Newsसेहत

पीरियड में शनिवार को बाल धोना चाहिए कि नहीं – जानिएं सम्पूर्ण जानकारी

पीरियड में शनिवार को बाल धोना चाहिए कि नहीं – जानिएं सम्पूर्ण जानकारी | Period Me Shaniwar Ko Bal Dhona Chahie ki Nhi

पीरियड में शनिवार को बाल धोना चाहिए कि नहीं – सम्पूर्ण जानकारी – महिलाओं के पीरियड को लेकर हिंदू धर्म में दर्जनों  मान्यताएं प्रचलित हैं. जैसे – पीरियड के दौरान महिलाओं का खाना बनाना वर्जित माना जाता हैं. पौराणिक मान्यता है की पीरियड के दौरान एक महिला का शरीर पूर्ण रूप से अशुद्ध होता हैं. ऐसे में महिलाओ को पीरियड के दौरान किसी भी पूजन और शुभ कार्य में शामिल होने से बचना चाहिए.

पीरियड के दौरान महिलाओ को बाल धोने को लेकर भी हिंदू धर्म दर्जनों पौराणिक मान्यता है उसके बारे में आज हम आपको इस आर्टिकल के जरिए संक्षिप्त रूप से बताने वाले हैं. इसलिए आज का हमारा यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़े.

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के जरिए आपको बताएंगे कि, पीरियड में शनिवार को बाल धोना चाहिए कि नहीं. इसके अलावा इस टॉपिक से जुड़ी अन्य और भी महत्वपूर्ण जानकारी आपके साथ साझा करेंगे। तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

पीरियड में शनिवार को बाल धोना चाहिए कि नहीं

पीरियड में शनिवार को बाल धोना चाहिए कि नहीं यह सवाल हजारों महिलाओं द्वारा गूगल में खोजा जाता है. लेकिन इस सवाल का जवाब है की यह आप पर निर्भर करता है की पीरियड के दौरान शनिवार को बाल धोना चाहिए या नहीं. कई महिलाएं होती है जो पीरियड में भी शनिवार के दिन बाल धोती हैं. तो काफी महिलाएं इस नियम काे केवल एक मान्यता मानकर इसका पालन करती हैं. और पीरियड में शनिवार के दिन बाल नहीं धोती हैं. बाल धोना या ना धाेना आपकी मर्जी पर निर्भर करता हैं.

लेकिन हिंदू धर्म की पौराणिक और प्रचलित मान्यता के अनुसार ऐसा माना जाता है की पीरियड के दौरान शनिवार के दिन बाल धोने से शनि देवता नाराज हो जाते हैं. और उनकी इस नाराजगी के कारण हमें जीवन में कठिन परेशानियों से गुजरना पड़ता है। इसलिए काफी महिलाएं इस नियम का पालन करते हुए पीरियड में शनिवार के दिन बाल नहीं धोती हैं.

पीरियड में शुक्रवार को बाल धोना चाहिए

जी हां पीरियड में शुक्रवार के दिन आप बाल धो सकते हैं. पीरियड में शुक्रवार के दिन बाल धोने में कोई भी बुराई नहीं हैं.

बाल किस दिन धोना चाहिए और किस दिन नहीं

बाल किस दिन धोना चाहिए और किस दिन नहीं इस बारे में हमने नीचे जानकारी प्रदान की हैं. साथ साथ इससे होने वाले असर के बारे में भी जानकारी प्रदान की हैं.

सोमवार

अगर आप सुहागन स्त्री हैं. तो आपको सोमवार के दिन बाल धोने से बचना चाहिए. ऐसा माना जाता है की सोमवार के दिन सुहागन स्त्रियाँ बाल धोती हैं. तो घर परिवार में उन्नति नही आती हैं. और जीवन में बाधाएं उत्पन्न होने लगती हैं.

लेकिन अगर आप कुँवारी लड़की हैं. तो आप सोमवार के दिन बाल धो सकती हैं.

मंगलवार

मंगलवार के दिन सुहागन स्त्रियों को बाल धोने से बचना चाहिए. ऐसा माना जाता है की मंगलवार के दिन सुहागन स्त्रियाँ अगर बाल धोती हैं. तो इससे घर में नकारात्मकता आती हैं. इसके अलावा कुँवारी लडकियों को भी मंगलवार के दिन बाल धोने से बचना चाहिए.

बुधवार

बुधवार के दिन कुँवारी कन्या और सुहागन स्त्रियाँ दोनों ही बाल धो सकती हैं. यह दिन बाल धोने के लिए उपयुक्त माना गया है. ऐसा माना जाता है की इन दिन बाल धोने से घर में धन और व्यापार की वृद्धि होती हैं.

गुरूवार

गुरूवार के दिन सुहागन स्त्रियाँ और कुँवारी कन्या दोनों को ही बाल धोने से बचना चाहिए. ऐसा माना जाता है की इस दिन बाल धोने से उम्र कम होती हैं. और हमें आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ता हैं. इससे धन की कमी होती हैं.

शुक्रवार

शुक्रवार के दिन कोई भी बाल धो सकता हैं. शुक्रवार के दिन बाल धोना शुभ माना जाता है. ऐसा माना जाता है की इस दिन बाल धोने से माता लक्ष्मी और शुक्र देवता के आशीर्वाद की प्राप्ति होती हैं. इससे धन की भी प्राप्ति होती हैं.

शनिवार

शनिवार के दिन बाल धोना अशुभ माना जाता हैं. इस दिन सुहागन स्त्रियों को कभी बाल नही धोने चाहिए. ऐसा माना जाता है की शनिवार के दिन बाल धोने से शनिदेवता नाराज हो जाते हैं. और इससे हमें धन की कमी का सामना करना पड़ता हैं.

रविवार

रविवार के दिन सुहागन स्त्रियों को बाल धोने से बचना चाहिए. लेकिन कुँवारी कन्याएं इस दिन बाल धो सकती हैं. इस दिन सुहागन स्त्रियाँ बाल धोने से परिवार में कलह उत्पन्न होता हैं.

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया है पीरियड में शनिवार को बाल धोना चाहिए कि नहींइसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान की हैं.

हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा. अगर उपयोगी साबित हुआ हैं. तो आगे जरुर शेयर करे. ताकि अन्य लोगो तक भी यह महत्वपूर्ण जानकारी पहुंच सके.

इसे भी पढ़े :

KAMLESH VERMA

दैनिक भास्कर और पत्रिका जैसे राष्ट्रीय अखबार में बतौर रिपोर्टर सात वर्ष का अनुभव रखने वाले कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है. कमलेश वर्तमान में साऊदी अरब से लौटे हैं। खाड़ी देश से संबंधित मदद के लिए इनसे संपर्क किया जा सकता हैं।

Related Articles

DMCA.com Protection Status
पान का इतिहास | History of Paan महा शिवरात्रि शायरी स्टेटस | Maha Shivratri Shayari सवाल जवाब शायरी- पढ़िए सीकर की पायल ने जीता बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड सफल लोगों की अच्छी आदतें, जानें आलस क्यों आता हैं, जानिएं इसका कारण आम खाने के जबरदस्त फायदे Best Aansoo Shayari – पढ़िए शायरी