नागदा के समीप राजगढ़ में हत्या, दस लाेग गिरफ्तार

0
97
प्रतिकात्मक तस्वीर : सोर्स गूगल
Nagda News: Murder in Rajgarh near Nagda, ten people arrested । समीपस्थ ग्राम राजगढ में हुई हत्या, दस आरोपीयों के खिलाफ मामला दर्ज
नागदा । नागदा के समीपस्थ ग्राम राजगढ़ में हुई एक हत्या के मामले में नागदा मण्डी पुलिस ने 10 नामजद लोगों के विरूद्ध विभिन्न धाराओं में प्रकरण दर्ज किया है. घटना में एक व्यक्ति की हत्या हुई है तथा तीन लोग घायल हुए हैं.
मामले में पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम राजगढ़ के समीप इुई इस घटना में घात लगाकर आरोपियों ने मारपीट की जिसमें इंदरसिंह पिता देवीसिंह गुर्जर आयु 45 वर्ष निवासी राजगढ़ की गंभीर चोट आने से मौत हो गई. साथ ही तीन लोग अन्य फरियादी बच्चनसिंह पिता भैरूसिंह, शंकरलाल पिता कान्हाजी, देवीसिंह पिता मदनलाल सभी निवासी राजगढ घायल हुए है. पुलिस ने 10 आरोपियों के विरूद्ध धारा 302, 341, 323, 294, 506, 147 भादवि में प्रकरण दर्ज किया है.
घटना के संबंध में फरियादी ने बताया कि वह तथा इदरसिंह सोमवार को मंडावल बाइक से गए थे. वहां से करीव 8 बजे निकले व अपने गांव राजगढ़ आ रहे थे, कि करीब 9.30 बजे जैसे ही वह राजगढ़ देवनारायण मंदिर के पास पहुँचे वहां देवीसिंह गुर्जर, सुरेश, नाहरसिंह, उदयसिंह, धारासिंह, बाबू, रामसिंह, निर्भयसिंह, अमरसिंह सभी निवासी राजगढ़ एवं बाबू भानेज व मांगू गुर्जर भूपकाखेडी जिला रतलाम व अमरसिंह पिता मदन चौधरी एवं अन्य ग्वालखेडी थाना जावरा के लोग तलवार, फरसा, धारिया, लकड़ी चाकू लेकर खडे़ थे.
प्रतिकात्मक तस्वीर : सोर्स गूगल
जिन्होंने हमारा रास्ता रोका और हम दोनों को मां बहन की गालियां देकर बोले कि तुम लोग गांव में बहुत तेज चलते हो हम तुम्हे जान से खत्म कर देंगे इतने में धारासिंह, सुरेश, नाहरसिंह ने तलवार व लकड़ी की इंदरसिंह को मारी जिससे उसके सीर में पीछे व दोनो पैर व पेट में चोट लगीए फरियादी ने कहा कि क्यों मार रहे हो तो वह लोग बोले कि तुम लोग बहुत तेज चलते हो तो आरोपीयों ने मिलकर मारपीट की जिसके चलते फरियादी को भी दाहिने हाथ की कलाई व दाहिने पैर बाये पैर की जांघ पर चोट लगी.
आरोपियों द्वारा मारपीट करने पर चिल्लाने की आवाज सुनकर गांव का चौकीदार शंकरलाल व देवीसिंह, मदन गुर्जर आए तो इन लोगों ने उन दोने के साथ मारपीट की तो उनको भी हाथ पैर शरीर में चोट लगी है. गांव के लोग आ गये जिन्होंने घटना देखी तो ये लोग वहाँ जाते वक्त बोले कि आज तो बच गये आइन्दा से ज्यादा तेज चले तो जान से खत्म कर देंगे.
फरियादी ने बताया कि घटना की जानकारी लगते ही हमारे परिवार के लोग आये तथा निजी गाड़ी लेकर इंदरसिंह व मुझे सरकारी अस्पताल इलाज के लिए नागदा लाए शंकर व देवीसिंह भी हमारे साथ अस्पताल आये जहां चिकित्सकों द्वारा इंदरसिंह जांच की गई तथा मृत घोषिंत कर दिया. इंदरसिंह को मारपीट में सिर में आई चोटो के कारण मृत्यु हो गई तथा फरियादी व शंकर चौकीदार व देवीसिंह का उपचार चल रहा है.
इन्हें बनाया आरोपी
पुलिस ने घटना में जिन लोगों के विरूद्ध नामजद प्रकरण दर्ज किया है. उन लोगों में देवीसिंह, सुरेश, उदयसिंह, धारासिंहए बाबू, रामसिंह, अमरसिंह, बाबू भानेज, मांगू गुर्जर जिला रतलाम व अमरसिंहए मदन चौधरी अन्य शामिल हैं.
इसे भी पढ़े :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here