सहरसा मछली बाजार में पहुंची 35 किलो की कतला मछली, लोगों के होश उड़े

0
203
saharsa-the-35-kg-katla-reached-the-fish-market-became-a-matter-of-curiosity

सहरसा मछली बाजार में पहुंची 35 किलो की कतला मछली, लोगों के होश उड़े । saharsa the 35 kg  katla reached the fish market became a matter of curiosity

सहरसा मछली बाजार में उस समय लाेगों की भीड़ जमा हो गई जब एक 35 किलो वजनी कतला मछली बाजार में ब्रिकी के लिए पहुंची. घटना 20 जून 2021 की है. व्यापारियों ने मछली का दाम 400 रुपए प्रति किलो तय किया. जिसके मान से मछली की कुल कीमत 14 हजार रुपए आंकी गई.

saharsa-the-35-kg-katla-reached-the-fish-market-became-a-matter-of-curiosity

दरअसल सहरसा जिले के सिमरी बख्तियार स्थित मछली बाजार में कोसी नदी की उपधारा में 35 किली वजनी कतला (भाकुर) मछली चर्चा का विषय बनी है. मछली का वजन इतना अधिक था कि, उसे उठाने के लिए दो लोग लग रहे थे. मछुवारों ने बताया कि, कोसी नदी में मछली मारने के दौरान यह मछली धमारा घाट के समीप फनगो हाल्ट में उनके महाजाल में फंसी थी.

saharsa-the-35-kg-katla-reached-the-fish-market-became-a-matter-of-curiosity

इसके पूर्व भी मिल चुकी है दस गुना वजनी मछली

इसके पूर्व साल 2019 नवंबर में एक विशालकाय बघाय मछली दरभंगा जिले के कुशेश्वरस्थान पूर्वी क्षेत्र के उसरी पंचायत के कोनिया के मछुआरों के महाजाल में फंस चुकी है. मछुआरा जगदीश मुखिया, उदय मुखिया, जवाहर मुखिया समेत छ लोगों ने बलान व कोसी के संगम उपपधारा में थरघटिया घाट पर बोर जाल लगाकर इस मछली को पकड़ा था.

saharsa-the-35-kg-katla-reached-the-fish-market-became-a-matter-of-curiosity

सुपौल में भी मिल चुकी है भारी भरकम मछली

साल 2018 में सुपौल जिले के अंतर्गत आने वाले कोसी नदी में मछुआरे सियाराम मुखिया के जाल में बघाय मछली फंसी थी. उस समय मछली को 250 रुपए किलो के मान से बाजार में काटकर बेचा गया था.

इसी प्रकार जून 2018 में मधुबनी जिले के मधेपुरा प्रखंड क्षेत्र के नदी में बसीपट्‌टी निवासी राम नारायण द्वारा 45 किलाे वजनी कतला मछली पकड़ी गई थी. खास बात यह है कि, मछली के पेट से 12 किलो ग्राम का अंडा निकला था.

इसे भी पढ़े :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here