News

वास्तु शास्त्र के अनुसार किस दिशा में होना चाहिए घर का मुख्य द्वार

Vastu Tips For Main Door : जहां से घर के भीतर घुसा जाता है, उसे प्रवेश द्वार कहा जाता है. क्या आपकों पता है किसी भी घर में मुख्य द्वार का बहुत ही महत्व होता है. इस द्वार से घर में तो प्रवेश तो किया ही जाता है साथ में यह भी माना जाता है कि घर के मुख्य द्वार से सभी प्रकार की सकारात्मक ऊर्जा घर के अंदर प्रवेश करती है.

सनातन धर्म के ज्योतिषों का मानना है कि घर का मुख्य द्वार वास्तु के अनुसार बनवाना चाहिए ताकि घर में सुख समृद्धि बनी रही और किसी भी प्रकार की विपदा परेशानी घर में प्रवेश ना करें. लेकिन क्या आपको मालूम है कि घर का मुख्य द्वार बनवाते समय वास्तु से जुड़े कुछ नियमों का पालन करना बेहद जरूरी होता है. आइये पोस्ट के जरिए जानते हैं कि घर का मुख्य द्वार का महत्व क्यों है और इसे बनवाते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए.

वास्तु के अनुसार इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि घर के मुख्यद्वार का दरवाजा खोलते या बंद करते समय किसी तरह की आवाज नहीं आनी चाहिए अन्यथा आपको कोई अशुभ समाचार सुनने को मिल सकता है.

घर के मुख्य द्वार से संबंधित जरूरी बातें :

  • घर का मुख्यद्वार हमेशा पूरब या उत्तर दिशा में बनवाना चाहिए.
  • प्रवेशद्वार के ठीक सामने सीढ़ियां नहीं होनी चाहिए.
  • मुख्य दरवाजे से लगनी वाली सीढ़ियों की संख्या विषम होनी चाहिए.
  • घर के दरवाजे से लगने वाली सीढ़ियों की संख्या 3, 5 अथवा 7 रखें.
  • मुख्यद्वार घर के बीचों बीच नहीं होना चाहिए बल्कि यह घर के दाएं या बाएं किनारे पर होना चाहिए.
Vastu Tips For Main Door
  • प्रवेश द्वार के ठीक सामने पेड़, दीवार या खंभा हो तो उसे हटा दें. साथ ही इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि इनकी छाया मुख्यद्वार के दरवाजे पर नहीं पड़नी चाहिए.
  • घर के मुख्यद्वार की चौखट सड़क से ऊंचा होना चाहिए.
  • मुख्य दरवाजे अनुपात में चौड़ाई आधी रखें. यदि मुख्य द्वार की लंबाई 10 फ़ीट है तो दरवाजे की चौड़ाई 5 फ़ीट ही रखें.
  • घर की दिशा में ही मेन गेट होना चाहिए. कभी भी विपरीत दिशा में दरवाजे नहीं रखें। इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचरण नहीं होता है.
  • घर का मेन गेट घर के अन्य सभी कमरों के दरवाजों से ऊंचा होना चाहिए. वास्तु शास्त्र में यह शुभ होता है.
Vastu Tips For Main Door

अंदर की ओर खुलना चाहिए घर का मुख्यद्वार :

दोस्तों ध्यान रहे वास्तु के अनुसार घर के मुख्य द्वार का दरवाज इस प्रकार से बनवाना चाहिए कि वह दरवाजा बाहर की बजाय अंदर की तरफ खुले. बाहर की ओर दरवाजा खुलना हिंदू धर्म में बहुत ही अशुभ माना जाता है. यदि आपके घर के मुख्य द्वार का दरवाजा बाहर की तरफ खुलता है तो आपको आर्थिक संकट सहित कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.

इसे भी पढ़े :

Meenakshi Soni

राजस्थान की रहने वाली मिनाक्षी सोनी ने बी.टेक की पढ़ाई की है. इंजीनियर बनने के बाद मिनाक्षी ने Meenakala नाम से एक स्टार्टअप शुरू किया है. मेंहदी और स्केच आर्ट में इन्हें पारंगतता हासिल है. इनकी सबसे बड़ी खूबी इनकी सक्रियता है, जो इन्हें हमेशा शीर्ष पर रखती है.

Recent Posts

इंश्योरेंस क्लेम कैसे करते है? Insurance Claim Process In Hindi

इंश्योरेंस क्लेम कैसे करते है? Insurance Claim Process In Hindi भविष्य में आने वाले जोखिम…

4 days ago

इनश्योरेंस (Insurance) कितने प्रकार के होते हैं? Insurance Ke Prakar In Hindi

इनश्योरेंस अर्थात बीमा, वित्तीय नियोजन की एक आधारशिला जिसमें आपकों, आपके आश्रितों और आपकी संपत्ति…

4 days ago

इंश्योरेंस (Insurance) क्या होता है? Insurance kya hota h in hindi

इंश्योरेंस, बीमा, जीवन बीमा आदि शब्द हम दैनिक दिनचर्या में अमूमन सुनते ही हैं. कारण…

4 days ago

सावन 2022 कब से शुरू है और कब खत्म है ( Sawan 2022 Start Date and End Date ) ( Sawan Kab se Lagega)

सावन 2022 कब से शुरू है और कब खत्म है ( Sawan 2022 Start Date…

6 days ago

खटमल मारने का सबसे आसान तरीका | Khatmal Marne Ke Upay

खटमल मारने का सबसे आसान तरीका | Khatmal Marne Ka sabse aasan tarika | खटमल…

6 days ago

Sawan Shivratri 2022 Date | सावन शिवरात्रि 2022 में कब है !

sawan shivratri 2022 date । Sawan Shivratri 2022 Date kab hai | सावन शिवरात्रि 2022…

6 days ago