Newsहिंदी लोक

समीक्षा अधिकारी क्या होता है, पढ़े यहां पर | Review Officer (RO) कैसे बने ?

समीक्षा अधिकारी क्या होता है, पढ़े यहां पर | Review Officer (RO) कैसे बनें | Samiksha Adhikari Kaise Bane 

समीक्षा अधिकारी (Review Officer) बनने का सपना देखने वाले अभ्यर्थियों के लिए हमारा यह लेख बेहद ही मदगार होने वाला है। समीक्षा अधिकारी बनने के लिए आपकों UPPSC (यू.पी.पी.एस.सी.) की परीक्षा पास करना होगी। जिसके बाद ही आप Review Officer की कुर्सी पर बैठने का सपना पूरा कर पाएंगे। समीक्षा अधिकारी के विभिन्न पदों के लिए उत्तर प्रदेश शासन द्वारा सचिवालय में नियुक्त किया जाता है। यदि आप उत्तर प्रदेश के निवासी है और सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे हैं, तो यह आपके लिए एक बेहद ही अच्छा मौका है। समीक्षा अधिकारी का पद जितना महत्वपूर्ण है, इसे हासिल कर पाना उतना ही कठिन है। घबराईय मत हम आपकों डरा नहीं रहे, लेकिन यह सच है। समीक्षा अफसर की कुर्सी पर बैठने के लिए आपकों कठिन परिश्रम कर परीक्षा को पास करना होगी। जिसके बाद ही Review Officer (RO) का ताज आपके सिर पर सुशोभित होगा। आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों  को परीक्षा से सम्बंधित कुछ महत्वपूर्ण पहलुओं को जानना जरूरी है, चलिए आपकी यह परेशानी को भी लेख के जरिए साल्व कर देते हैं। चलिए आपके प्रश्ननों का उत्तर देते हैं और जानते हैं कि, समीक्षा अधिकारी क्या होता है, RO (Review Officer) कैसे बने, वेतन, योग्यता क्या है? अपने अंगूठे को काबू में रखिएगा क्योंकि पोस्ट पढ़ते समय आपने अंगूठा उपर नीचे Scroll उप या डाउन किया तो अधूरा ज्ञान आपके लिए हानिकारक होगा। बुरा मत मानिएगा, चलिए पोस्ट को शुरू करते हैं।

samiksha-adhikari-kya-hota-hai
समीक्ष अधिकारी क्या होता है ?

Review Officer (RO) कैसे बने ?

जो अभ्यार्थी समीक्षा अधिकारी बनने के लिए जी-तोड़ मेहनत कर रहे हैं, उन्हें सबसे पहले उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यू.पी.पी.एस.सी.) द्वारा आयोजित उत्तर प्रदेश समीक्षा अधिकारी (RO)/ सहायक समीक्षा अधिकारी (ARO) परीक्षा देना होगी। जिन लोगों के किस्मत के सितारे बलुंद हुए और उन्होंने इस परीक्षा को पास कर लिया तो उन्हें  सामान्यत: सचिवालय भवन, लखनऊ एवं उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग भवन, इलाहाबाद आदि में सेवा करने का मौका यानी पदस्थापना दी जाती है।

शैक्षिक योग्यता (Qualification)

इस पद के लिए आवेदन करने वाले इच्छुक अभ्यर्थियों को किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक यानी ग्रेज्युट होना जरूरी है। स्नातक की शैक्षणिक योग्यता के बिना आप इस पद के लिए आवेदन करने का सपना भी नहीं देख सकते हैं।

आयु सीमा (Age Limit)

इस परीक्षा में शामिल होने वाले अभ्यर्थी की न्यूनतम आयु 21 वर्ष और अधिकतम आयु 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए। यदि आरक्षित वर्ग की बात करें तो अभ्यर्थियों को नियमानुसार आयु सीमा में छूट दी जाएगी। आरक्षित वर्ग से ताल्लुक रखते हैं, तो एक बार नहीं कई बार आवेदन कर सकते हैं।

चयन प्रक्रिया (Selection process)

समीक्षा अधिकारी पद के अभ्यार्थियों को केवल लिखित परीक्षा ही देनी पड़ती है। खास बात यह है कि, अन्य शासकीय पदों की भांती इसमें इंटव्यू (Interview) नहीं होता है। दूसरी ओर अभ्यार्थी को लिखित परीक्षा के दोनों चरण यानी प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा के दोनों पेपर देना जरूरी होगा।

प्रारंभिक परीक्षा (Pre Exam)

प्रारंभिक परीक्षा के में सामान्य अध्ययन में 140 बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाएंगे, हिंदी विषय के 60 बहुविकल्पीय प्रश्न हल करना होगा। इनके लिए अंक निर्धारित रहते हैं। सीधे शब्दों में कहा जाएं त परीक्षा का पूर्णांक 200 अंकों का होता है। अभ्यर्थियों को दोनों प्रश्नपत्रों को मिलाकर सामान्यत: 60 से 65 प्रतिशत अंक लाकर पास होने का परचम लहराना होता है।

विषय प्रश्न स० अंक
सामान्य अध्ययन 140 140
हिंदी 60 60

सामान्य अध्ययन की परीक्षा के लिए महत्वपूर्ण जानकारी 

सामान्य अध्ययन से सम्बंधित पाठ्यक्रम के अंतर्गत निम्न पुस्तकों  की सहायता लेकर अध्यन किया जा सकता हैं।

1.इतिहास

दोस्तों यदि आप समीक्षा अधिकारी बनना चाहते हैं तो, भारतीय इतिहास के बारें में पूरा ज्ञान हासिल करें। इसके लिए कोई विशेष पुस्तक पढ़ने की आवश्यकता नहीं है। यदि आपने कक्षा 1-12 तक की पुस्तकों का अध्ययन कर लिया तो निश्चित रूप से आप परीक्षा में पास हाे जाएंगे। भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन से सम्बंधित  प्रश्न अधिक पूछे जाते है।

2.विश्व भूगोल के लिए 

इसमें महेश बर्णवाल और घटनाचक्र पूर्वावलोकन के बारे में  पढ़ सकते हैं।

3.भारतीय अर्थव्यवस्था

भारतीय अर्थव्यवस्था से सम्बंधित जानकारी के लिए 9वीं से 12वीं तक की अर्थशास्त्र की पुस्तकों को घोटकर पी जाएं।

4.संविधान के विषय में अध्ययन करने के लिए परीक्षावाणी की भारतीय राजव्यवस्था और घटनाचक्र पूर्वावलोकन पुस्तक पढ़कर अध्यन कर सकते है।

5.कृषि के लिये घटनाचक्र की किताब ‘कृषि प्रौद्योगिकी’ और घटनाचक्र पूर्वावलोकन का अध्ययन कर सकते है।

6.भारतीय भूगोल का अध्यन किया जा सकता है।

7.साइंस के लिए एनसीईआरटी और घटनाचक्र पूर्वावलोकन और घटनाचक्र समसामयिक वार्षिकी के विज्ञान प्रौद्योगिकी के बारे में पूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकते ।

द्वितीय प्रश्न पत्र – हिंदी से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी 

हिंदी प्रश्न पत्र में 60 बहुविकल्पीय प्रश्न अभ्यर्थियों को हल करना होता है।

क्रम स० हिंदी पाठ्यक्रम प्रश्नों की स०
1. विलोम शब्द 10 प्रश्न
2. वाक्य शुद्धि एवं वर्तनी 10 प्रश्न
3. अनेक शब्दों के लिए एक शब्द 10 प्रश्न
4. तत्सम और तद्भव 10 प्रश्न
5. विशेषण और विशेष्य 10 प्रश्न
6. पर्यायवाची शब्द 10 प्रश्न
कुल प्रश्नों की संख्या 60
हिंदी प्रश्नपत्र से सम्बंधित पाठ्यक्रम 

1.इसमें आप अच्छे अध्ययन के लिए हरदेव बाहरी की पुस्तक पढ़ सकते है।

2.यूथ प्रकाशन का आर.ओ/ए.आर.ओ सामान्य हिंदी के बारे में पढ़ सकते है।

3.इस परीक्षा के लिए अभ्यर्थी एस आर पब्लिकेशन की समीक्षा अधिकारी हिंदी पुस्तक पढ़ सकते है।

मुख्य परीक्षा (mains exam)

1.प्रथम प्रश्नपत्र- सामान्य अध्ययन यह प्रश्न पत्र बहुविकल्पीय कराया जाता  है।

2.द्वितीय प्रश्नपत्र- सामान्य हिंदी एवं आलेखन यह प्रश्न पत्र वर्णनात्मक प्रकृति का कराया जाता है।

3.तृतीय प्रश्नपत्र सामान्य शब्द एवं हिंदी व्याकरण यह प्रश्न पत्र वस्तुनिष्ठ (बहुविकल्पीय) प्रकृति का होता है।

4.चतुर्थ प्रश्नपत्र- हिंदी निबंध वर्णनात्मक प्रकृति के विषय में है।

आर.ओ. मुख्य परीक्षा में कुल 400  अंक निर्धारित किये गए है 

प्रथम प्रश्नपत्र सामान्य अध्ययन में अभ्यर्थियों को कुल 120 वस्तुनिष्ठ प्रश्नों को हल करना होता है। जिसकी समय सीमा दो घंटे होती है। द्वितीय प्रश्नपत्र सामान्य हिंदी एवं आलेखन (वर्णनात्मक) के लिये अधिकतम 100 अंक होते हैं, इसके लिए आपकों ढाई घंटे का समय दिया जाता है। तृतीय प्रश्नपत्र सामान्य शब्द एवं हिंदी व्याकरण (वस्तुनिष्ठ) में अभ्यर्थियों को 30 प्रश्नों का जवाब देना होता है। 60 अंकों के इस सेट के लिए आपकों अधिकतम आधे घंटे का समय मिलेगा। चौथे प्रश्नपत्र हिंदी निबंध के लिए अधिकतम 120 अंक निर्धारित  किए गए हैं, इसके लिए अधिकतम तीन घंटे का समय मिलता है।

प्रश्न पत्र विषय प्रश्न स०                 समय अंक
प्रथम प्रश्नपत्र सामान्य अध्ययन 120 2 घंटे 120
द्वितीय  प्रश्नपत्र सामान्य हिंदी एवं आलेखन 100 2 घंटे 30 मिनट 100
तृतीय  प्रश्नपत्र सामान्य शब्द एवं हिंदी व्याकरण 30 30 मिनट 60
चतुर्थ  प्रश्नपत्र हिंदी निबंध प्रश्न पत्र के अनुसार 3 घंटे 120 अंक

वेतन (Salary)

समीक्षा अधिकारी  को   प्रतिमाह  वेतन 9,300-34,800 रुपए  दिए जाते है।

समीक्षा अधिकारी के कार्य

1.समीक्षा अधिकारी का मुख्य कार्य  रूप से अनुभाग में प्राप्त होनें वाले पत्रों को दैनिकी में अंकित करना, तथा अनुभाग के लिए निर्धारित पंजियों का रख-रखाव करना और कागज पत्रों, पत्रावलियों के संचालन को सही-सही अंकित करना रहता है।

2.स्वच्छ प्रतियां तथा विवरण पत्र तैयार करना रहता है।

3.इसके अलावा प्रतियों का मिलान करनें में अन्य सहायकों को सहायता प्रदान करना रहता है।

4.समीक्षा अधिकारी निर्गत की जानें वाली समस्त डाक को पत्रवाहक-पुस्तिका में अंकित करना तथा पत्रों को वितरित हो जाने के उपरान्त पत्रवाहक पुस्तिका की जांच  करता है।

5.यह अधिकारी अपना कर्तव्य पूरा करने के लिए निर्गमन  से पूर्व पत्रों के सभी संलग्नकों की जांच  करते है।

इसे भी पढ़े : 

KAMLESH VERMA

दैनिक भास्कर और पत्रिका जैसे राष्ट्रीय अखबार में बतौर रिपोर्टर सात वर्ष का अनुभव रखने वाले कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है. कमलेश वर्तमान में साऊदी अरब से लौटे हैं। खाड़ी देश से संबंधित मदद के लिए इनसे संपर्क किया जा सकता हैं।

Related Articles

DMCA.com Protection Status
पान का इतिहास | History of Paan महा शिवरात्रि शायरी स्टेटस | Maha Shivratri Shayari सवाल जवाब शायरी- पढ़िए सीकर की पायल ने जीता बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड सफल लोगों की अच्छी आदतें, जानें आलस क्यों आता हैं, जानिएं इसका कारण आम खाने के जबरदस्त फायदे Best Aansoo Shayari – पढ़िए शायरी