प्रेगनेंसी में पेठा खाने के 10 गजब के फायदे और स्वास्थ्य लाभ

0
45
petha-in-pregnancy-in-hindi
petha in pregnancy

प्रेगनेंसी में पेठा खाने के चमत्कारी फायदे और स्वास्थ्य लाभ । 10 wonderful benefits and health benefits of eating petha in pregnancy। पेठा इन प्रेगनेंसी । petha in pregnancy in hindi 

प्रेगनेंसी डायट में आपको ऐसी चीजों को शामिल करना चाहिए जो पोषक तत्‍वों से भरपूर हों. पेठा कुकुर्बिटेसा परिवार का सदस्‍य है. भारत में विंटर मेलन को पेठा के नाम से जाना जाता है. यह औषधीय गुणों से भरपूर होता है. नियमित रुप से इसका सेवन करने से यह हृदय स्‍वास्‍थ्‍य, पाचन, मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य, कब्‍ज आदि समस्‍याओं को दूर करने में मदद करता है. आज हम लेख के जरिए आपको यही बताने जा रहे हैं कि प्रेगनेंसी में पेठा को अपने आहार में शामिल करने का क्‍या महत्व है और इसके फायदे-नुकसान क्‍या-क्या हैं?

petha-in-pregnancy-in-hindi
petha in pregnancy

प्रेगनेंसी में पेठा के पोषक तत्व
100 ग्राम पेठा में कैलोरी 41Kcal, कार्बोहाइड्रेट 9.58 ग्राम, प्रोटीन 0.93 ग्राम, फाइबर, 2.8 ग्राम, फैट 0.24 ग्राम, शुगर 4.5 ग्राम, विटामिन ए 5 मिग्रा, विटामिन सी 6 मिग्रा, विटामिन बी 60.135 ग्राम, विटामिन के 13.2 मिग्रा, सेलेनियम 11 मिग्रा, मैंगनीज 0.143 मिग्रा, कॉपर 0.045 मिग्रा, पोटेशियम 320 मिग्रा, सोडियम 69 मिग्रा, कैल्शियम 33 मिग्रा, आयरन 0.3 मिग्रा, मैग्नीशियम 12 मिग्रा, जिंक 0.24 मिग्रा और फास्फोरस 35 मिग्रा होता है.

petha-in-pregnancy-in-hindi
petha in pregnancy

प्रेगनेंसी में पेठा खाने के 10 गजब के फायदे । 10 wonderful benefits and health benefits of eating petha in pregnancy।

  • आंखों के लिए बहुत फायदेमंद : पेठा विटामिन सी का बहुत अच्छा स्रोत होता है, इसलिए यह आंखों के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है. इससे गर्भस्‍थ शिशु की आंखों की रोशनी तेज करने में मदद मिलती है.
  • इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने में : पेठा में उच्‍च मात्रा में विटामिन सी होता है, जो प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती के इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने में सहायक होता है.
  • भ्रूण के विकास में मदद : इसमें मौजूद कैल्शियम और विटामिन सी पाया जाता है, जो प्रेगनेंसी में भ्रूण के विकास में मदद करता है.
  • एनीमिया रोकने में सहायक : प्रेगनेंसी में पेठा का सेवन एनीमिया को रोकने में भी मददगार होता है क्योंकि इसमें आयरन और विटामिन सी भरपूर मात्रा में होता है.
  • कब्ज की परेशानी से देता है राहत : प्रेगनेंसी में महिलाओं को कब्ज की परेशानी आम होती है, चूंकि, पेठा में फाइबर होता है इसलिए इसे खाने से कब्ज की समस्या नहीं रहती. पेठा में फास्फोरस होता है जो शरीर की ऐंठन और मांसपेशियों की अकड़न को दूर करता है.
  • ब्‍लड प्रेशर का रखता है नियंत्रण : पेठा खाने से प्रेगनेंसी में होने वाले हाई ब्‍लड प्रेशर को भी नियंत्रण किया जा सकता है.
  • पेठा में मैंगनीज होता है जो गर्भस्थ शिशु की हड्डियों और कार्टिलेज के निर्माण के लिए आवश्यक होता है.
  • पेठा में पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी और पोटेशियम एक वासोडिलेटर के रूप में काम करता है जो प्रेगनेट महिलाओं की रक्‍तवाहिकाओं और नसों में तनाव को कम करके रक्‍तचाप को कम करने में मदद करता है.
  • पेठा में फोलिक एसिड होता है जो गर्भस्थ शिशु के तंत्रिका तंत्र और मस्तिष्क के विकास में सहायक होते हैं. यह शिशु में जन्म संबंधी दोष जैसे कि स्पाइना बिफिडा जैसी बीमारी को रोकने में भी मदद करते हैं.
  • नाक से खून बहने से रोकता है : यदि प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं के नाक से खून बहने की समास्या है तो उसके लिए पेठा का रस बहुत अच्छा होता है. नाक से खून बहने से राहत पाने के लिए व्यक्ति पेठे की मिठाई और रस दोनों का इस्तेमाल किया जा सकता है.
  • विंटर मेलन यानी पेठा में आयरन प्रचुर मात्रा में होता है. आयरन की अच्‍छी मात्रा होने के कारण प्रेगनेंसी में पेठा खाने से यह गर्भवती महिला के शरीर में रक्त परिसंचरण को बढ़ाता है. यह महिला और गर्भ में पल रहे शिशु में लाल रक्‍त कोशिकाओं के निर्माण में प्रमुख भूमिका निभाता है. इसका एक और प्रमुख कार्य आक्‍सीजन का अवशोषण करना है. जिससे आयरन आक्‍सीजन को शरीर के सभी हिस्‍सों में पहुंचाता है.
petha-in-pregnancy-in-hindi
petha in pregnancy

प्रेगनेंसी में पेठा खाने के नुकसान
माना कि पेठा खाना गर्भवती महिला के लिए फायदेमंद होता है, लेकिन कुछ स्थितियों में इसके नुकसान भी हो सकते हैं:

  • पेठा में आयरन प्रचुर मात्रा में होता है जिसकी अधिक मात्रा त्वचा के लिए हानिकारक हो सकती है.
  • यदि आप अधिक मात्रा में पेठा का सेवन करती हैं तो विटामिन सी की उच्‍च मात्रा आपके शरीर में अधिक हो जाती है जो भ्रूण के विकास के लिए सही नहीं है.
  • पेठा का सेवन ज्यादा करने से सिरदर्द या जी मतली जैसी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है.
  • पेठा की मिठाई ज्यादा मात्रा में खाने से प्रेगनेंसी में सिरदर्द और सुस्ती हो सकती है।

इसे भी पढ़े :

Newsmug App: देश-दुनिया की खबरें, आपके नागदा शहर का हाल, अपडेट्स और सेहत की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NEWSMUG ऐप