Hartalika Teej 2022: हरतालिका तीज कर रही हैं तो इन बातों का ख्याल जरूर रखें

0
87
hartalika teej 2022

Hartalika Teej 2022: पहली बार हरतालिका तीज कर रही हैं तो इन बातों का ख्याल जरूर रखें

Hartalika Teej Vrat 2022 : हरतालिका तीज को उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के कुछ भागों में तीजा भी कहा जाता है ये व्रत कुंवारी कन्याएं और महिलाएं रख सकती है. कुंवारी कन्याएं अच्छे पति को प्राप्त करने के लिए और विवाहित महिलाएं अपने पति की लंबी आयु के लिए ये व्रत रखती हैं.

hartalika-teej-2022-upay
hartalika teej 2022

हरतालिका तीज का व्रत करवाचौथ व्रत से भी अधिक कठिन माना जाता है. इसलिए जो महिलाएं पहली बार हरतालिका तीज का व्रत रख रही हैं उन्हें कुछ बातों का विशेष ख्याल रखना चाहिए.

हरतालिका तीज 2022 के शुभ मुहूर्त :

Hartalika Teej Shubh Mahurat : हरतालिका तीज तिथि का प्रारंभ 29 अगस्त 2022, सोमवार के दिन सुबह 02.33 मिनट पर होगा और 30 अगस्त को रात्रि 12.18 मिनट पर तृतीया तिथि समाप्त होगी.

  • मंगलवार, 30 अगस्त 2022
  • प्रात:काल मुहूर्त : 05:58 AM से 08:30 AM
  • तृतीया तिथि शुरू: 29 अगस्त 2022 अपराह्न 03:20 बजे
  • तृतीया तिथि समाप्त: 30 अगस्त 2022 अपराह्न 03:33 बजे
hartalika teej 2021

हरतालिका तीज पूजन की विधि :

Hartalika Teej Poojan Vidhi :

  • हरतालिका तीज में श्रीगणेश, भगवान शिव और माता पार्वती का पूजन करती है.
  • सर्वप्रथम मिट्टी से तीनों की प्रतिमा बनाएं और भगवान गणेश को तिलक करके दूर्वा अर्पित करें.
  • इसके बाद शिव को फूल, बेलपत्र और शमी पत्र अर्पित करें और माता पार्वती को श्रृंगार का सामान अर्पित करें.
  • तीनों देवताओं को वस्त्र अर्पित करने के बाद हरतालिका तीज व्रत कथा सुनें या पढ़ें.
  • इसके बाद श्री गणेश की आरती करें और भगवान शिव और माता पार्वती की आरती उतारने के बाद भोग लगाएं.

    हरतालिका तीज के मंत्र :

    Hartalika Teej Mantra

  • ‘उमामहेश्वरसायुज्य सिद्धये हरितालिका व्रतमहं करिष्ये’
  • कात्यायिनी महामाये महायोगिनीधीश्वरी
    नन्द-गोपसुतं देवि पतिं में कुरु ते नम:
  • गण गौरी शंकरार्धांगि यथा त्वं शंकर प्रिया।
    मां कुरु कल्याणी कांत कांता सुदुर्लभाम्।।
  • ॐ पार्वतीपतये नमः

Hartalika Teej 2022: पहली बार हरतालिका तीज कर रही हैं तो इन बातों का ख्याल जरूर रखें

  • सुबह सूर्य निकले से पहले उठ जाएं और स्नान करके साफ वस्त्र धारण कर लें.
  • शाम माता पार्वती और शिवजी के पूजन की तैयारी करें.
  • दिनभर व्रत रखें, अपने स्वास्थ का ख्याल रखें, यदि कोई परेशानी है तो जल, फल, जूस, आवश्यक चीजें और दवाई लेते रहें.
  • हो सके तो हरतालिका तीज का पूजन अन्य महिलाओं के साथ मिलकर समूह में करें या किसी मंदिर में करें.
  • पूजन के लिए केले के पत्तों का प्रयोग कर मंडप बनाएं उसमें गौरी-शंकर की मूर्ति स्थापित करें.
  • सबसे पहले भगवान गणेश का पूजन करें.
  • माता पार्वती का पूजन करें, सुहाग की सामग्री अर्पित करें#
  • शिवजी का पूजन करें, वस्त्र अर्पित करें.
  • हरितालिका तीज की कथा सुनें.
  • माता पार्वती और शिवजी की आरती करें, मनोकामना पूर्ति की प्रार्थना करें.
  • रात में भजन, कीर्तन करते हुए जागरण करें.

इसे भी पढ़े :