देशी घी खाने के 22 फायदे । 22 benefits of eating Ghee

0
25
desi-ghee-faydey

देशी घी खाने के 22 फायदे ।  22 benefits of eating Ghee

 तकनीकी युग के युवक-युवतियों के बीच ऐसी अवधारणा है कि, देशी घी के सेवन से मोटापा में वृद्धि होती है. लेकिन प्राचीन चिकित्सा पद्धति आयुर्वेद के अनुसार देशी घी के सही तरीके से प्रयोग करने से शरीर की अतिरिक्त वसा घटती है एवं शरीर पुष्ट होता है. देशी घी में पाचन तंत्र को सक्रीय करने वाले तत्व मौजूद होते हैं. जिससे पाचन तंत्र सुचारू रूप से अपना कार्य करता है. जिसके कारण शरीर में वसा नहीं जमती है.

देशी-घी-खाने-के-22-फायदे

इसके अलावा दूध, दही एवं पनीर से मिलने वाले सभी फायदे देशी घी से भी शरीर को प्राप्त होते हैं. तो आइये लेख के जरिण् जानते हैं, आपके स्वास्थ्य के लिए देशी घी के बेहद ही अनमोल लाभ.

desi-ghee-faydey

जानिए देशी घी खाने के पूरे 22 फायदे । 22 benefits of eating Ghee

  1. देशी घी में एंटीऔक्सिडेंट तत्व मौजूद होते हैं, जो शरीर में रोग प्रतिरोधक यानी इम्युनिटी में वृद्धि होती है। प्रतिदिन सुबह खाली पेट एक चम्मच देशी घी खाने से 12 महीने शरीर निरोगी रहता है.
  2. एक चम्मच गुनगुने देशी घी के सेवन से बार-बार हिचकी आने की समस्या दूर हो जाती है.
  3. देशी घी में चीनी मिलाकर खाने से दुबलेपन की समस्या दूर होती है.
  4. यदि किसी व्यक्ति को फ़ूड पोइसनिंग हो गई हो या जहर पी लिया हो, तो 12 ग्राम देशी घी को चार भागों में बाँट कर दिन में चार बार सेवन कराने से जल्द ही स्वास्थ्य लाभ होता है.
  5. प्लेग की बीमारी होने पर 15 ग्राम देशी घी को चार बराबर हिस्सों में बाँट कर दिन में चार चार बार एक कप दूध के साथ पिलाने से प्लेग रोग से छुटकारा मिल जाता है.
  6. दो चम्मच गुनगुने देशी घी में दो चम्मच चीनी मिलाकर पीने से नशीले पदार्थ का नशा उतर जाता है.
  7. दस दाना काली गोल मिर्च, एक इंच अदरक, दस दाने मिश्री को दो चम्मच देशी घी में पका कर खाली पेट सेवन करने से गले की खराश और खाँसी की परेशानी से आराम मिलता है.
  8. एक चम्मच देशी घी में गुड़ मिलाकर गर्म करने के बाद सेवन करने से लम्बे समय से चली आ रही खाँसी ठीक हो जाती है.
  9. ट्यूबरक्लोसिस की बिमारी में मक्खन एवं मिश्री को देशी घी में मिलाकर खाने से लाभ होता है.
  10. पाइल्स रोग में एक कप दूध में एक चम्मच देशी घी मिलाकर रोज़ रात को खाने के बाद पीने से पाइल्स की बिमारी में आराम मिलता है.
  11. आपकों शायद ही पता होगा कि खूनी पाइल्स रोग में एक चम्मच काले तिल का पाउडर एवं एक चम्मच मिश्री को देशी घी में मिलाकर रोजाना दिन में तीन बार खाने से खून निकलना बंद हो जाता है.
  12. रोजाना देशी के घी में मिश्री मिलाकर सेवन करने से आँखों की रोशिनी तेज होती है.
  13. देशी घी को गुनगुना गर्म किये खाने से खाना पचने में आसानी होती है. जिससे शरीर में वसा एकत्रित नहीं होती है। परिणामस्वरूप शरीर का वजन नहीं बढ़ता है.
  14. देशी घी में लिनोलिक एसिड (linoleic acid) मौजूद होता है, जो वजन को बढ़ने से रोकता है.
  15. देशी घी में विटामिन K की मात्रा पाई जाती है। जो ह्रदय के स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है.
  16. देशी घी के सेवन से बैड कोलेस्ट्राल कम होता है.
  17. रोजाना देशी घी के सेवन से शरीर रोगों के संक्रमण से मुक्त रहता है. साथ ही इम्युनिटी पॉवर को बढ़ाता है.
  18. देशी घी रोजाना दाल में डालकर खाने से हड्डियों मजबूत होती हैं.
  19. देशी घी की दो बूँद नाक में डालने से माइग्रेन के दर्द में राहत मिलती है.
  20. देशी घी में ओमेगा 3 एवं ओमेगा 9 जैसे फैटी एसिड की प्रचुर मात्रा पाई जाती है। जो बढ़ते बच्चों के विकास के लिए आवश्यक होती हैं.
  21. एक गिलास दूध में एक चम्मच देशी घी मिलाकर सोने से पूर्व पीने से कब्ज की समस्या में राहत मिलती है.
  22. शरीर से साँप या बिच्छू के जहर को बाहर निकालने के लिए भी 15 ग्राम गाय के घी को चार बराबर भाग में बाँट कर दिन में चार बार पिलाने से जहर पूर्णतयः बाहर निकल जाता है.

इसे भी पढ़े :