रात के अंधेरे में नील गाय का शिकार, अज्ञात लोगों ने किए फायर, दो गाय की मौत

 रात के अंधेरे में नील गाय का शिकार, अज्ञात लोगों ने किए फायर, दो गाय की मौत

घटना स्थल पर मौजूद नील गाय का शव।

  • राजस्व व पशु विभाग के अधिकारी ने मौके पर पहुंचकर की कार्यवाही
  • प्रशासन मामले को रफा-दफा करने में लगा

रविंद्रसिंह रघुवंशी/नागदा

nagda news. क्षेत्र में एक बार फिर अज्ञात शिकारी द्वारा नील गाय का शिकार किया गया। गुरुवार रात को शहर के लगभग 10 किमी दूर गांव जलोिदया उन्हेल व खिमला खेड़ी के जंगल में एक चार पहिया वाहन में सवार होकर कुछ लोग आए और नील गायों के झूंड में हमला कर दिया। ग्रामीणों के मुतािबक शिकारियों ने गायों पर फायर किए, जिसस दो गाय घायल हो गई बाद में उन गाय पर चाकू से वार उसे मौत के घाट उतार दिया।

फायर की आवाज सुन ग्रामीण जंगल की ओर भागे, ग्रामीणों को आता देख शिकारी एक गाय को अपने वाहन में ले गए, जबकि दूसरी घायल नहीं ले जा पाए। शुक्रवार सुबह ग्रामीणों ने इस पूरी घटना की जानकारी सरपंच व ग्राम पंचायत सचिव को दी। दोपहर को हल्के पटवारी विनोद कुमार भिंडवानिया ने घटनास्थल पर पहुंचकर पंचनामा बनाया।

nagda-news-nilgai-hunted-in-the-dark-of-night-unknown-people-opened-fire-two-cows-died
घटना स्थल पर मौजूद नील गाय का शव।

इधर नागदा पशु विभाग के डॉ प्रदीप शर्मा ने मृत गाय का पीएम किया। गांव इतनी बड़ी घटना होने के बाद भी वन विभाग व पुलिस प्रशासन का कोई भी अधिकारी व जवान नहीं पहुंचा। गौरतलब है कि जलोदिया गांव उन्हेल क्षेत्र में आता है। इसी क्षेत्र के गांव झिरन्या में भी कुछ वर्ष एक नील गाय की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। लेकिन प्रशासन आज तक इस घटना का भी खुलासा नहीं किया और ना ही आरापियों की पहचान कि गई।

क्या है घटनाक्रम

ग्रामीणों के मुताबिक गुरुवार रात 11:30 बजे के दरमियान एक चार पहिया वाहन में सवार होकर कुछ लोग आए थे और उनके द्वारा नील गाय पर फायर किए, फायर से दो नील गाय घायल हो गई बाद में उन गाय पर धार-धार हथियार से उनका गला काटा गया। इधर फायर की आवाज सुन हम लोगों ने शोर मचाया तो वह लोग एक गाय अपने वाहन में रख कर ले गए। जबिक दूसरी गाय को मृत अवस्था में वही छोड़ गए। इसके बाद हमने इस की सूचना सरपंच व ग्राम पंचायत सचिव को दी।

प्रशासन कर रहा है मामला रफा-तफा

ग्रामीणों के अनुसार गायों पर फायर किए गए। दोपहर को जब राजस्व विभाग के पटवारी विनोद मौके पर पहुंचे तो उन्होने ने भी वहां पर पंचनामा बनाया। जिसमें लिखा गया कि उनको गाय पर हमले की सूचना मिली, मौके पर जाकर देखा तो गाय पर गोली व धार-धार हथियार के निशान थे।

लेकिन शाम को ग्राम पंचायत सचिव व गाय का पीएम करने वाले डॉक्टर का कहना था कि गाय पर किसी जानवार ने हमला किया और कोई गोली के निशान नहीं है। इधर गांव वन व पुलिस विभाग को कोई अधिकारी नहीं पहुंचा। जिससे यह प्रतित होता है कि प्रशासन इस पूरे मामले को रफा-दफा करना चाहता है।

इनका कहना

मुझे सूचना मिली थी कि गाय को मारा गया है, मैं जब मौके पर पहुंचा तो वहां पर एक गाय मृत अवस्था थी। उसके उपर गाेली व धार-धार हथियार के निशान थे।

विनोद कुमार भिंडवानिया, पटवारी

इसे भी पढ़े :

Newsmug App: देश-दुनिया की खबरें, आपके नागदा शहर का हाल, अपडेट्स और सेहत की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NEWSMUG ऐप

KAMLESH VERMA

https://newsmug.in

Related post