प्रधानमंत्री जी को पत्र कैसे लिखें | How To Write Letter to Prime Minister In Hindi

0
31

प्रधानमंत्री जी को पत्र कैसे लिखें | How To Write Letter to Prime Minister In Hindi

नमस्कार दोस्तों आशा करते है कोरोना महामारी के दौर में आप सभी स्वस्थ्य होंगे. आज हम इस पोस्ट के माध्यम से बताएँगे की प्रधानमंत्री जी को पत्र कैसे लिखा जाता हैं और किस माध्यम से हम यह पत्र उन तक पंहुचा सकते हैं. भारत सरकार द्वारा एक ऑनलाइन पोर्टल संचालित किया जाता हैं जिसके जरिए आप अपनी परेशानी, सुझाव या आपके विचार को देश के माननीय प्रधानमंत्री तक पहुंचा सकते हैं.

दाेस्तों सबसे पहले आपकों इस वेबसाइट pmindia.gov.in पर जाना होगा. इस वेबसाइट पर जाने के बाद कुछ इस तरह एक विंडो ओपन होगी.

इस वेबसाइट पर जाने के बाद आप अपनी पसंद की भाषा को सेलेक्ट कर सकते हैं.

इसके बाद आपको “प्रधानमंत्री को लिखे” आप्शन पर क्लिक करे. जिसके बाद एक नए टैब में एक फोम खुलेगा. जिसे आपको भरना हैं.

जिस बॉक्स में अपना विचार, शिकायत या पत्र लिखेगे उसमे 4000 शब्दों की सीमा हैं.

इसे भरने के बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना हैं.

सबमिट करने के बाद आपके मोबाइल नंबर और सम्बंधित ईमेल पर मेसेज प्राप्त होगा.

उदहारण के लिए आप निम्नलिखित पत्र को देख सकते हैं. | Sample Letter Format to Prime Minister of India

सेवा में ,
माननीय प्रधानमंत्री जी,

विषय :- यहाँ पर अपना विषय लिखे. मतलब आप कौन सी परेशानी को प्रधानमंत्री तक पहुंचाना चाहते हैं.

माननीय महोदय,
यहाँ आपको आपके विषय से सम्बंधित जानकारी लिखना हैं. आप किसी भी विषय पर आसानी से लिख सकते है. इसके लिए सबसे पहले आपके पास एक ऐसा विषय होना चाहिए, जिस पर आप किसी व्यक्ति को शिकायत संबंधित पत्र लिख सकते है. कुछ लोग समझते है हिंदी में पत्र लिखना, अंग्रेजी में पत्र लिखने से कठिन है या उसका फ़ॉर्मेट बदल जाता है, परंतु ऐसा नहीं है जैसे अंग्रेजी में पत्र लिखा जाता है उसी प्रारूप में हिंदी में भी पत्र लिखा जाता है. आपको इस लेख में दिए गए उदाहरण से आसानी से पता चल जाएगा हिंदी में किसी भी विषय पर शिकायत पत्र कैसे आप बेहद ही आसानी से लिख सकते है. इसमें आपको बड़ी ही सावधानी के साथ विनम्रता से अपनी शिकायत को लिखना होता है. आशा है आपको यह पत्र बहुत अधिक सहायता करेगा.

धन्यवाद

(आपके हस्ताक्षर)
(आपका नाम)
(आपका संपर्क पता)
(आपका संपर्क मोबाइल नंबर / फोन नंबर)

आप इस पत्र के माध्यम से समझ सकते हैं कि शिकायत पत्र कैसा होता हैं.

इसे भी पढ़े :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here