नागदा :अंतिम संस्कार के लिए पहुंचे परिजनों को पुलिस ने रोका

 नागदा :अंतिम संस्कार के लिए पहुंचे परिजनों को पुलिस ने रोका

अंतिम संस्कार के लिए शव को लेकर पहुँचे परिजन।

  • अंतिम संस्कार के लिए पहुंचे परिजनों को पुलिस ने रोका
  • 2 घण्टे पुछताछ के बाद एसडीएम के आदेश पर हुआ अंतिम संस्कार
नागदा। इंदौर में निजी अस्पताल में उपचार दौरान एक गाड़ी चालक की हुई मौत के बाद परिजन आनन फानन में मंगलवार सुबह अंतिम संस्कार करने पहुंचे।
मुक्तिधाम पर मौजूद नपा कर्मचारियों ने शंका होने पर अंतिम संस्कार से मना कर दिया और प्रशासन को सूचना दी।
बाद में मंडी पुलिस के जवानों ने पहुंचकर आला अधिकारियों को अवगत कराया जिसके बाद अंतिम संस्कार हुआ।
चुंकि मुक्तिधाम के कर्मचारियों को शंका थी कि कई मृतक कोरोना पॉजीटिव तो नहीं है।

क्या है मामला

मुक्तिधाम पर सुबह करीब 7:30 एक चार वहिया वाहन टवेरा में सवार होकर आधा दर्जन युवक पहुंचे और युवकों ने एक शव को निकालकर सीधे अंतिम संस्कार के लिए वेदी पर ले गए।
जब मुक्तिधाम के कर्मचारी ने परिजनों को शव को हाथ लगाने को कहा तो मृतक के परिजन आना कानी करने लगे। जिससे उसको शंका हुई और उसने अंतिम संस्कार करने  से मना कर दिया।
कर्मचारी ने कहा कि जब तक प्रशासन नहीं आएगा जब तक अंतिम संस्कार नहीं होगा। इस पर मृतक के परिजनों ने मृतक की कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट भी दिखाई बाद में पटवारी अरविंद नामदेव व पुलिस जवान धर्मेन्द्रसिंह पहुंचे और एसडीएम को रिपोर्ट वाट्सअप की। जिसके बाद अंतिम संस्कार हो सका।

कौन है मृतक

मृतक का नाम सदानंद चौधरी उम्र 52 वर्ष है। मृतक बिरलाग्राम में ग्रेसिम उद्योग की श्रमिक कॉलोनी के ई ब्लॉक के क्वाटर नं 65 में निवास करता था।
मृतक को 6 अगस्त को उज्जेन के सिविल हास्पीटल माधव नगर में भर्ती किया गया था। 8 अगस्त को उसकी रिपोर्ट नेगेटिव आने पर उसे डिस्चार्ज कर इंदौर के एमटीएच अस्पताल में रैफर किया गया था।
जहां पर 9 अगस्त को उसने दम तोड दिया। बताया जा रहा है कि मृतक को निमोनिया हुआ था ।
nagda-police-stopped-the-relatives-who-arrived-for-the-last-rites
अंतिम संस्कार के लिए शव को लेकर पहुँचे परिजन।N

KAMLESH VERMA

https://newsmug.in

Related post