Nagda News : पिता से मारपीट करने का लिया बदला, मामला बजरंग दल नेता राकू चौधरी की हत्या का

0
342
फाईल फोटो : राकू चौधरी
पिता से मारपीट करने का लिया बदला, मामला बजरंग दल के नेता की हत्या का । Nagda News: Revenge for assaulting father, case of murder of Bajrang Dal leader Raku Chaudhary
Nagda News । बजरंग दल के जिला सुरक्षा प्रमुख राकू चौधरी की हुई हत्या की गुत्थी करीब-करीब सुलझ गई है। हालांकि पुलिस ने तो खुलासा नहीं किया, लेकिन पुलिस ने जो कार्रवाई की है उनके सुत्रों के मुताबिक घटना का षडयंत्र तीन युवाओं द्वारा रचे जाने की बात सामने आई है।
तीनों युवा आपस में दोस्त हैं। षडयंत्र के बाद वारदात को अंजाम तरूण शर्मा ने दिया। जबकि षडयंत्र तरूण के साथी आर्यन आर्य व पृथ्वीराज पंवार ने मिल कर रचा। पुलिस ने पृथ्वीराज पंवार को बुधवार रात को गिरफ्तार कर लिया। जबकी आर्यन की तलाश में नागदा व आसपास के क्षेत्रों में दबिश दी गई है।
फाईल फोटो : राकू चौधरी
इधर गुरूवार सुबह अंतिम संस्कार के पूर्व फिर हंगामा हो गया। सुबह 9 बजे मृतक राकू चौधरी के समर्थकों ने आरोपी आर्यन व विजय पटेल के घर पर पथराव कर दिया। हालांकि किसी को चोट तो नहीं आई। हिन्दु संगठन के कार्यकर्ताओं व चौधरी समर्थकों का कहना था कि पुलिस पहले आरोपीयों को गिरफ्तार करे तथा उनके मकान तोडे़ उसके बाद ही अंतिम संस्कार किया जाएगा।
मामला बढ़ता देख पुलिस आर्यन के घर पहुंची और उसके परिजनों को थाने ले गई। मौके पर पहुंचे प्रशासन के समक्ष विहिप के प्रांतीय मंत्री सोहन विश्वकर्मा ने मांग रखी थी कि एएसपी डॉ. रविन्द्र वर्मा सार्वजनिक रूप से खुलासा करें कि कार्रवाई कब की जाएगी।
इसके बाद एएसपी डॉ. वर्मा ने मौके पर ही आश्वासन दिया कि मकान तोड़ने की कार्रवाई भी की जाएगी। एएसपी के आश्वासन के बाद कार्यकर्ता अंतिम संस्कार के लिए राजी हुए। अंतिम यात्रा सुबह 11 बजे निकली जो पाडल्या रोड, भैरू चौराहा, तिलक मार्ग, थाना चौराहा, चंबल मार्ग होती हुई चंबल तट पर पहुंची जहां पर अंतिम संस्कार हुआ। घटना में उपयोग किया गया हथियार आर्यन का बताया जा रहा है।

यह कहानी आ रही सामने

पूरे घटनाक्रम में जो कहानी सामने आ रही वह यह है कि पुत्रों ने अपने पिता से हुई मारपीट का बदला लेने के लिए इस वारदात को अंजाम दिया। चुंकि आर्यन के पिता यशवंत आर्य व चाचा कमल आर्य के साथ राकू चौधरी का वर्ष 2018 में विवाद हुआ था।
इसी प्रकार तरूण शर्मा के पिताजी महेश शर्मा के साथ भी विवाद हुआ था। आरोपी व मृतक एक ही मोहल्ले में रहते हैं। मोहल्ले में भी राकू का दबदबा था। इस भय को वह पिता से मारपीट का बदला लेने के लिए तीनों युवाओं ने राकू की हत्या का षडयंत्र रचा।
पुलिस ने इन तीन युवाओं के अलावा युवक कांग्रेस विधानसभा अध्यक्ष कमल आर्य, भारतीय किसान संघ के यषवंत आर्य व भाजपा के पूर्व पार्षद विजय पटेल के खिलाफ भी प्रकरण दर्ज किया है। हालांकि पुलिस का कहना है कि यह तीन नाम अभी जांच में हैं।
तीन मुख्य आरोपी में तरूण, आर्यन व पृथ्वीराज शामिल हैं। आर्यन यशवंत का पुत्र व कमल का भतिजा है, जबकि पृथ्वीराज के पिता झांझाखेडी सेवा सहकारी समिति के सचिव हैं। विजय पटेल व कमल आर्य भी चचेरे भाई हैं।
यह था घटनाक्रम
बुधवार दोपहर 1 बजे बजरंग दल के जिला सुरक्षा प्रमुख राकू चौधरी पर गोली से फायर कर उसे मौत के घाट उतार दिया गया था। घटना उस समय हुई थी जब चौधरी गीताश्री गार्डन स्थित अपने कार्यालय पर बैठे हुए थे। चौधरी पर हमला तरूण शर्मा ने किया था। शर्मा ने तीन फायर किए थे।
घायल अवस्था में राकु को शासकीय अस्पताल ले जाया गया था जहॉं पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया था। इस घटना के बाद शहर में तनाव फेल गया था। यहॉं तक की स्टेट हाईवे पर भी दो घंटे तक चक्काजाम किया गया था।
यह थे मौजूद
शव यात्रा में विहीप के प्रांतीय मंत्री सोहन विश्वकर्मा, सहमंत्री विनोद शर्मा, विभाग संगठन वासुदेव पण्ड्या, धर्मप्रचार प्रमुख जगदीश धाकड, जिला मंत्री जितेन्द्र पांचाल, प्रखण्ड अध्यक्ष रमेश प्रजापत, हिन्दू जागरण मंच के प्रांतीय उपाध्यक्ष भैरूलाल टाक, मोनू ठक्कर, अजय जाटवा, आरएसएस के विशाल बहल, मनीष सेन, सुनील जोशी, उज्जैन के हिन्दुवादी नेता रूपेश ठाकुर, कांग्रेस विधायक दिलीपसिंह गुर्जर, जिला कार्यकारी अध्यक्ष सुबोध स्वामी, शहर कांग्रेस अध्यक्ष राधे जायसवाल, किराना व्यापारी संघ के संरक्षक मनोज राठी, असंगठित कामगार बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष सुल्तानसिंह शेखावतपूर्व विधायक दिलीपसिंह शेखावत, जितेन्द्र गेहलोत, भाजपा मण्डल अध्यक्ष सीएम अतुल, राजेश धाकड़ सहित बडी संख्या में हिन्दू संगठन के कार्यकर्ता मौजुद थे। अंतिम यात्रा के आगे-पीछे भारी संख्या में पुलिस बल तैनात था।
इसे भी पढ़े :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here