Shardiya Navratri 2020: जानें क्या है मां दुर्गा के 9 शस्त्रों का रहस्य

 Shardiya Navratri 2020: जानें क्या है मां दुर्गा के 9 शस्त्रों का रहस्य

ग्राफिक डिजाइन : कमलेश वर्मा

पौराणिक मान्यता है कि माता दुर्गा दिव्य स्त्री ऊर्जा का प्रतिनिधित्व करती हैं. दुर्गा अपने प्रिय भक्तों को हर तरह की बुराई से बचाती हैं.

shardiya-navratri-2020-these-are-9-weapons-of-maa-durga-with-whom-she-destroys-the-ashuras
ग्राफिक डिजाइन : कमलेश वर्मा

नई दिल्ली:   सनातन काल से  माता दुर्गा को शक्ति, साहस और ज्ञान के प्रतीक के रुप में पूजा जाता है. ऐसी मान्यता है कि माता दुर्गा ही ब्रह्मांड को बुराई और नकारात्मक ऊर्जा से बचाती हैं. लोक किदवंति है कि माता दुर्गा दिव्य स्त्री ऊर्जा का प्रतिनिधित्व करती हैं. माना जाता है कि देवी दुर्गा भक्तों को हर समय बुराई से बचाती हैं. मां दुर्गा के हाथों में नौ अस्त्र-शस्त्र हैं. आइए  लेख के माध्यम से हम  हैं उनके बारे में-

शेर- माता का वाहन शेर साहस , लालच, ईर्ष्या, सहमत, स्वार्थ, अहंकार आदि जैसी अनियंत्रित भौतिकवादी इच्छाओं का प्रतीक माना जाता है.

लाल साड़ी- माता दुर्गा को सोने के आभूषणों के साथ लाल साड़ी पहने देखा जाता है. लाल साड़ी जुनून के प्रतीक के रुप में देखा जाता है.

शंख- माता को शंख वरुण देव ने भेट किया था. शंख के गूंजने पर धरती, आकाश और पाताल में दैत्यों की सेना भाग खड़ी होती है.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए newsmug.in पर विस्तार से पढ़ें# धर्म की और अन्य ताजा-तरीन खबरें.

तलवार- माता को तलवार यमराज ने  भेंट की थी. माता ने असुरों की गर्दन तलवार से ही काटी थी.

चक्र- माता दुर्गा के हाथों में एक चक्र कर्तव्य और धार्मिकता का प्रतीक माना जाता है.

कमल का फूल- माता दुर्गा के हाथों में कमल का फूल भौतिकवादी दुनिया से तपस्या, पवित्रता और वैराग्य का प्रतीक माना जाता हैं.

धनुष-बाण-  पवन देव ने देवी को धनुष और बाणों से भरा तरकश प्रदान किया था.

सांप- देवी दुर्गा के हाथों में साँप विनाशकारी समय की सुंदरता और सच्चाई का प्रतिनिधित्व करता है.

त्रिशुल-  भगवान शंकर ने दैत्यों से युद्ध के लिए अपने शूल से त्रिशूल निकालकर मां दुर्गा को भेंट किया था.

इसे भी पढ़े :

KAMLESH VERMA

https://newsmug.in

Related post