नहीं. यदि तलते समय कोई गुजिया घी में फट जाएं तो उसे सबसे आखिरी में तले.

Google News पर हमें फॉलों करें.

 दरभंगा हाउस का इतिहास 
 थावे मंदिर का इतिहास 
Period में Lip Kiss करने से क्या होता है
100+मसालों के नाम चित्र सहित?
जानवरों के नाम | List of Animals
 ENO पीने के फायदे और नुकसान
ताड़ी पीने से क्या होता है 
 फूलों के नाम संस्कृत में 
पैर में काला धागा बांधने से क्या होता हैं.
सल्फास का यूज़ कैसे करें, खाने के नुकसान
 रामकोला धर्मसमधा मंदिर इतिहास 
 
परीक्षाओं में पाना चाहते हैं सफलता तो
गुल खाने से क्या होता है 
प्लास्टिक की वस्तुओं के नाम संस्कृत में

KAMLESH VERMA

दैनिक भास्कर और पत्रिका जैसे राष्ट्रीय अखबार में बतौर रिपोर्टर सात वर्ष का अनुभव रखने वाले कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है. कमलेश वर्तमान में साऊदी अरब से लौटे हैं। खाड़ी देश से संबंधित मदद के लिए इनसे संपर्क किया जा सकता हैं।

Related Articles

DMCA.com Protection Status
पान का इतिहास | History of Paan महा शिवरात्रि शायरी स्टेटस | Maha Shivratri Shayari सवाल जवाब शायरी- पढ़िए सीकर की पायल ने जीता बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड सफल लोगों की अच्छी आदतें, जानें आलस क्यों आता हैं, जानिएं इसका कारण आम खाने के जबरदस्त फायदे Best Aansoo Shayari – पढ़िए शायरी