गेहूं के खेत में गिरी हाईटेंशन विद्युत लाइन, आग से खेत हुआ खाक

0
49
nagda-news-high-altitude-power-line-falls-in-wheat-field
Nagda News: High-altitude power line falls in wheat field

नागदा। ग्रामीण क्षेत्राें में किसानों के खेतों से उपर से गुजर रही हाईटेंशन विद्युत लाइन से एक बार फिर किसानों को परेशान होना पड़ रहा है। क्षेत्र के सैकड़ों किसान ऐसे जिनके खेत में से विद्युत कंपनी की हाइटेंशन लाइन गुजर रही है। कई बार ग्रामीण इन लाइन को हटाने के लिए विद्युत कंपनी के दफ्तर में आवेदन दे चुके हैं।

लेकिन अधिकारियों ने किसानों की इस समस्याओं को गंभीरता से नहीं लिया और हर बार आश्वसन देकर रवाना कर देते है। लेकिन यह लाइन किसानों कि मेहनत पर पानी फेर रही है। गनीमत है कि अभी तक क्षेत्र में कोई बड़ा हादसा नहीं हुआ। हालांकि इन लाइन से किसानों के खेत में आग लगना आम बात हो गई है।

ऐसाी ही घटना शहर से लगभग 10 किमी दूर गांव रोहलकला में शुक्रवार दोपहर को हुई, यहां पर एक बड़ा हादसा टल गया।  किसान विक्रमसिंह पंवार के खेत में गेहूं की कटाई का कार्य चल रहा है। किसान द्वारा हार्वेस्टर मशीन से गेहूं की कटाई कि जा रही है।

गेहूं काटते समय हार्वेस्टर मशीन खेत में उपर से गुजर रही बिजली कंपनी की हाईटेंशन विद्युत लाइन से टकरा गई, जिससे तारों के बीच स्पार्किंग हुआ और चिंगारी निकली जमीन पर गिरी, जमीन पर पड़े सूखे गेहूं ने तुरंत आग पकड़ ली। हालांकि ग्रामीणों ने आग को तुरंत बुझा दिया।

nagda-news-high-altitude-power-line-falls-in-wheat-field
Nagda News: High-altitude power line falls in wheat field

लेकिन जब दुबारा हार्वेस्टर को प्रारंभ किया तो उसके पंखे ने चिंगारी को बड़ी आग का रुप दे दिया। इस बार आग की चपेट में हार्वेस्टर मशीन आ गई। मशीन में आग लगते ही ग्रामीणाें को डर सताने लगा कि कही मशीन में ब्लास्ट नहीं हो जाए। किसानों ने आग की सूचना तुरंत मंडी थाना नागदा पर दी।

सूचना के कुछ देर बाद ही नपा की दमकल घटना स्थल पर पहुंची और ग्रामीणों की मदद से आग पर काबू पाया। लेकिन जब तक लगभग आधा बीद्या जमीन के गेहूं की फसल खाक हो गई और हार्वेस्टर मशीन जलने से लगभग 50 हजार का नुकसान हुआ।

घटना की जानकारी मिलने पर राजस्व विभाग के पटवारी सुनील मौके पर पहुंचे और पंचनामा बनाया। किसान विक्रमसिंह ने बताया कि उसे खेत में से गुजर रही विद्युत लाइन को हटाने के लिए उसने गत वर्ष ही आवेदन दिया था। लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।

इसे भी पढ़े :

लेटेस्ट नागदा न्यूज़, के लिए न्यूज मग एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।