क्या है साड़ी में फॉल लगाने का सही तरीका?

0
23

क्या है साड़ी में फॉल लगाने का सही तरीका? क्या घर में ही साड़ी पर फॉल लगाया जा सकता है? आखिर क्यों हर साड़ी में फॉल लगाई जाती है?

भारतीय महिलाएं विवाह के बाद साड़ी नियमित रुप से पहनती है. यह हिंदू धर्म के अनुसार एक नियम है. साड़ी महंगी हो या सस्ती, रेशमी हो या फिर सूती या अन्य किसी भी प्रकार के धागे से बनी हुई हो. लखनऊ की बेहतरीन कारीगरी की हुई हो या फिर प्रिंटेड साड़ी, साड़ी का प्रकार किसी भी रूप में हो लेकिन उस पर फॉल आवश्यक रूप से लगाई जाती है. दोस्तों क्या आपने सोचा है कि क्यों हम हमारी हर साड़ी पर फॉल लगवाते हैं? या बिना फॉल लगवाएँ कोई भी साड़ी क्यों नहीं पहनता?

यह बात सोचने वाली तो है ही साथ ही इसका जवाब जानना भी जरूरी है. तो आइए हमारे साथ आज जानते हैं कि क्यों हर साड़ी में फॉल लगवाई जाती है? और साड़ी की फॉल लगवाने का सही तरीका क्या होता है? यह दोनों सवाल जीतने जरूरी है उससे कई ज्यादा जरूरी है इसका उत्तर जानना।
तो सबसे पहले हम यह जानेंगे कि साड़ी में फॉल क्यों लगाई जाती है?

साड़ी में फॉल लगाने के दो प्रमुख कारण है. साड़ी को नीचे से फॉल आपकी साड़ी को सुरक्षित रखने के लिए लगाया जाता है. अमूमन साड़ी का नीचे का हिस्सा ज़्यादातर जमीन से संपर्क में रहता है और रगड़ाता रहता है. जिसके चलते साड़ी नीचे की तरफ से घिस सकती हैं और गंदी भी होती है. आपने भी एक बात नोटिस की होगी कि, किसी भी साड़ी का फ़ैब्रिक बहुत ज्यादा मोटा नहीं होता है. इसलिए साड़ी को मजबूती प्रदान करने के लिए एक ऐसे कपड़े को साड़ी के भीतर से जोड़ दिया जाता है जिससे साड़ी का नीचे का भाग मजबूत बन जाए.

यह तो रही साड़ी को मजबूत बनाने की बात। लेकिन साड़ी में फॉल का सबसे मुख्य कार्य है उसकी खूबसूरती को बढ़ाना. अब आप सोच रहीं होंगी कि फॉल लगाने से साड़ी की खूबसूरती कैसे बढ़ेगी? साड़ी में जब फॉल लग जाती है तब वह नीचे की आरे से थोड़ी वजनदार हो जाती है. जिसके कारण साड़ी की प्लीट्स बहुत ही सुंदर तरीके से बनाई जा सकती हैं. और अगर साड़ी की प्लीट्स को साफ़ और सुंदर तरीके से बनाया जाए तो आपकी साड़ी अपने आप ही सुंदर दिखाई देगी.

अब जानते हैं कि घर में ही साड़ी पर फॉल लगाने का सही तरीका क्या है?

साड़ी में फॉल लगाने के लिए आपको साड़ी के रंग से मेल खाता हुआ ही फॉल लेना पड़ेगा. साथ ही धागा भी मेचिंग लेना पड़ेगा. दूसरे रंग के धागे का प्रयोग करने से सिलाई दिखाई देती है. जो साड़ी की सुंदरता को कम कर देती है.
फॉल लगाने के लिए जिस सुई का इस्तेमाल होगा वह बहुत ही पतली और छोटी सुई होती है. कारण फॉल लगते समय आपको बहुत ही छोटे-छोटे टांके लगाने होते है. इसलिए बड़ी सुई का उपयोग कभी नहीं करें.

आप जब भी मार्केट से फॉल लाएँ यह जरूर सुनिश्चित कर लें कि फॉल सूती कपड़े का ही हो. अन्य फ़ैब्रिक से बने हुए फॉल जल्दी ही खराब हो जाते हैं. साड़ी का फॉल लगाने के लिए फॉल को सबसे पहले धो लें. और फिर उसे सूखा कर प्रेस कर लें. जिसके बाद सूती कपड़ा होने के कारण पहले फॉल को धो लेने से वह बाद में नहीं सिकुड़ेगा. फॉल को बिना धोये लगाया जाए और अगर वह बाद में सिकुड़ जाए तो उससे आपकी साड़ी में झोल आ जाता है. और प्रेस करने से आपको फॉल लगते समय आसानी होगी.

फॉल लगाने के लिए आप छोटी-छोटी पिन को अपने पास रखें जिससे फॉल को आप साड़ी से अटैच कर पाएँ. पिन की मदद से कभी भी फॉल टेढ़ी नहीं लगेगी. फॉल लगाने के लिए साड़ी को उल्टा कर लें, और 10 इंच का गैप देते हुए फॉल को लगाना शुरू कर दें.

नीचे की ओर आपको डबल धागा लेकर सिलाई करनी है. वहीं आप ऊपर की तरफ आप सिंगल धागे का प्रयोग कर सकती हैं. यदि आपको फाल लगाने में असुविधा हो रही हो तो सिलाई लगाते समय आप नीचे की तरफ थाली रख सकती हैं. या फिर कोई सख्त चीज को नीचे रख दीजिए। इससे आप आसानी से और फटाफट सिलाई कर पाएंगी.

तो देखा आपने किस तरीके से आप घर बैठे ही आसानी से फॉल लगा सकती हैं. बाजार से या बाहर से फॉल जब भी लगवाई जाती है तब वह बहुत ही बड़े टांको का प्रयोग करते है. जिससे साड़ी की फॉल या तो बहुत ही जल्दी निकल जाती है या फिर वह आपकी पायल में बार-बार अटक जाती है. इसलिए आप अपनी साड़ी को अपने हाथों से ही घर में फॉल लगाइए। इससे आपको किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा.

इसे भी पढ़े :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here