राष्ट्रीय बालिका दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

0
362
rashtrey-balika-divas-ki-hardik-shubhakamanaen
सांकेतिक तस्वीर सोर्स गूगल

राष्ट्रीय बालिका दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं । Happy National Girl’s Day wishes in hindi 

राष्ट्रीय बालिका दिवस हर साल 24 जनवरी को मनाया जाता है. भ्रूण हत्या को रोकने के लिए और बालिका सशक्तिकरण को मजबूत बनाए जाने के उद्देश्य से इसकी शुरुआत साल 2009 में की गई थी. कारण साल 1966 में 24 जनवरी के दिन इंदिरा गांधी ने भारत की प्रथम महिला प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ली थी।

इस मौके पर आंगनबाड़ी और शैक्षणिक संस्थाओं में सांस्कृतिक और बालिका बचाओं की दिशा में जागरूकता कार्यक्रम किए जाते हैं. दोस्ताें लेख के जरिए हम आपके लाएं हैं राष्ट्रीय बालिका दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं । Happy National Girl’s Day wishes in hindi  जिसे आप अपने सगे संबंधियों और बालिकाओं को भेजकर उनके अधिकारों के प्रति जागरूक कर सकते हैं. अनुरोध है कि आप लेख को शुरु से लेकर अंत तक पढ़ेंगे.

rashtrey-balika-divas-ki-hardik-shubhakamanaen
सांकेतिक तस्वीर सोर्स गूगल

राष्ट्रीय बालिका दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

जो लड़की खुद को शिक्षित बनाएगी,
वही पूरी दुनिया को अपनी ताकत दिखाएगी

जीने का भी उसका अधिकार,
बस चाहिय उसको, आपका प्यार .

बेटी जीस घर में है आयी,
समजो खुद लक्ष्मी है आयी।

बेटी को मत समजो भार,
जीवन का है ये आधार.

बेटी को जो दे पहेचान,
वही मात-पीता है महान!

अलख जगायें बेटी बचायें,
भ्रूण हत्या का कलंक मिटाये!

Happy National Girl’s Day wishes in hindi 

राष्ट्र को प्रगति के रास्ते हो ले जाना,

नारी को बराबरी का दर्जा होगा देना ।

बहुत सरल है पेट में करना मुझ पर वार,

हिम्मत है तो ए माँ! मुझको पैदा करके मार।

बेटी तो है जग की जननी, हमें रक्षा अब इसकी करनी!!

कन्या संतान बचानी है, भ्रूण हत्या मिटानी है!!

बेटी कुदरत का है उपहार, इसको जीने का दो अधिकार!!

लक्ष्मी का वरदान है बेटी, धरती पर भगवन है बेटी!

अश्लीलता को दूर भगाओ, अपनी बेटियों को बचाओ!!

अगर बेटा शान है तोह बेटी आन है!!

छोड़ रही हर क्षेत्र में, आज बेटियां छाप,

कहने वाले क्यूं कहें, कन्या को अभिशाप।

माँ चाहे तो तू मुझे प्यार ना देना, चाहे तो दुलार ना देना,

कर सको तो इतना करना जन्म से पहले मुझे मार ना देना।

राष्ट्रीय बालिका दिवस पर सुविचार

कन्या भ्रूण का हो क्यों हनन?

इस पर थोड़ा करो मनन!

सीता, सावित्री, दुर्गा की प्रतिरूप हैं बेटियां,

लक्ष्मी, सरस्वती, राधा का रूप हैं बेटियां।

भारत का सम्मान होती हैं बेटियां,

मां-बाप का अभिमान होती हैं बेटियां।

मरने से नहीं डरती हैं भारत की बेटियां,

पीछे मुड़कर नहीं देखती हैं भारत की बेटियां।

इसे भी पढ़े :