News

अलकायदा सरगना अल जवाहिरी कौंन था | Ayman Al Zawahri Biography

अलकायदा सरगना अल जवाहिरी कौंन था | Ayman Al Zawahri Biography

अलकायदा सरगना ओसामा बिन लादेन की मौत के 11 साल बाद यानी 31 जुलाई 2022 को अमेरिका ने अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में अलकायदा चीफ अल जवाहिरी को एक ड्रोन स्ट्राइक में मार गिराया है। 31 जुलाई 2022 की दोपहर को ही जवाहिरी पर ड्रोन स्ट्राइक की गई थी, जिसमें उनकी मृत्यु हो गई। बताते चलें कि, जवाहिरी ने 2 मई 2011 में अलकायदा के संस्थापक ओसामा बिन लादेन के मारे जाने के बाद इस आतंकी संगठन की बागडाेर अपने हाथों में ली थी।

न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट्स की मानें तो ड्रोन स्ट्राइक अमेरिकी खुफिया एजेंसी CIA की स्पेशल टीम ने पूरी की है। जवाहिरी अगस्त 2021 में अफगानिस्तान में तालिबान की सरकार आने के बाद से ही काबुल में छिपा था। दूसरी ओर अमेरिकी एक्शन पर तालिबान भड़क गया है और इसे दोहा समझौते का उल्लंघन बताया है।

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने अल जवाहिरी के मारे जाने के बाद राष्ट्र को संबोधित किया। उन्होंने कहा- ‘हमने जवाहिरी को ढूंढकर मार दिया है। अमेरिका और यहां के लोगों के लिए जो भी खतरा बनेगा, हम उसे नहीं छोड़ेंगे। हम आतंक पर अफगानिस्तान में अटैक जारी रखेंगे।’ चलिए पोस्ट के जरिए आसान भाषा में Ayman Al Zawahri Biography यानी उनके जन्म से लेकर करियर के बारे में विस्तार से जानें।

 

अल जवाहिरी जीवन परिचय जीवनी | Al Zawahiri Biography In Hindi Wikipedia

नाम (Name) अयमान अल-जवाहिरी (Ayman Al Zawahiri)
जन्म तिथि और स्थान (Date And Place Of Birth) 19 जून 1951, मिस्र
भाषाएं (Languages) अरबी और फ्रेंच
पत्नी का नाम (Wife’s Name) अजा नोवारी (Aja Nowari)
गठित संगठन इजिप्टियन इस्लामिक जिहाद (EIJ)
पेशा (Profession) सर्जन (वर्तमान में आतंकी)

चलिए विस्तार में जानते हैं कि, 11 साल तक अलकायदा चीफ रहे Ayman Al Zawahri के बारे में

  • Ayman Al Zawahri का जन्म 19 जून 1951 को मिस्र के एक संभ्रात परिवार में हुआ था।
  • इन्हें अरबी और फ्रेंच भाषा बोलने में महारथ हासिल थी।
  • Ayman Al Zawahri पेशे से सर्जन थे।
  • 14 वर्ष की बेहद ही कम उम्र में वह मुस्लिम ब्रदरहुड का सदस्य बन गए थे।
  • सन् 1978 में Ayman Al Zawahri ने काहिरा विश्वविद्यालय की दर्शनशास्त्र की छात्रा अजा नोवारी से निकाह किया था।
  • कॉन्टिनेंटल होटल में हुए इस निकाह ने उस दौर के उदारवादी काहिरा में सबका ध्यान खींचा, कारण विवाह में पुरुषों को महिलाओं से अलग कर दिया गया। फोटोग्राफरों और संगीतकारों को दूर रखा गया। यहां तक कि हंसी-मजाक करने पर भी प्रतिबंध लगाया गया था।
  • अल जवाहिरी ने इजिप्टियन इस्लामिक जिहाद यानी EIJ का गठन किया था। जो एक उग्रवादी संगठन था जिसने 1970 के दशक में मिस्र में सेक्युलर शासन का विरोध जताया था। कारण मिस्र में इस्लामिक हुकूमत को मजबूत बनाना था।
  • सन् 1981 में मिस्र के राष्ट्रपति अनवर सादात की हत्या के बाद जवाहिरी उन सैकड़ों लोगों में शामिल था, जिन्हें गिरफ्तार कर प्रताड़ित किया गया। करीब तीन साल कारागार में रहने के बाद वह देश छोड़कर सऊदी अरब रहने पहुंच गया।
  • सऊदी आने के बाद वह एक मेडिसिन विभाग में प्रैक्टिस करने लगा।
  • सऊदी अरब में ही Ayman Al Zawahri और अलकायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन से मुलाकात हुई।
  • लादेन 1985 में अलकायदा को बढ़ावा देने के लिए पाकिस्तान के पेशावर गया हुआ था। रोचक बात यह है कि, इस दौरान  Ayman Al Zawahri भी पेशावर में ही था।
  • वर्ष 2001 में अल जवाहिरी ने EIJ का अलकायदा में विलय कर लिया। इसी के बाद दोनों आतंकी मिलकर दुनिया को दहलाने की साजिश रचने लगे। और आंतक की जड़े मजबूत करने में जुट गए।
  • जवाहिरी ने अमेरिकी हमले में ओसामा बिन लादेन की मौत के बाद संगठन की कमान अपने हाथ में ली थी। 2011 में वह अलकायदा का प्रमुख बना।

इसे भी पढ़े : 

KAMLESH VERMA

बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status
सवाल जवाब शायरी- पढ़िए सीकर की पायल ने जीता बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड सफल लोगों की अच्छी आदतें, जानें आलस क्यों आता हैं, जानिएं इसका कारण आम खाने के जबरदस्त फायदे Best Aansoo Shayari – पढ़िए शायरी