News

ये 2 मुर्गे 26 दिन से जेल में क्यों बंद हैं?

तेलंगाना में पुलिस ने दो मुर्गों को हवालात में बीते 26 दिन से बंद कर रखा है. आप भी सोच रहे होंगे कि भला मुर्गों ने कौन सा कत्ल या गुनाह कर दिया? आप और भी हैरान हो जाएंगे जब आपको पता चलेगा कि 10 जनवरी से ये मुर्गे सलाखों के पीछे हैं. यानी 26 दिन से ज़्यादा होने को आए हैं. दरअसल मुर्गे तो निर्दोष हैं, जुर्म तो इनसे गुनाह करवाने वाले मालिकों का था. खास बात यह है कि,  इनके मालिक अब जमानत पर बाहर हैं और मुर्गे जेल में.

तेलंगाना के खम्म्म जिले के मिदिगोंडा पुलिस स्टेशन में ये दोनों मुर्गे बंद हैं. असल में मामला मुर्गों की लड़ाई का था. सुबूत के आधार पर इन दोनों मुर्गों को पुलिस पकड़ लाई थी. और इन्हें जेल में बंद कर रखा गया है. बानापुरम गांव में मुर्गों को लड़ाया जा रहा था. पुलिस को सूचना मिली तो पुलिस मौके पर पहुंच गई. 10 लोगों को गिरफ्तार कर लिया. इनमें वो दो लोग भी थे जिन्होंने मजमा जोड़ा था.

घटना स्थन से पुलिस ने लोगों को पकड़ा, बाइकें जब्त कीं और मुर्गे भी पकड़ लिए गए. इन मुर्गों को किसी ने अपना नहीं बताया. अपना बताते तो मानना पड़ता कि लड़ा रहे थे. लिहाजा मुर्गों को वहीं छोड़ दिया गया.

इसे भी पढ़े :  Rose Day 2021: रोज़ डे पर गर्लफ्रेंड को दें इस रंग का गुलाब, आपके रिश्ते में आ जाएगी बहार

हालांकि मामले में पुलिस कह रही है कि दोनों मुर्गे सुबूत हैं और आवश्यकता लगने पर उनको अदालत में पेश किया जाएगा. अधिकारियों ने बताया कि दोनों मुर्गों को नीलाम कर दिया जाएगा. जो ऊंची बोली लगाएगा वो मुर्गों को ले जाएगा.

तेलंगाना में लड़ाए जाते हैं मुर्गे

मालूम हो कि संक्रांति पर्व के मौके पर तीन दिनों तक मुर्गों की लड़ाई कराई जाती है. साल 2021 में भी कराई गई. मीडिया रिपोर्ट्स मानें तो 100 करोड़ से अधिक का सट्टा लगाया गया. इस लड़ाई में मुर्गों के पैर में छोटे चाकू बांध दिए जाते हैं. दोनों मुर्गों में से कोई एक मुर्गा की या तो मौत हो जाती है, या फिर रिंग से बाहर हो जाता है. जीते हुए मुर्गे के मालिक को ढेर सारेे रुपए मिल जाते हैं.

तेलंगाना में सलाखों के पीछे मुर्गे. फोटो- आजतक

Newsmug App: नागदा और देश-दुनिया की खबरें, अपडेट्स और सेहत की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NEWSMUG ऐप। आपके नागदा का  लोकल न्यूज एप।

Google News पर हमें फॉलों करें

KAMLESH VERMA

बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है. कमलेश दैनिक भास्कर और राजस्थान पत्रिका अखबार में सिटी रिपोर्टर पद पर कार्य चुके हैं.

Recent Posts

Gorakhpur Walo Ko Kabu Kaise Kare ! गोरखपुर वालों को कैसे काबू करें?

क्या आप भी गोरखपुर वालों को कैसे काबू करें? ये सवाल गूगल पर सर्च कर…

7 days ago

NEFT क्या है, कैसे काम करता है – What is NEFT in Hindi

बैंक हर इंसान का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होता है. सभी का बैंक खाता किसी ना…

7 days ago

Uttar Pradesh Election 2022 Astrology: यूपी चुनाव पर ज्योतिषियों की भविष्यवाणी, जानिए कौन बनेगा सीएम?

Uttar Pradesh Election 2022 Astrology: यूपी चुनाव पर ज्योतिषियों की भविष्यवाणी, जानिए किसकी होगी हार,…

7 days ago

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 – Up Vidhan Sabha Election 2022

UP Assembly Election 2022″यूपी विधानसभा चुनाव 2022 date”UP election 2022 Schedule”यूपी विधानसभा चुनाव 2022 का…

1 week ago

2024 Mein Pradhanmantri Kaun Banega | 2024 में भारत का प्रधानमंत्री कौन बनेगा

लोकतांत्रिक देश भारत में प्रति पांच साल में एक बार लोकसभा चुनाव होते हैं, जिसमे…

1 week ago

2022 का चुनाव कौन जीतेगा | 2022 Mein Chunav Kaun Jitega

पांच राज्यों में चुनाव की घोषणा हो चुकी है. साल 2017 के चुनाव के बाद…

1 week ago