चार घंटे में केन्द्रीय मंत्री गेहलोत ने उपलब्ध करवाई मोटराईज्ड ट्राईसिकल

 चार घंटे में केन्द्रीय मंत्री गेहलोत ने उपलब्ध करवाई मोटराईज्ड ट्राईसिकल

दिव्यांग के साथ मौजूद केंद्रीय मंत्री गेहलोत

nagda news. केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डाॅ. थावरचन्द गेहलोत की दिव्यांगों के प्रति सहनशिलता एवं अपने कार्य के प्रति कर्मठता एक बार दोबारा शनिवार को दिखाई दी। रिंगनोद निवासी कमलेश पिता रामचन्द्र 43 वर्ष जो एक हादसे में 80 प्रतिशत दिव्यांग हो चुके थे तथा परिवार की आर्थिक स्थिति नाजुक होने के कारण कहीं भी आने-जाने में असमर्थ थे के पिता ने बैटरी चलित ट्रायसीकल प्रदान करने के लिए उनके गृह नगर नागदा पहुंच कर आवेदन किया।
nagda-news-union-minister-gehlot-provided-motorized-tricycle-in-four-hours
दिव्यांग के साथ मौजूद केंद्रीय मंत्री गेहलोत
केन्द्रीय मंत्री गेहलोत ने आवेदन पर त्वरित कार्रवाई करते हुए संस्था स्नेह संस्थापक एवं केन्द्रीय दिव्यांगजन सलाहकार बोर्ड सदस्य पंकज मारू को भारत सरकार की एडीप योजना के तहत दिव्यांग को तुरंत बैटरी चलित ट्रायसिकल उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।
पंकज मारू द्वारा उज्जैन स्थित एलीम्को की उत्पादन इकाई से एक बैटरी चलित ट्रायसिकल मंगवा कर केन्द्रीय मंत्री गेहलोतजी के हाथों से भेंट करवाई गई। गेहलोत ने स्वयं उसे चला कर उसकी गुणवत्ता को परखा और उसके पश्चात उसे प्रदान किया।
गेहलोत की इस त्वरित कार्यप्रणाली के प्रति दिव्यांग के पिता जगदीश सोनी एवं रिंगनोद प्रेस क्लब अध्यक्ष कमलेश जायसवाल ने आभार व्यक्त किया है। इस अवसर पर ओमप्रकाश गेहलोत, नन्दलाल जोशी, चन्दनसिंह शर्मा, पूनमचन्द गेहलोत, अमनदीपसिंह खालसा आदि मौजुद थे।

KAMLESH VERMA

https://newsmug.in

बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है. कमलेश दैनिक भास्कर और राजस्थान पत्रिका अखबार में सिटी रिपोर्टर पद पर कार्य चुके हैं.

Related post