एमपीबोर्ड 9वीं से 12वीं के विद्यार्थियों की नहीं होगी परीक्षा, माशिमं करेगा आंतरिक मूल्यांकन

 एमपीबोर्ड 9वीं से 12वीं के विद्यार्थियों की नहीं होगी परीक्षा, माशिमं करेगा आंतरिक मूल्यांकन

नागदा. कोरोना महामारी के चलते (Coronavirus Pandemic) मध्य प्रदेश बोर्ड ऑफ सेकेंड्री एजुकेशन (Board of Secondary Education Madhya Pradesh) ने कक्षा 9वीं से 12वीं के विद्यार्थियों की परीक्षा नहीं लेने का फैसला लिया है। एमपी बोर्ड के विद्यार्थियों को त्रेमासिक और अर्द्धवार्षिक परीक्षा नहीं देना होगी। कोरोना संक्रमण के चलते पिछले छ माह से विद्यार्थियों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है।

ऐसे में माध्यमिक शिक्षा मंडल ने फैसला लिया है कि विद्यार्थियों का आंतरिक मूल्याकंन कर उन्हें अगली कक्षाओं में भेजा जाएगा। बोर्ड सीबीएसई के इंटरनल असिसमेंट मार्किंग सिस्टम को फॉलो करेगा। निर्णय लिया जा चुका है। जल्द ही संबंधित स्कूलों में बोर्ड द्वारा नोटिफिकेशन भेजा जाएगा।

बोर्ड का तर्क है कि नवीन शैक्षणिक सत्र में छ माह का कोर्स पिछड़ गया है। ऐसे में आगामी छ माह के कोर्स को पूरा करा पाना संभव नहीं है। जिसके चलते विद्यार्थियों का आंतरिक मूल्याकंन किया जाएगा।

मूल्यांकन ओपन बुक मैथड के जरिए किया जाएगा। माध्यमिक शिक्षा मंडल अध्यक्ष केके सिंह ने प्रदेश के जिला शिक्षा अधिकारियों से विडियो क्रांफ्रेसिंग के जरिए आंतरिक मूल्यांकन के पहलुओं पर चर्चा की है। जिसमें सभी प्रकार के जरुरी दिशा निर्देश दिए गए हैं।

ओपन बुक मैथड क्या है !

आंतरिक मूल्यांकन किए जाने की प्रक्रिया को ओपन बुक मैथड कहा जाता है। ओपन बुक मैथड में माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा विद्यार्थियों के प्रवेश के दौरान दर्ज किए गए मोबाइल नंबर पर बोर्ड द्वारा पेपर भेजा जाएगा। जिसे तय समयसीमा के अंदर साल्व कर जमा करना होगी।

जिसे बाद में शिक्षकों द्वारा जांच कर माशिमं की साइट और विद्यार्थियों के दर्ज नंबर पर भेजा जाएगा। टीचरों द्वारा दिए गए अंक ही विद्यार्थियों का आंतरिक मूल्यांकन बताएंगे। यही अंक आगामी कक्षा में प्रवेश दिलाएंगे।

100 अंकों का होगा आंतरिक मूल्यांकन

माशिमं आगामी एक सितंबर से स्कूलों को खोलने के साथ ही ऑनलाइन एजुकेशन सिस्टम को प्रभावी कर देगा। विद्यार्थियों का आंतरिक मूल्यांकन 100 अंकों के आधार पर किया जाएगा। शैक्षणिक सत्र 6 माह का शेष है। कोर्स को पूरा करने के लिए 12 यूनिट में बांटा गया है।

जिसे 15 दिन में एक यूनिट को पूरा करवाने का शिक्षकों को लक्ष्य दिया गया है। 100 नंबर के आंतरिक मूल्यांकन पेपर में 3 अंक के 10 वस्तुनिष्ट प्रश्न,4 अंक के 10 प्रश्न शामिल किए जाएंगे। 30 अंकों के लिए माशिमं बोर्ड परीक्षा लेगा। आंतरिक मूल्यांकन के 70 अंक स्कूल प्रबंधन के हाथों में होगा।

KAMLESH VERMA

https://newsmug.in

Related post