Newsभैंरट

घर पर बनाएं चटपटा आलू का अचार, ये है आसान विधि

नमस्ते दोस्तों, आपने आज तक आम, गाजर, नींबू , कटहल और भी कई तरह के अचार खाए होंगे. लेकिन इस बार हम आपको एक ऐसा अचार बनाने के बारे में बता रहे. जिसे आप रोज सब्जी में खाते है. आलू के अचार के बारे में आपने शायद ही कभी कुछ सुना होगा। त्योहारों पर अगर मीठा खाते-खाते बोर हो चुके हैं तो इस बार सर्द मौसम में घर ट्राई करें ये चटपटा आलू का अचार… इसे खाने वाले अपनी उंगलियां चाटते रह जाएंगे। आइए जानते हैं कैसे बनता है ये टेस्टी मसालेदार आलू का अचार। Aloo Achaar Recipe

यह भी पढ़ें : घर पर ऐसे बनाइये स्वादिष्ट मीठा पोहा, ये है विधि

आवश्यक सामग्री : Aloo Achaar Recipe Ingredients

  • 4 मीडियम साइज के आलू
  • 1/2 चम्मच लाल मिर्च पाउडर
  • 1 चम्मच अमचूर पाउडर
  • 1/2 चम्मच हल्दी पाउडर
  • 2 छोटा चम्मच राई पाउडर
  • 1 कटोरी सरसों का तेल
  • स्वादानुसार नमक

आलू का आचार बनाने की विधि :

Aloo Achaar Recipe

  • सबसे पहले आपकों आलू धोकर उन्हें उबालकर ठंडा करना होगा.
  • जिसके बाद छिलके उतारकर उन्हें आकार में काटना होगा.
  • कटे हुए आलू में अमचूर, हल्दी, लाल मिर्च, राई और नमक मिलाएं।
  • जिसके बाद तेज आंच पर एक पैन रखें और जब वह गरम हो जाए तो उसमें तेल डालें। जब तेल अच्छी तरह गर्म हो जाए और इसमें से धुआं उठने लगे तो गैस की फ्लेम यानी आंच बंद कर दें।
  • तेल को कुछ समय के लिए ठंडा होने के लिए रख दें।
  • सरसों के तेल को थोड़ा-थोड़ा करके आलू में डालते जाएं और मिलाते जाएं। पैन में डाला गया आधा तेल अलग रख लें।
  • आपका चटपटा आलू का अचार बनकर बिल्कुल तैयार है।
  • अब इस आचार को कांच की बर्नी में भरते हुए ऊपर से बचे हुए तेल को भी बर्नी में डालकर उसका ढक्कन बंद कर दें।
  • बर्नी को 2-3 दिनों तक धूप में रखें। सप्ताह में इसे दो बार धूप में रखें.एक दो बार इसे हिला दें ताकि तेल और मसाला अच्छे से मिल जाए।
  • 3 दिन बाद आलू का आचार खाने लायक हो जाएगा। इसे आप रोटी या चावल के साथ खा सकती हैँ। इसे आप 10-15 दिन तक रख सकती हैं।
aloo-achaar-recipe
आलू का अचार : फाेटो सोर्स स्वयं

ये भी पढ़िए : रेडीमेड पाउडर से गुलाब जामुन बनाने की विधि

Google News पर हमें फॉलों करें.

KAMLESH VERMA

दैनिक भास्कर और पत्रिका जैसे राष्ट्रीय अखबार में बतौर रिपोर्टर सात वर्ष का अनुभव रखने वाले कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है. कमलेश वर्तमान में साऊदी अरब से लौटे हैं। खाड़ी देश से संबंधित मदद के लिए इनसे संपर्क किया जा सकता हैं।

Related Articles

DMCA.com Protection Status
चुनाव पर सुविचार | Election Quotes in Hindi स्टार्टअप पर सुविचार | Startup Quotes in Hindi पान का इतिहास | History of Paan महा शिवरात्रि शायरी स्टेटस | Maha Shivratri Shayari सवाल जवाब शायरी- पढ़िए सीकर की पायल ने जीता बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड सफल लोगों की अच्छी आदतें, जानें आलस क्यों आता हैं, जानिएं इसका कारण आम खाने के जबरदस्त फायदे Best Aansoo Shayari – पढ़िए शायरी