हिंदी लोक

पोस्टमार्टम के बारे में रोचक तथ्य । Interesting facts about post mortem in Hindi

पोस्टमार्टम के बारे में रोचक तथ्य । Interesting facts about post mortem in Hindi

मृत्यु जीवन का कटू सत्य है. अप्राकृतिक कारणों से मौत हो जाने पर शव का पोस्टमॉर्टम किया जाता है. मृत शरीर का चिकित्सकों द्वारा बारिकी से जांच कर मौत के कारणों का पता लगाया जाता है. पोस्टमार्टम शासकीय चिकित्सकों द्वारा सिविल अस्पताल में किया जाता है. चिकित्सक मृत के शरीर से विसरा निकालता है. जिसे जांच के लिए लैब में भेजा जाता है. इससे यह पता लगाया जाता है, कि मौत की वजह क्या है. आइए लेख के जरिए हम पोस्टमार्टम के बारे में रोचक तथ्य । Interesting facts about post mortem in Hindi को जानें.

ग्राफिक डिजाइन : कमलेश वर्मा
  • पोस्टमॉर्टम के दौरान लाश को नंगा किया जाता है. लाश को नंगा कर उसके अंगों की बारीकी से जांच की जाती है। विशेषज्ञ महिला डॉक्टर के नहीं होने  की दशा में महिला शवों का पोस्टमॉर्टम पुरुष डॉक्टर करते हैं.
  • पोस्टमॉर्टम के बाद शवों में सुंगधित पॉउडर डाला जाता है. जिससे बदबू नहीं आएं.
  • पोस्टमॉर्टम करने के पूर्व शवों को चीरने का काम स्वीपर द्वारा किया जाता है.
  • पोस्टमॉर्टम में शव के अंदर से शरीर के कुछ अवशेष निकाले जाते है, जिसे विसरा कहते हैं.
  • पोस्टमार्टम करने से पूर्व मृत व्यक्ति के सगे संबंधियों से इजाजत ली जाती है.
  • मृत व्यक्ति का पोस्टमार्टम मृत्यु के 6 से 10 घंटे के अंदर किया जाना चाहिए.
  • रात में कभी नहीं किया जाता है पोस्टमार्टम. कारण रात के दौरान शव पर लगे घाव का निशान बैंगनी रंग का दिखाई देने लगता है.
  • अहमदाबाद के एक पोस्टमॉर्टम हाउस में काम करने वाले बाबूभाई सितापारा वाघेला कई सालों से डेड बॉडीज को चीरने-फाड़ने का काम कर रहे हैं। उन्होंने रूम के अंदर आज तक जो भी देखा, उसे एक डायरी में लिखा है.
  • यदि सड़क दुर्घटना में किसी की मौत हो जाए या किसी की गोली मारकर हत्या कर दी जाए तो शव का पोस्टमॉर्टम होता है. ऐसे मामले में आमतौर पर विसरा जांच की जरुरत नहीं होती, लेकिन डेड बॉडी देखने के बाद अगर मौत संदिग्ध लगे यानी जहर देने की आशंका हो तो विसरा की जांच की जाती है.
  • सीआरपीसी की धारा-293 के तहत एक्सपर्ट व्यू एडमिशिबल एविडेंस होता है जिसे विसरा रिपोर्ट एक्सपर्ट व्यू कहा जाता है. यह कोर्ट में मान्य साक्ष्य है.

इसे भी देखें :

KAMLESH VERMA

बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है. कमलेश दैनिक भास्कर और राजस्थान पत्रिका अखबार में सिटी रिपोर्टर पद पर कार्य चुके हैं.

Recent Posts

Gorakhpur Walo Ko Kabu Kaise Kare ! गोरखपुर वालों को कैसे काबू करें?

क्या आप भी गोरखपुर वालों को कैसे काबू करें? ये सवाल गूगल पर सर्च कर…

6 days ago

NEFT क्या है, कैसे काम करता है – What is NEFT in Hindi

बैंक हर इंसान का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होता है. सभी का बैंक खाता किसी ना…

6 days ago

Uttar Pradesh Election 2022 Astrology: यूपी चुनाव पर ज्योतिषियों की भविष्यवाणी, जानिए कौन बनेगा सीएम?

Uttar Pradesh Election 2022 Astrology: यूपी चुनाव पर ज्योतिषियों की भविष्यवाणी, जानिए किसकी होगी हार,…

7 days ago

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 – Up Vidhan Sabha Election 2022

UP Assembly Election 2022″यूपी विधानसभा चुनाव 2022 date”UP election 2022 Schedule”यूपी विधानसभा चुनाव 2022 का…

1 week ago

2024 Mein Pradhanmantri Kaun Banega | 2024 में भारत का प्रधानमंत्री कौन बनेगा

लोकतांत्रिक देश भारत में प्रति पांच साल में एक बार लोकसभा चुनाव होते हैं, जिसमे…

1 week ago

2022 का चुनाव कौन जीतेगा | 2022 Mein Chunav Kaun Jitega

पांच राज्यों में चुनाव की घोषणा हो चुकी है. साल 2017 के चुनाव के बाद…

1 week ago