NewsNagda

कृषि उपज मंडी में फिर बदमाशों ने दिया चोरी की वारदात को अंजाम

नागदा. कृषि उपज मंडी नागदा में अनाज चोरी की वारदात को एक बार फिर बदमाशों ने अंजाम दिया। गुरुवार कि रात अज्ञात बदमाश मंडी परिसर में सोयाबीन के 10 कट्‌टे ले गए। प्रत्येक कट्‌टे में 50 से 60 किलो सोयाबीन थी। इस मान से बदमाश लगभग 6 क्विंटल सोयाबीन ले गए, जिसकी वर्तमान किमत लगभग 30 हजार रुपए है।

यह अनाज व्यापारी दिलीप कांठेड का था। मंडी परिसर में लगातार हो रही चोरी की वारदात से गुस्सांए व्यापारियों ने मंडी प्रबंधक के समक्ष पहुंचकर उनके माल की सुरक्षा उपलब्ध कराने की मांग की। व्यापारियों का कहना था कि मंडी चौकीदार की लापरवाही से मंडी में लगातार चोरी हो रही है।

nagda-news-in-the-agricultural-produce-market-again-the-miscreants-executed-the-theft-incident
कृषि उपज मंडी में फिर बदमाशों ने दिया चोरी की वारदात को अंजाम

जिसके बाद व्यापारी मंडी पुलिस थाने पहुंचे और थाना प्रभारी श्यामचंद्र शर्मा के समक्ष फरियाद की। थाना प्रभारी ने मंडी सचिव को बुलाकर मंडी परिसर में अतिरिक्त सीसीटीवी कैमरे व विद्युत लाईट लगाने की बात कही। इधर मंडी प्रबंधक ने चौकीदार को नोटिस जारी किया है। व्यापारियों ने एक अतिरिक्त चौकीदार रखने का कहा है।

प्रत्येक माह हो रही चोरी

मंडी परिसर में गत ढेड़ वर्ष से लगातार प्रत्येक माह चोरी की वारदात हो रही है। विशेषकर सोयाबीन व चने की चोरी होती है। इसके पूर्व 14 फरवरी को दीपिका ट्रेडर्स के यहां से बदमाश 4 क्विंवटल सोयाबीन ले गए थे। उसके पूर्व व्यापारी राधेश्याम पोरवाल के यहां से दो क्विंवटल सोयाबीन की चोरी हुई थी। इसी प्रकार व्यापारी दिलीप कांठेड, शेलू चक, राजेश गेलड़ा  के यहां से 4-4 बार चोरी की वारदात हो चुकी है। अभी तक लगभग 50 क्विंवटल से अधिक की सोयाबीन व लगभग बीस क्विंवटल से अधिक चने की चोरी हो चुकी है। लेकिन अभी तक पुलिस एक भी चोरी की वारदात का खुलासा नहीं कर पाई है।

क्यों होती है बार-बार चोरी

नागदा मंडी परिसर में महज एक ही चौकीदार है। वह भी रात के समय मुख्य गेट पर तैनात रहता है। मंडी के समीप एक नाला है। नाले के उस पार मैदान व जंगल है। इसी रास्ते से बदमाश रात के समय मंडी परिसर में प्रवेश करते है। इस नाले के पास की बाउंड्री काफी छोटी है। हालाकि मंडी प्रबंधक ने बाउंड्री के उपर तार फेिसंग कर रखे है। लेकिन बदमाश इन तार को आसानी से खोल देते है और वारदात को अंजाम देने के बाद उसे पुन: लगा भी देते है। मंडी परिसर में सिर्फ मुख्य गेट व दोनों फ्लेट फार्म पर ही कैमरे लगे हुए है। आसपास बाउंड्रीवॉल पर कैमरे नहीं होने से भी चाेर इस का लाभ उठाते है।

आईसीआईसीआई बैंक नागदा से संबंधित खबरें

लेटेस्ट नागदा न्यूज़, के लिए न्यूज मग एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

KAMLESH VERMA

दैनिक भास्कर और पत्रिका जैसे राष्ट्रीय अखबार में बतौर रिपोर्टर सात वर्ष का अनुभव रखने वाले कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है. कमलेश वर्तमान में साऊदी अरब से लौटे हैं। खाड़ी देश से संबंधित मदद के लिए इनसे संपर्क किया जा सकता हैं।

Related Articles

DMCA.com Protection Status
चुनाव पर सुविचार | Election Quotes in Hindi स्टार्टअप पर सुविचार | Startup Quotes in Hindi पान का इतिहास | History of Paan महा शिवरात्रि शायरी स्टेटस | Maha Shivratri Shayari सवाल जवाब शायरी- पढ़िए सीकर की पायल ने जीता बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड सफल लोगों की अच्छी आदतें, जानें आलस क्यों आता हैं, जानिएं इसका कारण आम खाने के जबरदस्त फायदे Best Aansoo Shayari – पढ़िए शायरी